Pages Navigation Menu

Breaking News

संघ कार्यालय पर संघी-कांग्रेसियों ने फहराया तिरंगा
पंपोर में मुठभेड़ में तीनों आतंकवादी मारे गए  
वाराणसी में केजरीवाल को दिखाए काले झंडे

जीते के भी हारे अमित शाह

gujrat amitनई दिल्ली: दिनभर की गहमागहमी के बाद गुजरात राज्यसभा चुनाव के नतीजे मंगलवार की देर रात अहमद पटेल गुजरात से राज्यसभा का चुनाव जीत गए हैं.  कांग्रेस के अहमद पटेल ने बीजेपी की रणनीति को ध्वस्त करते हुए बाजी मार ली. न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत में रिटर्निंग ऑफिसर ने कहा, ‘कांग्रेस के अहमद पटेल को 44 वोट मिले. वही बीजेपी के अमित शाह को 46 और स्मृति ईरानी को भी 46 वोट मिले.’ उन्होंने कहा कि बलवंत सिंह राजपूत को 38 वोट मिले. आयोग के आदेश पर वोटों की गिनती शुरू गई. इससे पहले कांग्रेस का प्रतिनिधि मंडल वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम के नेतृत्व में आयोग से मिला था. उधर, बीजेपी के प्रतिनिधिमंडल ने वित्त मंत्री अरुण जेटली, रविशंकर प्रसाद और पीयूष गोयल के नेतृत्व में चुनाव आयोग से मुलाकात करके जल्द मतगणना की मांग की थी.कांग्रेस की ओर वरिष्ठ कांग्रेसी नेता पी चिदंबरम के नेतृत्व में चुनाव आयोग से मिला था. बाद में मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा था, “हमने चुनाव आयोग से पुराने संदर्भ देते हुए कहा है कि इसी तरह का मामला पहले ही हो चुका है.

बैलेट पेपर अधिकृत व्यक्ति के अलावा किसी और व्यक्ति द्वारा देखे जाने पर उन्हें रद्द कर दिया गया था. हमने आयोग से इसी आधार पर कहा है कि गुजरात में यही नियम लागू होना चाहिए. हमने यह भी कहा है कि पीठासीन अधिकारी ने नियमों का उल्लंघन किया है. हमने तत्काल आपत्ति जताई थी लेकिन पीठासीन अधिकारी ने हमारी खारिज कर दी. हमने इन दो वोटों को रिजेक्ट करने की मांग की है.”यह सीट अमित शाह और अहमद पटेल के लिए नाक का सवाल बन गई थी। दोनों को ही अपनी-अपनी पार्टी का ‘चाणक्य’ कहा जाता है। लेकिन अंत में बीजेपी दो सीट जीतकर भी खुश नहीं थी और चुनाव आयोग के फैसले के खिलाफ कोर्ट जाने की बात कह रही थी।

कांग्रेस नेता अहमद पटेल की जीत भले छोटे अंतराल से हुई हो लेकिन इस जीत ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के करीबी अमित शाह की रणनीति को उनके घर में ही मात दे दी है। गुजरात को कांग्रेस मुक्त बनाने का शाह का सपना भी टूट गया। अहमद पटेल की जीत ने कांग्रेस को राष्ट्रीय स्तर पर नई शक्ति प्रदान की है। अहमद पटेल की यह जीत इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि भाजपा के रणनीतिकारों ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार को हराने के लिए चौ तरफा बिसात बिछाई थी। अमित शाह खुद डेरा डाले रहे है।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *