Pages Navigation Menu

Breaking News

31 दिसंबर तक बढ़ी ITR फाइलिंग की डेडलाइन

 

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

अफगानिस्तान की धरती का इस्तेमाल आतंकवाद के लिए ना हो; पीएम नरेंद्र मोदी

सच बात—देश की बात

पाकिस्तान में 11 शिया मुसलमानों की हत्या

shiya muslimpak deadपाकिस्तान के दक्षिण-पश्चिमी बलूचिस्तान प्रांत में बंदूकधारियों ने अपहरण करने के बाद कम से कम 11 कोयला खनिकों की रविवार को गोली मारकर हत्या कर दी। अपने काम पर जा रहे इन खनिकों का अज्ञात बंदूकधारियों ने अपहरण कर लिया और माछ इलाके में पास की पहाड़ियों पर ले जाकर उन्हें गोली मार दी। पुलिस के अनुसार इनमें से छह खनिकों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई तथा गंभीर रूप से घायल पांच अन्य की अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई। घटना के बाद पुलिस, फ्रंटियर कोर और जिला प्रशासन के अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे। बलूचिस्तान के मुख्यमंत्री जाम कमाल खान ने इस घटना की निंदा की है और संबंधित अधिकारियों से जांच रिपोर्ट मांगी है।

क्वेटा के उपायुक्त मुराद कास के अनुसार, अभी तक कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है। पाकिस्तान प्रधानमंत्री इमरान खान ने “आतंकवाद का एक और कायराना अमानवीय कार्य” करार देते हुए खननकर्ताओं की हत्या की निंदा की। उन्होंने कहा, “हत्यारों को पकड़ने और उन्हें न्याय दिलाने के लिए सभी संसाधनों का उपयोग करने को कहा है। पीड़ितों के परिवारों को सरकार द्वारा उनके हाल पर नहीं छोड़ा जाएगा।”मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक स्थानीय पुलिस ने बताया कि पहले मजदूरों की पहचान की गई। मरने वाले सभी 11 हजारा शिया समुदाय के हैं। उन्हें खननकर्मियों के ग्रुप से अलग ला जाकर एक पहाड़ी पर गोली मारी गई है। बाकी मजदूरों को कुछ नहीं कहा गया। अभी तक किसी भी ग्रुप ने इत हत्या की जिम्मेदारी नहीं ली है।

खदानों में काम करने वालों में दहशत

इस हमले से कोल माइंस में काम करने वाले वर्कर्स में दहशत है। उन्हें डर है कि आतंकियों के अगले शिकार वे हो सकते हैं। बलूचिस्तान के मुख्यमंत्री जाम कमाल ने अधिकारियों से डिटेल में जांच रिपोर्ट मांगी है। उन्होंने कहा कि अपराधियों ने बढ़ते दबाव के कारण निर्दोष मजदूरों को निशाना बनाया है। उनके साथ कोई रियायत नहीं बरती जाएगी।इस तरह के आतंकवादी हमलों के पीछे जो लाेग हैं, उन्हें सामने लाया जाएगा। उनका इकलौता मकसद बलूचिस्तान की शांति को बिगाड़ना था। राज्य के गृह मंत्री मीर जिया ने कहा कि आरोपियों की गिरफ्तारी में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी। उन्होंने कहा कि राज्य की शांति के लिए खत्म करने की लगातार नाकाम कोशिशें की जा रही हैं।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »