Pages Navigation Menu

Breaking News

31 दिसंबर तक बढ़ी ITR फाइलिंग की डेडलाइन

 

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

अफगानिस्तान की धरती का इस्तेमाल आतंकवाद के लिए ना हो; पीएम नरेंद्र मोदी

सच बात—देश की बात

जेपी नड्डा से मिलने के बाद बदले बाबुल सुप्रियो के सुर

babulबाबुल सुप्रियो ने दिल्ली में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाक़ात के बाद कहा कि मैं गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा का धन्यवाद करता हूं कि उन्होंने मुझे राजनीति छोड़ने से मना किया। मैं राजनीति छोड़ने के अपने निर्णय से अब पीछे नहीं हट सकता हूं। सुप्रियो ने कहा कि सांसद के रूप में सरकार से जो घर मुझे मिला है, मैं वह घर छोड़ दूंगा। केंद्र सरकार से मिली सुरक्षा को भी मैं छोड़ रहा हूं। मैं संवैधानिक तरीके से आसनसोल के लिए काम करूंगा लेकिन किसी राजनीतिक कार्यक्रम में अब आप मुझे नहीं देखेंगे।

 गौरतलब है कि पिछले दिनों केंद्रीय मंत्रिपरिषद में हुए फेरबदल व विस्तार के दौरान सुप्रियो की छुट्टी कर दी गई थी। बताया जाता है कि वह तभी से निराश हैं। सुप्रियो ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि वह सांसद के रूप में अपने संवैधानिक दायित्व का निर्वहन करते रहेंगे लेकिन राजनीति से दूर रहेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि वह राष्ट्रीय राजधानी स्थित अपना आधिकारिक आवास भी खाली कर देंगे। सुप्रियो अगर संसद से इस्तीफा देते तो इस सूरत में आसनसोन से उपचुनाव कराने की नौबत आती और भाजपा के लिए इस सीट पर पुन: जीत हासिल करना आसान नहीं होता क्योंकि पिछले दिनो संपन्न विधानसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल की सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस ने शानदार जीत दर्ज की थी और उसके हौंसले बुलंद हैं। भाजपा सांसद ने बताया कि उन्होंने भाजपा अध्यक्ष नड्डा और केंद्रीय गृह अमित शाह से बात करने के बाद लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा ना देने का फैसला किया है। सुप्रियो ने कहा कि पिछले दिनों उनके कुछ बयानों को पार्टी की आलोचना के रूप में देख गया लेकिन उनका मानना है कि राज्य में भाजपा के हित में उन्होंने ऐसा कहा था और वह अभी भी उस पर कायम हैं। आसनसोल से दो बार के सांसद सुप्रियो को पिछले विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस के अरूप बिस्वास के खिलाफ विधानसभा चुनाव में हार का सामना करना पड़ा था।

दिलीप घोष पर बरसे बाबुल सुप्रियो

हाल में ही राजनीति से संन्यास का ऐलान करने वाले भाजपा सांसद बाबुल सुप्रियो एक बार फिर से फेसबुक पोस्ट लिखी है। अपने इस फेसबुक पोस्ट के जरिए बाबुल सुप्रियो ने बंगाल भाजपा के प्रमुख दिलीप घोष और तृणमूल कांग्रेस के नेता कुणाल घोष पर निशाना साधा है। दिलीप घोष और कुणाल घोष पर फेसबुक पोस्ट लिखते हुए बाबुल सुप्रियो ने कि स्क्रीनशॉट भी शेयर किया है। बाबुल सुप्रियो ने दिलीप घोष पर हमला करते हुए कहा कि वह खबरों में बने रहने के लिए कुछ भी करते रहते हैं।बाबुल सुप्रियो ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा कि मेरे फैसले पर जो आप लोगों ने कहा है वह मैंने पढ़ा है। हर कोई अपने हिसाब से मेरी बातों का अर्थ निकाल रहा है। इसके साथ-साथ कोई मेरा समर्थन कर रहा है तो कोई विरोध कर रहा है। कुछ लोग अपने हिसाब से भाषा का भी इस्तेमाल कर रहे हैं, यह सब स्वीकार है मुझे। लेकिन मैं अपने काम से जवाब दूंगा। इसके साथ ही बाबुल ने पूछा कि काम के लिए सांसद या मंत्री होना जरूरी है क्या?आपको बता दें कि बाबुल सुप्रियो के राजनीति छोड़ने के ऐलान पर दिलीप घोष ने कहा था कि क्या उन्होंने अपना इस्तीफा दिया है? किसी का राजनीति में आना या छोड़ना उसका खुद का फैसला हो सकता है। इसके बाद दिलीप घोष ने कहा था कि उन्हें समझाइए कि फेसबुक पर पोस्ट लेकर राजनीति नहीं छोड़ी जाती। वहीं तृणमूल के कुणाल घोष ने कहा था कि लोकसभा चल रही है। वहां स्पीकर बैठे हुए हैं। वहां इस्तीफा देने की भाषा है। बाबुल सुप्रियो फेसबुक पर ड्रामा कर रहे हैं। कुणाल ने यह भी कहा कि असल में बाबुल पॉलिटिक्स नहीं छोड़ना चाहते हैं। बस अपनी ओर ध्यान आकर्षित कराना चाहते हैं।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »