Pages Navigation Menu

Breaking News

 अपने CM को शुक्रिया कहना कि मैं जिंदा लौट पाया; प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

 

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

देश में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर

सच बात—देश की बात

जूना अखाड़े की तरफ से हरिद्वार कुंभ का विधिवत समापन

khumbहरिद्वार देश में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच हरिद्वार कुंभ को लेकर प्रधानमंत्री की अपील का असर हो गया है। पीएम नरेंद्र मोदी के बातचीत के बाद शनिवार शाम आर्चाय महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरि ने जूना अखाड़ा की तरफ से कुंभ के विधिवत समापन की घोषणा कर दी। अवधेशानंद गिरि ने ट्वीट कर कहा कि भारत की जनता और उसकी जीवन रक्षा हमारी पहली प्राथमिकता है। कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए हमने विधिवत कुंभ के आवाहित सभी देवताओं का विसर्जन कर दिया है। जूना अखाड़ा की ओर से यह कुंभ का विधिवत विसर्जन-समापन है।इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार सुबह फोन पर आर्चाय महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरि से बातचीत कर संतों का हालचाल जाना। पीएम ने खुद ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी। पीएम मोदी ने कहा, आचार्य महामंडलेश्वर पूज्य स्वामी अवधेशानंद गिरि जी से आज फोन पर बात की। सभी संतों के स्वास्थ्य का हाल जाना। सभी संतगण प्रशासन को हर प्रकार का सहयोग कर रहे हैं। मैंने इसके लिए संत जगत का आभार व्यक्त किया।

juna akharaदो अखाड़े कर चुके हैं कुंभ मेला समाप्ति का ऐलान
कुल 13 अखाड़ों में से निरंजनी अखाड़ा और आनंद अखाड़ा कुंभ मेला समाप्ति का ऐलान कर चुके हैं। दोनों ने 17 अप्रैल को कुंभ मेला खत्म होने का ऐलान किया है। दूसरी तरफ खबर है कि बीजेपी नेता बाकि अखाड़ों के प्रतिनिधियों से बात कर उन्हें समझाने की कोशिश कर रहे हैं कि वह खुद ही शाही स्नान स्थगित कर कुंभ समाप्ति की घोषणा कर दें या फिर स्नान के लिए जब उनके अखाड़े आएं भी तो साधु कुछ ही संख्या में आएं।

पीएम ने अब कुंभ को प्रतीकात्मक रखने को कहा
इससे पहले पीएम ने ट्वीट कर कहा था कि मैंने प्रार्थना की है कि दो शाही स्नान हो चुके हैं और अब कुंभ को कोरोना के संकट के चलते प्रतीकात्मक ही रखा जाए। इससे इस संकट से लड़ाई को एक ताकत मिलेगी। पीएम की तरफ से बातचीत के बाद आर्चाय महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरि जी ने ट्वीट कर कुंभ मेले में आने वाले लोगों से कोरोना नियमों का पालन करने का आग्रह किया।

कई साधु संत आ चुके हैं चपेट में
हरिद्वार के अलग-अलग अखाडों के कई साधु-संत भी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं जिनमें अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष और निरंजनी अखाडे के महंत नरेंद्र गिरि भी शामिल हैं। मध्य प्रदेश से आए निर्वाणी अखाड़े के महामंडलेश्वर कपिल देव की कोरोना की वजह से 13 अप्रैल को मौत हो चुकी है। 5 अप्रैल से लेकर 14 अप्रैल तक कुंभ मेला क्षेत्र में 68 साधु-संत कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »