Pages Navigation Menu

Breaking News

नड्डा ने किया नई टीम का ऐलान,युवाओं और महिलाओं को मौका

कांग्रेस में बड़ा फेरबदल ,पद से हटाए गए गुलाम नबी

  पाकिस्तान में शिया- सुन्नी टकराव…शिया काफिर हैं लगे नारे

राम मंदिर निर्माण; इकबाल अंसारी को मिला पहला न्योता

IqbalAnsari ayodhyaअयोध्या: पांच अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर निर्माण शुरू होने से पहले होने वाले भूमि पूजन समारोह  के लिए सबसे पहला न्योता बहुत ही खास व्यक्ति को भेजा गया है. अयोध्या भूमि विवाद में बाबरी मस्जिद के पक्षकारों में से एक रहे इक़बाल अंसारी  को समारोह में शामिल होने के लिए पहला निमंत्रण पत्र भेजा गया है. इसपर अंसारी का कहना है कि ‘यह भगवान राम की इच्छा थी.’इक़बाल अंसारी ने  कहा, ‘मेरा मानना है कि यह भगवान राम की इच्छा थी कि मुझे पहला निमंत्रण मिले. मैं इसे स्वीकार करता हूं. अयोध्या में हिंदू और मुस्लिम पारस्परिक सौहार्द में रहते हैं. मंदिर की जमीन की पूजा हो रही है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समारोह में आ रहे हैं.’

अंसारी ने कहा, ‘जब मंदिर बन जाएगा, अयोध्या के भाग्य बदल जाएंगे. अयोध्या और सुंदर हो जाएगी और स्थानीय लोगों को रोजगार मिलेगा, क्योंकि भविष्य में इस मंदिर को तीर्थ की तरह लोग देखने आएंगे.’ उन्होंने यह भी कहा कि अयोध्या के लोग गंगा-जमुनी तहजीब के साथ रहते हैं और लोगों के बीच कोई दुर्भावना नहीं है. अंसारी ने कहा, ‘दुनिया उम्मीद पर कायम है. मैंने पहले भी कहा था कि अगर कोई भी धार्मिक कार्यक्रम होता है और वो मुझे बुलाते हैं तो मैं जरूर जाऊंगा. अयोध्या में हर धर्म-पंथ के देवी-देवता हैं. यह संतों की भूमि है और हम खुश हैं कि राम मंदिर बन रहा है.’बता दें कि जानकारी है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पांच अगस्त को राम जन्मभूमि स्थल पर होने वाले भूमि पूजन समारोह में शिलान्यास करने जाएंगे. यहां पीएम की ओर से नींव की ईंट रखे जाने के बाद से राम मंदिर का निर्माण शुरू हो जाएगा. जानकारी है कि इस समारोह में कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों, कई कैबिनेट मंत्रियों और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत हिस्सा लेंगे.

पांच अगस्त को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से अयोध्या में रामलला के मंदिर निर्माण के लिए आयोजित भूमि पूजन समारोह के दो खास मेहमान भी होंगे। राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने अयोध्या विवाद में बाबरी मस्जिद के मुद्दई रहे इकबाल अंसारी और पद्मश्री मो. शरीफ को समारोह में शामिल होने के लिए आमंत्रण पत्र भेजा है। ट्रस्ट की ओर से दूत के रूप में विश्व हिन्दू परिषद के केन्द्रीय मंत्री राजेन्द्र सिंह पंकज और प्रदेश प्रवक्ता शरद शर्मा सोमवार को बाबरी मस्जिद के पूर्व मुद्दई इकबाल अंसारी के कजियाना स्थित आवास पर पहुंचे। विहिप नेताओं ने ट्रस्ट की ओर से रामलला के भूमि पूजन समारोह में शामिल होने के लिए आमंत्रण पत्र अंसारी को सौंपा। आमंत्रण पत्र मिलने के बाद बेहद खुश नजर आ रहे इकबाल अंसारी ने कहा कि भूमि पूजन समारोह में वह जरूर जाएंगे। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में आमंत्रण मेरे लिए सम्मान की बात है। उन्होंने कहा कि रामलला के भूमि पूजन समारोह में शामिल होने के दौरान वह प्रधानमंत्री से भेंट भी करना चाहते हैं। साथ ही उनकी ख्वाहिश है कि वह प्रधानमंत्री को रामनामी चादर और राम चरित मानस भेंट करें। अंसारी ने कहा कि यह पूरे देश के लिए खुशी की बात है कि मंदिर-मस्जिद विवाद का हल हो गया और अयोध्या में रामलला का मंदिर बनने जा रहा है।

इसी कड़ी में ट्रस्ट के महासचिव चम्पत राय ने बताया कि पद्मश्री समाजसेवी मो. शरीफ को भी भूमि पूजन समारोह में शामिल होने के लिए निमंत्रण पत्र भेजा गया है। उन्होंने कहा कि मो. शरीफ बिना धर्म का भेदभाव किए लावारिस लाशों का कई वर्षों से सम्बन्धित धर्म की परम्परा के अनुसार अंतिम संस्कार कराते चले आ रहे हैं। अब तक 10 हजार लाशों का अंतिम संस्कार सम्पन्न करा चुके हैं। इसी साल गणतंत्र दिवस के मौके पर उन्हें पद्मश्री से विभूषित किया गया। दूसरी तरफ पद्मश्री मो. शरीफ ने कहा कि वह पहले से राम मंदिर निर्माण के लिए होने वाले भूमि पूजन में शामिल होना चाहते थे। उनकी इच्छा प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात करने की भी है। मो. शरीफ ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने उन्हें पद्मश्री के लिए चयनित कर बहुत बड़ा सम्मान दिया है।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *