Pages Navigation Menu

Breaking News

भारत ने 45 दिनों में किया 12 मिसाइलों का सफल परीक्षण

पाकिस्तान संसद ने माना, हिंदुओं का कराया जा रहा जबरन धर्मातरण

सिनेमा हॉल, मल्टीप्लैक्स, इंटरटेनमेंट पार्क 15 अक्टूबर से खोलने की इजाजत

दिल्ली में कोरोना के 24 घंटे में 427 नए केस

kejriwalराजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा है। रविवार को 24 घंटे के दौरान दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के 427 नए मामले सामने आए हैं। दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, इसके बाद यहां पर कोरोना से कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 4,549 हो गई है जबकि अब तक 64 लोगों की इस महामारी से मौत हुई है।

केजरीवाल ने कहा- दिल्ली को फिर से खोलने का वक्त आ गया

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को कहा कि दिल्ली को फिर से खोलने का वक्त आ गया है और लोगों को कोरोना वायरस के साथ रहने के लिये तैयार रहना होगा। उन्होंने लॉकडाउन 3.0 के दौरान ‘रेड जोन के लिये केंद्र द्वारा निर्धारित सभी छूट राष्ट्रीय राजधानी में देने की घोषणा की।मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि दिल्ली लॉकडाउन हटाने के लिये तैयार है। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार सार्वजनिक स्थानों पर थूकने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी। केजरीवाल ने ऑनलाइन मीडिया ब्रीफिंग को संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली सरकार केंद्र को यह सुझाव देगी कि शहर में सिर्फ निरुद्ध क्षेत्र को ‘रेड जोन घोषित किया जाए, ना कि पूरे जिले को।

दिल्ली के सभी 11 रेड जोन घोषित

वर्तमान में दिल्ली के सभी 11 जिले ‘रेड जोन घोषित किये गये हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 कहीं नहीं जा रहा और यह असंभव है कि कोरोना वायरस के मामले ”शून्य’ ‘हो जाएं। उन्होंने कहा, ”यह असंभव है कि कोरोना वायरस का एक भी मामला सामने नहीं आए…हमें कोरोना वायरस के साथ रहने के लिये तैयार होना होगा। हमें इसका अभ्यस्त होना होगा।

दिल्ली सहित देश भर में 25 मार्च से लॉकडाउन लागू है। इसका प्रथम चरण 25 मार्च से 14 अप्रैल तक था। दूसरा चरण 15 अप्रैल से तीन मई तक था। अब लॉकडाउन 3.0 सोमवार (चार मई) से 17 मई तक है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिये लागू लॉकडाउन के चलते सरकार का राजस्व और अर्थव्यवस्था बुरी तरह से प्रभावित हुई है। उन्होंने कहा कि दिल्ली लॉकडाउन हटाने के लिये तैयार है।

अभी दिल्ली में नही खुलेंगे मॉल और बाजार

केजरीवाल ने अप्रैल 2019 के आंकड़ों का उल्लेख करते हुए कहा कि सरकार ने पिछले साल अप्रैल में 3,500 करोड़ रुपया अर्जित किया था, जबकि इस साल अप्रैल में उसने सिर्फ 300 करोड़ रुपये प्राप्त किए। उन्होंने कहा, ”केंद्र ने पूरी दिल्ली को ‘रेड जोन श्रेणी के तहत रखा है, जिसके चलते बाजार और मॉल नहीं खुल सकते। हमने केंद्र को सिर्फ उन इलाकों को सील करने का सुझाव दिया है, जहां कोरोना वायरस संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं और शेष इलाकों में सभी गतिविधियों की इजाजत दी जा सकती है।उन्होंने कहा कि शात सात बजे से सुबह सात बजे तक लोगों की आवाजाही की इजाजत नहीं होगी, जैसा कि केंद्र ने सुझाव दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सोमवार से सरकारी और निजी दफ्तर खुलेंगे लेकिन उड़ानों, मेट्रो और बसों पर पाबंदी जारी रहेगी।केजरीवाल ने ऑनलाइन मीडिया ब्रीफिंग को संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली में ई-कॉमर्स पोर्टलों के जरिये जरूरी वस्तुओं की आपूर्ति जारी रहेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि जरूरी सेवाओं से जुड़े दिल्ली सरकार के कार्यालय में सभी कर्मचारियों की उपस्थिति के साथ काम करेंगे, जबकि निजी कार्यालय 33 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ काम कर सकते हैं। उन्होंने कहा, ”मॉल, सिनेमा, सैलून, मार्केट कॉम्पलेक्स और दिल्ली मेट्रो बंद रहेगी जबकि आवश्यक वस्तुएं बेचने वाली दुकानें खुलेंगी।” केजरीवाल ने कहा कि विवाह समारोह में 50 लोग जुट सकते हैं।

दिल्ली में खुलेंगे सरकारी और प्राइवेट ऑफिस, शादी, अंतिम संस्कार में सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी

दिल्ली में सोमवार से सभी सरकारी और गैर सरकारी कार्यालय खुलेंगे। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को घोषणा की कि दिल्ली में लॉकडाउन के दौरान रेड जोन में दी गई सभी राहतें लागू रहेंगी। केजरीवाल ने कहा कि तीसरे लॉकडाउन के शुरू होने के साथ ही सभी सरकारी कार्यालय खोले जाएंगे।उन्होंने कहा कि आवश्यक सेवाएं मुहैया कराने वाले सरकारी कार्यालयों में 100 फीसदी कर्मचारियों की उपस्थिति रहेगी। दूसरे सरकारी कार्यालय में सचिव और उप-सचिव के अलावा 33 फीसदी कर्मचारी आएंगे। निजी दफ्तरों को 33 फीसदी उपस्थिति के साथ खोला जा सकेगा।मुख्यमंत्री ने बताया कि मॉल, मल्टीप्लेक्स, बड़े बाजार और कांप्लेक्स बंद रहेंगे। सार्वजनिक परिवहन पर पाबंदी लागू रहेगी। शाम सात से सुबह सात के बीच लोगों को घर रहना होगा। उन्होंने कहा कि मेडिकल आपात स्थिति में लोगों को छूट मिलती रहेगी। लॉकडाउन तीन में भी जरूरी सेवाओं से जुड़े लोग, मीडियाकर्मी और हॉकरों को नहीं रोका जाएगा।

शादी और अंतिम संस्कार में सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी
मुख्यमंत्री ने कहा कि शादी और अंतिम संस्कार जैसे कार्यों में भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। शादी समारोह में अधिकतम 50 लोग और अंतिम संस्कार में अधिकतम 20 लोगों के शामिल होने की इजाजत रहेगी। दिल्ली में सार्वजनिक स्थानों पर थूकने वालों के खिलाफ भी मुख्यमंत्री ने सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।ॉ

कोरोना के साथ जीना सीखना होगा
मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि हमें कोरोना के साथ जीना सीखना होगा। कोरोना अभी जाने वाला नहीं है। हमें इससे लड़ने की जरूरत है। दिल्ली कोरोना से लड़ने के लिए तैयार है। हम केंद्र सरकार से अपील कर रहे हैं कि दिल्ली में कंटेनमेंट जोन से बाहर वाले इलाकों को ग्रीन जोन बनाया जाए ताकि दिल्ली की अर्थव्यवस्था को फिर से पटरी पर लाया जा सके।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *