Pages Navigation Menu

Breaking News

अयोध्या विकास प्राधिकरण की बैठक में सर्वसम्मति से राम मंदिर का नक्शा पास

मानसून सत्र 14 सितंबर से 1 अक्टूबर तक चलेगा, दोनों सदन अलग-अलग समय पर चलेंगे

  7 सितंबर से चरणबद्ध तरीके से मेट्रो सेवाएं होंगी शुरू, 12 सितंबर तक सभी मेट्रो लगेंगीं चलने 

जय श्री राम -चांदी के सिक्के, सवा लाख लड्डू …

ladoo.1.701154रामनगरी अयोध्या में कल यानी बुधवार को होने वाले राम मंदिर के लिए भूमि पूजन के लिए तैयारियां अपने अंतिम चरण में है। भूमि पूजन के इस भव्य समारोह के लिए अयोध्या नगरी पूरी तरह से सजकर तैयार हो चुकी है और भूमि पूजन में शामिल होने के लिए मेहमानों के आने का सिलसिला शुरू हो चुका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल इस समारोह के मुख्य मेहमान हैं। हालांकि, इनके अलावा साधू-संत समेत अलग-अलग क्षेत्र के 175 मेहमान होंगे, जो इस ऐतिहासिक कार्यक्रम के साक्षी बनेंगे। मुख्य पूजन 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी निर्धारित शुभ मुहूर्त में करेंगे। यह मुहूर्त 32 सेंकेड का है, जो मध्याहन 12 बजकर 44 मिनट आठ सेकेंड से लेकर 12 बजकर 44 मिनट 40 सेकेंड के बीच है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को अयोध्या में करीब ढाई घंटे तक रहेंगे। भूमि पूजन से पहले वह ayodhya-5-jpg_1200x630xtहनुमानगढ़ी जाएंगे और फिर वह मंदिर स्थल का दौरा करेंगे और फिर विशेष डाक टिकट जारी करेंगे। उम्मीद की जा रही है कि पूजा के दौरान पीएम मोदी देशवासियों को संबोधित भी करेंगे। भूमि पूजन समारोह में भाग लेने वाले संतों को चांदी के सिक्के दिए जाएंगे, जो श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट को कामिकोच्चि के शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती द्वारा भूमिपूजन के लिए भेजे गए हैं। इसके अलावा, मंदिर के निर्माण में सोने और चांदी के दो ईंटों का भी प्रयोग किया जाएगा, जो तमिलनाडु से लाई गई हैं। भूमि पूजन समारोह से पहले सोमवार को 21 पुजारियों ने राम जन्मभूमि स्थल पर और हनुमान गढ़ी मंदिर में तीन दिवसीय वैदिक अनुष्ठान शुरू किया। इस दौरान अयोध्या नगरी में पूजा पाठ के दौरान चारों ओर वातावरण में श्री राम के उद्गोष सुनाई देते रहे।राम मंदिर भूमि पूजन कार्यक्रम को देखते हुए सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था की गई है। मंदिर स्थल और पूरे अयोध्या में भारी सुरक्षा व्यवस्था है। एनएसजी कमांडो सहित लगभग 4000 सुरक्षाकर्मी मंदिर स्थल के पास तैनात हैं और 75 चेक पोस्ट बनाए गए हैं।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *