Pages Navigation Menu

Breaking News

31 दिसंबर तक बढ़ी ITR फाइलिंग की डेडलाइन

 

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

अफगानिस्तान की धरती का इस्तेमाल आतंकवाद के लिए ना हो; पीएम नरेंद्र मोदी

सच बात—देश की बात

यूपी के अलीगढ़ जिले में मुस्लिमों से परेशान हिन्दू बेच रहे हैं मकान ,पलायन को मजबूर

ALIGARH-Hindu_Migrationअलीगढ़ः  देश की राजधानी दिल्ली से करीब 160 किलोमीटर दूर यूपी के अलीगढ़ जिले में हिंदूओं के  पलायन की खबर सामने आ रही है. इस जिले के नूरपुर गांव में 100 से ज्यादा हिंदू परिवारों के घरों में पलायन का दर्द छिपा है. आरोप है कि विशेष समुदाय के लोगों के अत्याचार से परेशान  हिंदू परिवारों ने अपने घरों के बाहर दरवाजों और दीवारों पर मकान बिकाऊ का पोस्टर लगा दिया है. जाटव समाज की तहरीर पर आरोपी पक्ष के 11 लोगों के खिलाफ एससी/एसटी ऐक्ट, मारपीट का मुकदमा दर्ज कर लिया है। खैर सीओ शिवप्रताप ने बताया कि उन्होंने एसडीएम के साथ गांव का दौरा किया है। गांव में अब इस प्रकार की कोई बात नहीं है। 26 तारीख की घटना के बारे में केस दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।

  • अलीगढ़ के नूरपुर गांव में जाटव समाज के लोग पलायन को मजबूर
  • जाटवों का आरोप, दूसरे समाज ने नहीं होने दी घुड़चढ़ी
  • 2006 से लगातार जाटवों को परेशान करने का आरोप

आतंक से परेशान
दरअसल, अलीगढ़ के टप्पल थाना क्षेत्र के नूरपुर गांव में मुस्लिमों के अत्याचार से हिंदू परिवार पलायन को मजबूर हैं. आरोप है कि नूरपुर गांव में लगातार 4 हिन्दू लड़कियों की बारात को रोके जाने और उनके साथ मारपीट करने से परेशान गांव के हिंदू परिवारों ने पलायन का मन बना लिया है.नूरपुर गांव में ग्राउंड पर जाकर पलायन की हकीकत जानने की कोशिश की तो पीड़ित परिवारों ने जो कैमरे पर दर्द बयां किया. उन्होंने बताया कि किस तरह उनके साथ अत्याचार किया जाता है जिसके चलते उनका जीना दुश्वार हो गया है.थाना टप्पल अंतर्गत गांव नूरपुर में करीब एक हजार की आबादी है। यहां के ओमवीर ने अपनी दो बेटियों का रिश्ता गुरुग्राम में तय किया था। शादी से दो दिन पहले पता चला कि एक लड़के ने कोर्ट मैरिज कर ली है। इसे लेकर लड़का-लड़की पक्ष में विवाद हो गया और शादी टूट गई। इसके बाद ओमवीर ने वहां से रिश्ता तोड़कर हरियाणा के गांव दीघोट में शादी तय कर दी।

पुलिस ने हटाए पोस्टर
नूरपुर गांव से हिंदुओं के पलायन की खबर जैसे ही आग की तरह फैली. सरकार से लेकर प्रशासन फौरन एक्शन में आ गई. वहीं, पुलिस ने अपनी नाकामी छिपाने के लिए घरों के बाहर मकान बिकाऊ को पेंट से ढक दिया. इस मामले में पुलिस ने 11 आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और लगातार दबिश दे रही है.
हिंदू पक्ष का आरोप है कि नूरपुर गांव में लगातार 4 हिन्दू लड़कियों की बारात को मुस्लिमों ने रोका है और उनके साथ मारपीट की. बताते हैं कि इस मामले में हिंदूओं की ओर से तहरीर देने के बावजूद पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की.

सांसद ने भी दिया बयान
अलीगढ़ में हिंदुओं के पलायन मामले में अलीगढ़ से बीजेपी सांसद सतीश गौतम ने कहा है कि योगी सरकार में एक भी हिंदू परिवार का पलायन नहीं होगा. साथ ही सभी उपद्रवियों के खिलाफ पुलिस ने FIR दर्ज कर ली गई है. बता दें कि अलीगढ़ के नूरपुर गांव में ठीक वैसा ही मंज़र देखने को मिल रहा है, जैसा कि आज से 5 साल पहले साल 2016 में कैराना में देखने को मिला था.

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »