Pages Navigation Menu

Breaking News

कोरोना से ऐसे बचे;  मास्क लगाएं, हाथ धोएं , सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और कोरोना वैक्सीन लगवाएं

 

बंगाल हिंसा: पीड़ित परिवारों से मिले राज्यपाल धनखड़, लोगों के छलके आंसू

हमास के सैकड़ों आतंकवादियों को इजराइल ने मार गिराया

सच बात—देश की बात

मोदी ने स्वदेशी अर्जुन टैंक सेना को सौंपा

Arjun-Mark-1Aचेन्नई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वदेश निर्मित अर्जुन मुख्य युद्धक टैंक (एमके-1ए) यहां रविवार को सेना को सौंपा। यहां आयोजित एक समारोह में उन्होंने इस अत्याधुनिक टैंक की सलामी भी स्वीकार की। रक्षा अनुसंधान विकास संगठन (डीआरडीओ) के यहां स्थित युद्धक वाहन अनुसंधान एवं विकास प्रतिष्ठान द्वारा निर्मित इस अत्याधुनिक टैंक का डिजाइन देश में ही तैयार और विकसित किया गया है। इसके बाद नरेंद्र मोदी ने तमिलनाडु और केरल में विभिन्न परियोजनाओं का शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री ईके पलानीसामी ने चेन्नई में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत किया। इसके बाद प्रधानमंत्री ने चेन्नई में मेट्रो रेल फेज़-1 एक्सटेंशन का उद्घाटन किया और वाशरमेनपेट से विम्को नगर तक यात्री सेवा को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। प्रधानमंत्री ने चेन्नई में 293.40 करोड़ रुपये की लागत से तैयार ‘चेन्नई बीच और अट्टिपट्टु’ के बीच चौथी रेलवे लाइन का भी उद्घाटन किया।

मोदी ने ग्रैंड एनीकट नहर प्रणाली के विस्तार, नवीनीकरण और आधुनिकीकरण की आधारशिला रखी।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आईआईटी मद्रास के डिस्कवरी कैंपस की आधारशिला रखी। इस मौके पर प्रधानमंत्री ने कहा कि इस साल का बजट सुधारों के प्रति सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि विश्व बड़े उत्साह और सकारात्मकता के साथ भारत की ओर से देख रहा है। भारत की 130 करोड़ जनता के कठिन परिश्रम की बदौलत यह दशक भारत का होने वाला है। उन्होंने जल संरक्षण के महत्व को उजागर करते हुए कहा कि यह सिर्फ राष्ट्रीय मुद्दा नहीं है बल्कि वैश्विक मुद्दा है। उन्होंने कहा, ‘‘बूंद-बूंद के साथ ज्यादा फसल।’’

मोदी ने श्रीलंकाई तमिलों के लिए भारत का समर्थन दोहराया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार ने कहा कि उनकी सरकार ने श्रीलंकाई तमिलों के कल्याण का हमेशा ध्यान रखा है और उनके अधिकारों के मुद्दे को लगातार द्वीपीय देश के नेताओं के साथ उठाया है। मोदी ने रेलवे और रक्षा क्षेत्रों में विभिन्न सरकारी परियोजनाओं की शुरुआत करने के बाद कहा कि भारत हमेशा यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध रहा है कि वहां तमिल समानता, न्याय, शांति और सम्मान के साथ जीवन यापन करें। मोदी ने आवास और स्वास्थ्य क्षेत्रों में केंद्र द्वारा उठाए गए विभिन्न कल्याणकारी प्रयासों को याद किया, जिनका उद्देश्य श्रीलंकाई तमिलों को लाभ पहुंचाना था और कहा कि वह उत्तरी श्रीलंका में जाफना (2015 में) का दौरा करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री थे। उन्होंने कहा, ‘‘हमारी सरकार ने श्रीलंका में तमिल भाइयों और बहनों के कल्याण और आकांक्षाओं का हमेशा ध्यान रखा है। मेरे लिए यह सम्मान की बात है कि मैं जाफना का दौरा करने वाला एकमात्र भारतीय प्रधानमंत्री हूं। विकास कार्य के माध्यम से, हम तमिल समुदाय का कल्याण सुनिश्चित कर रहे हैं।’’

उन्होंने कहा कि भारत ने उत्तर पूर्वी श्रीलंका में विस्थापित तमिलों के लिए 50,000 घरों का निर्माण किया है और बागान क्षेत्रों में और 4,000 मकानों का निर्माण किया है। हम जाफना संस्कृति केंद्र ‘‘जल्द खोलने की उम्मीद करते हैं।’’ मोदी ने कहा, ‘‘तमिल अधिकारों का मुद्दा भी श्रीलंका के नेताओं के साथ लगातार उठाया गया है। हम हमेशा यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध रहे हैं कि वे (तमिल) समानता, न्याय, शांति और गरिमा के साथ रहें।’’ श्रीलंकाई तमिलों का मुद्दा तमिलनाडु में हमेशा से एक भावनात्मक मुद्दा रहा है और यह यहां की राजनीति पर अक्सर हावी रहा है। मोदी ने जाफना और मन्नार के लिए रेलवे परियोजनाओं में भारत के प्रयासों, चेन्नई से जाफना के लिए हवाई संपर्क और स्वास्थ्य क्षेत्र में पहलों का भी उल्लेख किया।

 केरल में PM मोदी

 मोदी ने कोच्चि में विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन करने के बाद कहा कि जो कार्य आज शुरू किए जा रहे हैं, वे विभिध प्रकार के क्षेत्रों के हैं और इनसे भारत की आर्थिक वृद्धि को बल मिलेगा। मोदी ने कहा कि कोच्चि में बीपीसीएल परिसर चालू होने से विदेशी मुद्रा की बचत होगी, तमाम प्रकार के उद्योगों को फायदा होगा और रोजगार के नए अवसर उत्पन्न होंगे। कोच्चि में एक समारोह में मोदी ने कहा कि भारत ने पर्यटन क्षेत्र में पिछले पांच वर्ष में अच्छी वृद्धि की है। विश्व पर्यटन सूचकांक में देश 65वें से 34वें स्थान पर पहुंच गया है।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »