Pages Navigation Menu

Breaking News

लव जेहाद: उत्तर प्रदेश में 10 साल की सजा का प्रावधान

पाकिस्तान संसद ने माना, हिंदुओं का कराया जा रहा जबरन धर्मातरण

जम्‍मू-कश्‍मीर में 25 हजार करोड़ का भूमि घोटाला

राम मंदिर के लिए सोने, चांदी की ईंटें न दान करें ; राम मंदिर ट्रस्‍ट

briksअयोध्या राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र अब चांदी सोने की ईंटें आदि का दान स्वीकार नहीं करेगा। ट्रस्ट के महासचिव चंपतराय ने सभी दानदाताओं से अपील की है कि वे सोने, चांदी व अन्य धातुओं की ईंटें दान के लिए लेकर न आएं। इसकी जगह कैश ट्रस्ट के खाते में जमा करें। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 अगस्त को राम मंदिर का भूमि पूजन करने अयोध्‍या आ रहे हैं।उन्होंने कहा कि जनवरी में लोगों ने चांदी की ईंटें दान की तो इसे सामान्य दान माना गया। लेकिन अब सूचना मिली है कई दानकर्ता चांदी व सोने की सामग्री दान के लिए ला रहे हैं जिसका मूल्यांकन करना ट्रस्ट के लिए मुश्किल है।इसके अलावा, इनको रखने के लिए बैंक में लॉकर नहीं हैं। उन्होंने सभी दान दाताओं से अपील की है कि वे दान को ऑनलाइन अथवा कैश में ट्रस्ट के खाते में जमा करें। चंपत राय ने बताया कि अब तक लगभग 1 क्विंटल से ज्यादा चांदी व अन्य धातुओं की ईंट राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को दान की गई हैं।

ईंटों की बजाय कैश दान करें श्रद्धालु महामंत्री चंपत राय का कहना है कि देश भर से काफी संख्या में दानदाता चांदी की ईंटों को राम मंदिर निर्माण के लिए दान दे रहे हैं. जिसकी वजह से राम मंदिर ट्रस्ट एक बड़ी दुविधा में फंस गया है. देशभर से दानदाता चांदी की सिल्ली राम मंदिर ट्रस्ट को दान दे रहे हैं. इस वजह से बैंक के सामने समस्या खड़ी हो गई है. बैंक के पास इतना बड़ा लॉकर नहीं है, जिसमें चांदी की इन शैलियों को सुरक्षित रखा जा सके. इसलिए राम मंदिर ट्रस्ट अपील कर रहा है कि चांदी की ईंटों की जगह कैश ट्रस्ट के बैंक अकाउंट में दान स्वरूप जमा कराई जाए, जिससे राम मंदिर निर्माण में इस धन को प्रयोग में लाया जा सके.

एक क्विंटल से ज्यादा चांदी की ईंटें दान में आईं
ट्रस्ट के अनुसार अब तक दानदाताओं ने 1 क्विंटल से ज्यादा चांदी ईंटें दान दी हैं. इसके साथ ही अन्य धातु रूपों में भी दान दिया गया है. इतनी मात्रा में इस तरह का दान आने से बैंक ने जगह की कमी की समस्या ट्रस्ट के सामने रखी है. बता दें कि 5 अगस्त को राम मंदिर भूमि का पूजन किया जाएगा. इसके साथ ही राम मंदिर निर्माण शुरू हो जाएगा. इसे लेकर श्रद्धालु और दानदाता उत्साहित हैं.

5 अगस्‍त को मोदी आ रहे हैं अयोध्‍या

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 अगस्त को अयोध्या के राम मंदिर का भूमि पूजन करने के साथ इसके निर्माण का शुभारंभ करेंगे। पीएम का कार्यक्रम तय हो गया है। वह दिन में साढ़े 11 बजे यहां पहुंचेंगे तथा लोगों को संबोधित भी करेंगे। पीएम मोदी अयोध्‍या पहुंचने के बाद साकेत विश्वविद्यालय से रामजन्मभूमि की ओर जाएंगे। इस दौरान प्रधानमंत्री हनुमानगढ़ी भी जाएंगे। प्राप्त जानकारी के अनुसार कार्यक्रम में 200 गेस्ट शामिल होंगे। इसमें विशिष्ट अतिथियों के साथ ही साधु-संत और अधिकारियों के भी शामिल रहने की जानकारी है।

32 सेकंड में मोदी रखेंगे आधारशिलाा
प्रस्‍तावित कार्यक्रम के अनुसार, प्रधानमंत्री मोदी अयोध्या में राम मंदिर प्रवास के दौरान भाषण भी देंगे। उनका कार्यक्रम दो घंटे का होगा। भूमि पूजन का समय 12 बजकर 15 मिनट पर 32 सेकेंड का रहेगा। इसी दौरान पीएम राम मंदिर की आधारशिला भी रखेंगे।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *