Pages Navigation Menu

Breaking News

31 दिसंबर तक बढ़ी ITR फाइलिंग की डेडलाइन

 

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

अफगानिस्तान की धरती का इस्तेमाल आतंकवाद के लिए ना हो; पीएम नरेंद्र मोदी

सच बात—देश की बात

वाइट हाउस के बाहर अमेरिकी राष्ट्रपति के खिलाफ प्रदर्शन

skynews-afghanistan-taliban_5480752तालिबान ने अफगानिस्तान पर कब्जा जमा लिया है। राष्ट्रपति अशरफ गनी देश छोड़कर भाग गए हैं और हथियारबंद तालिबान लड़ाके राष्ट्रपति भवन में टहल रहे हैं। इसी बीच पूरी दुनिया में तालिबान और अफगानिस्तान की चर्चा ने जोर पकड़ लिया है। लोग इसे अमेरिका की हार भी कह रहे हैं। इसी कड़ी में अमेरिकी राष्ट्रपति भवन, वाइट हाउस के बाहर सोमवार को अफगानी नागरिक जुटे और बाइडेन प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। लोगों ने नारे लगाए कि अफगानिस्तान की स्थिति के लिए बाइडेन जिम्मेदार हैं।

दरअसल, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने ऐलान किया था कि अमेरिकी सेना अफगानिस्तान छोड़ देगी, उसी के बाद से तालिबान ने अपना मिशन तेज कर दिया था। इसके बाद बहुत तेजी से तालिबान ने अफगानिस्तान को अपने कब्जे में कर लिया है। रविवार को तालिबान ने राजधानी काबुल में प्रवेश किया। उन्होंने कहा कि वह खून-खराबा टालना चाहते हैं। तालिबान के प्रवक्ता ने कहा कि युद्ध खत्म हो गया है और अफगान लोगों को जल्द पता चलेगा कि नई सरकार कैसी होगी। रविवार को मची भगदड़ रविवार को जब तालिबान के काबुल में घुसने की सूचनाएं फैलने लगीं तो शहरभर में भगदड़ मची हुई थी।

इतना ही नहीं अमेरिका और अन्य पश्चिमी देशों के हेलीकॉप्टर अपने कर्मचारियों और नागरिकों को वहां से निकालने के लिए आसमान पर मंडरा रहे थे। काबुल के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर जाम लगा हुआ था और सैकड़ों लोग देश से निकलने के लिए उड़ानों का इंतजार कर रहे थे। इसी बीच अमेरिका के वाशिंगटन में रहने वाले अफगानी लोगों ने वाइट हाउस के बाहर विरोध प्रदर्शन किया। व्हाइट हाउस के बाहर सोमवार को अफगानी नागरिक जुटे और बाइडेन प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की।

हमारा होना किसी के लिए मायने नहीं रखता’, अफगान लड़की का वीडियो वायरल

एक अफगानी लड़की का वीडियो वायरल हो रहा है जिसने अपनी व्यथा प्रकट की है और वह कह रही है कि हम धीरे-धीरे मर जाएंगे।दरअसल, यह वीडियो ट्विटर पर वायरल हो रहा है। लड़की अफगानी भाषा में अपना दर्द बयां कर रही है। रोते हुए लड़की कह रही है कि हमारा होना किसी के लिए मायने नहीं रखता है, क्योंकि हम अफगानिस्तान में पैदा हुए हैं। मुझे आंसू पोछने होंगे, किसी को हमारी परवाह नहीं है। हम इतिहास में धीरे-धीरे खत्म हो जाएंगे। इस 45 सेकंड के वीडियो में लड़की ने वो सब कह दिया जो इस समय अफगानिस्तान के लोग महसूस कर रहे हैं। इस वीडियो को कई लोगों ने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर रहे हैं।

अफगानिस्तान के तमाम वीडियोज वायरल हो रहे हैं जिनको देखकर हर कोई डर से कांप रहा है। कई वीडियो ऐसे भी आए हैं, जिसमें लोग बमुश्किल विमानों में धक्कामुक्की कर घुसते दिखे हैं। काबुल एयरपोर्ट से उड़ान भरने वाले एक विमान में जब जगह नहीं मिली तो तीन लोग टायर पकड़कर ही लटक गए। लेकिन उनकी अफगानिस्तान छोड़ने के सपने की उड़ान उनके गिरने के साथ ही धराशायी हो गई।

इसी बीच पूरी दुनिया में तालिबान और अफगानिस्तान की चर्चा ने जोर पकड़ लिया है। लोग इसे अमेरिका की हार भी कह रहे हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने ऐलान किया था कि अमेरिकी सेना अफगानिस्तान छोड़ देगी, उसी के बाद से तालिबान ने अपना मिशन तेज कर दिया था। इसके बाद बहुत तेजी से तालिबान ने अफगानिस्तान को अपने कब्जे में कर लिया है। बीस साल की लंबी लड़ाई के बाद अमेरिकी सेना के अफगानिस्तान से निकलने के कुछ ही दिनों के भीतर लगभग पूरे देश पर फिर से तालिबान का कब्जा हो गया है।दूसरी ओर ऐसे कई देश हैं जिनकी प्रतिक्रिया चौंकाने वाली रही. पाकिस्तान, चीन और ईरान ने तालिबान के इस आतंक का स्वागत किया है। एक तरफ चीन ने उम्मीद जताई है कि तालिबान का शासन स्थायी होगा तो वहीं ईरान का कहना है कि अमेरिका की हार से स्थायी शांति की उम्मीद जगी है। फिलहाल अफगानिस्तान में तालिबान का राज आने के बाद अमेरिका, ब्रिटेन, साउथ कोरिया, ऑस्ट्रेलिया समेत कई देशों ने अपने दूतावासों को ही बंद कर दिया है और राजनयिकों को वापस निकाल रहे हैं।

 

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »