Pages Navigation Menu

Breaking News

नड्डा ने किया नई टीम का ऐलान,युवाओं और महिलाओं को मौका

कांग्रेस में बड़ा फेरबदल ,पद से हटाए गए गुलाम नबी

  पाकिस्तान में शिया- सुन्नी टकराव…शिया काफिर हैं लगे नारे

1990 की कारसेवा में पुलिस की गोली से गई जान…

ram bhakat per goliअयोध्या साल 1990 की कारसेवा में उत्तर प्रदेश के अयोध्या के तीन लोगों की मौत पुलिस की गोली से हुई थी। मृतक के परिजनों का कहना है कि 30 अक्टूबर और 2 नवंबर की घटना याद करते ही आज भी रोंगटे खड़े हो जाते हैं। पुलिस की गोली कारसेवकों का सीना छलनी कर रही थी। घर के मुखिया मंदिर निर्माण का सपना संजोए विदा हो गए लेकिन अब 5 अगस्त को मंदिर निर्माण की पहली ईंट पीएम नरेंद्र मोदी रखेंगे और इसी के साथ मृतक को सच्ची श्रद्धांजलि 28 वर्षों बाद मिलेगी।

रानी बाजार मोहल्ले में रहने वाले रमेश कुमार पांडे की पत्नी गायत्री देवी पांडे बताती हैं कि उस समय उनके पति की उम्र केवल 35 वर्ष थी। वह एक ईंट भट्टे पर मैनेजर का काम करते थे। वह रोज की तरह 2 नवंबर 1990 को भी रामलला का दर्शन करने गए थे। पुलिस ने रोका तो वापस घर आने लगे लेकिन घर से कुछ कदम पहले ही लाल कोठी के पास एक पुलिसकर्मी ने पीछे से गोली मार दी। इससे मौके पर ही उनकी मौत हो गई। गायत्री देवी बताती हैं कि उनके जाने के बाद से आज तक घर संभल नही पाया।

पुलिस ने पेट में मार दी थी गोली
नया घाट क्षेत्र में मिठाई की दुकान चलाने वाले वासुदेव गुप्ता की भी मौत पुलिस की गोली से हुई। उनके 25 वर्षीय पुत्र संदीप गुप्ता बताता हैं कि 30 अक्टूबर 1990 को कार्तिक एकादशी की पंचकोशी परिक्रमा थी। पिताजी परिक्रमा करने पहुंचे थे लेकिन पुलिसकर्मियों ने जाने नहीं दिया। इसके बाद वह कारसेवकों के साथ रामजन्मभूमि पर कारसेवा करने चल दिए। आधे रास्ते पंहुचे ही थे कि पुलिस ने पेट में गोली मार दी।

माता शकुंतला देवी ने दो बेटी और एक बेटे को पाला लेकिन साल 2014 में माता ने भी परिवार का साथ छोड़ दिया और लंबी बीमारी के बाद उनका स्वर्गवास हो गया। पेशे से बांस का समान बनाकर बेचने वाले कजियाना मोहल्ले के निवासी राजेन्द्र धरकार की उम्र 30 अक्टूबर को महज 16 साल थी। उनके भाई रविन्द्र कुमार धरकार बताते हैं कि जैसे ही बाबरी गुम्बद पर झंडा लेकर उनका भाई चढ़ा कि पुलिस ने गोली मार दी। वे बताते है मौत के कुछ दिन बाद ही राजेंद्र का गौना होना था।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *