Pages Navigation Menu

Breaking News

संघ कार्यालय पर संघी-कांग्रेसियों ने फहराया तिरंगा
पंपोर में मुठभेड़ में तीनों आतंकवादी मारे गए  
वाराणसी में केजरीवाल को दिखाए काले झंडे

वकील से सीधे सुप्रीम कोर्ट की जज बनेंगी इंदु मल्होत्रा

induऐसा शायद कोई ही क्षेत्र होगा जिस मेें महिलाओं न अपनी भागीदारी न दिखाई हो। राजनीति से लेकर न्यायालय की बात करें तो औरतों ने अपनी काबलियत से हर क्षेत्र में नाम कमाया है। आज हम जिस महिला की बात कर रहे हैं उनका नाम इंदु मल्होत्रा है। जो सुप्रीम कोर्ट में वकील से सीधे जज बनने वाली देश की पहली महिला वकील होंगी। उनके सर्वोच्च अदालत में जज बनने के प्रस्ताव को कानून मंत्रालय से मंजूरी भी मिल गई है। वह सीधे वकील से जज बनने वाली देश की पहली महिला वकील होगी और जल्द ही शपथ लेंगी। सुप्रीम कोर्ट की शुरुआत के 39 सालो में कोई महिला जज नहीं रही और साल 1989 में पहली बार फातिमा बीबी को इस कोर्ट को जज बनाया गया था।
आइए जानें उनके बारे में खास बातें

1.इनसे पहले जस्टिस एम फातिमा बीवी, जस्टिस सुजाता वी मनोहर, जस्टिस रूमा पाल, जस्टिस ज्ञान सुधा मिश्रा, जस्टिस रंजना प्रकाश देसाई और जस्टिस और भानुमति सुप्रीम कोर्ट की जज बन चुकी हैं। वर्तमान में जस्टिस आर भानुमति सुप्रीम कोर्ट की अकेली महिला जज हैं।

2. उनका जन्म बंगलौर में 1965 में हुआ। इसके बाद वह दिल्ली आ गई।
3. इंदु की शुरुआती पढ़ाई कॉर्मल कॉन्वेंट स्कूल से हुई।

4. उन्होंने दिल्ली के श्रीराम कॉलेज से पॉलीटिकल साइंस और फिर बाद में मास्टर की डिग्री हासिल की। साल 1983 से वह प्रैक्टिस में हैं और कई अहम फैसलों में जजों की पीठ में रही हैं।
5. इंदु मल्होत्रा वकील परिवार से संबंध रखती हैं। उनके पिता ओपी मल्होत्रा और बड़े भाई और बहन भी वकील हैं।
5. इंदु मल्होत्रा ने 1983 में दिल्ली बार काउंसिल में रजिस्ट्रेशन कराया था।
6. 1988 में इंदु मल्होत्रा सुप्रीम कोर्ट में एडवोकेट ऑन रिकॉर्ड चुनी गईं थी।
7. सुप्रीम कोर्ट ने 2007 में उन्हें वरिष्ठ वकील नियुक्त किया। इनसे पहले जस्टिस लीला सेठ को सुप्रीम कोर्ट ने वरिष्ठ वकील नियुक्त किया।
8. इंदु मल्होत्रा एक एनजीओ सेव लाइफ फाउंडेशन की ट्रस्टी भी हैं।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *