Pages Navigation Menu

Breaking News

सीबीआई कोर्ट ;बाबरी विध्वंस पूर्व नियोजित घटना नहीं थी सभी 32 आरोपी बरी

कृष्ण जन्मभूमि विवाद- ईदगाह हटाने की याचिका खारिज

सिनेमा हॉल, मल्टीप्लैक्स, इंटरटेनमेंट पार्क 15 अक्टूबर से खोलने की इजाजत

बाबूलाल मरांडी की भाजपा में ‘ घर ‘ वापसी

babulalmarandibjp-31रांची :  झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी 14 वर्षों के बाद आज एक बार फिर भाजपा के हो गये. इस अवसर पर गृहमंत्री अमित शाह मौजूद थे. आज रांची के धुर्वा स्थित प्रभात तारा मैदान में यह मिलन समारोह आयोजित किया गया. इस मिलन समारोह को संबोधित करते हुए बाबूलाल मरांडी ने गृहमंत्री अमित शाह का धन्यवाद किया, साथ ही उपस्थित सभी लोगों के प्रति आभार जताया. उन्होंने कहा कि 2006 में मैं घर (भाजपा) छोड़कर चला गया था, लेकिन ऐसा नहीं है कि भाजपा ने मुझे वापस लाने की कोशिश नहीं की. भाजपा ने उसी वक्त से मुझे वापस पार्टी में लाने की कोशिश की. लेकिन मैं अपने जिद में था. कभी-कभी खुद को मनाना भी कठिन होता है. आज मैं वापस आया हूं तो इसलिए नहीं कि भाजपा ने चुनाव हारने के बाद मुझे वापस लाने की कोशिश की. यह इतने वर्षों का प्रयास है कि आज मैं घर लौटा हूं.

अपने संबोधन में बाबूलाल मरांडी ने सबका आभार जताते हुए कहा कि आज पार्टी में मेरा जिस तरह से बांहें फैलाकर स्वागत किया, उसके लिए मैं सबका आभार प्रकट करता हूं. मैं आज पार्टी में आया हूं तो किसी पद के मोह में नहीं आया हूं. मुझे पार्टी जो भी जिम्मेदारी देगी मैं उसे स्वीकार करूंगा. मैं एक आम कार्यकर्ता की तरह काम करूंगा. पार्टी अगर मुझे झाड़ू लगाने का काम भी मुझे देगी तो मैं उसे करूंगा. अपने संबोधन में बाबूलाल मरांडी ने हेमंत सरकार पर जमकर हमला बोला और कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति बहुत खराब है, लोगों की हत्या हो रही है, लेकिन सरकार बेखबर है.अपने संबोधन में गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी दिल्ली में हैं, आपके जयघोष से उनतक यह सूचना जानी चाहिए कि बाबूलाल मरांडी भाजपा में आ गये हैं. उन्होंने पार्टी में बाबूलाल मरांडी का स्वागत करते हुए कहा कि मैं आज झारखंड आकर खुशी महसूस कर रहा हूं कि 14 साल बाद बाबूलाल जी कमल का निशान लेकर पार्टी में लौटे हैं, उनकी घर वापसी हुई है. उन्होंने कहा कि यह बिरसा मुंडा की धरती है, हमारी सरकार ने आदिवासी शहीदों को पूरा सम्मान दिया है और जब हमें मौका मिला हमने एक आदिवासी बाबूलाल मरांडी को पार्टी की कमान सौंपी.इस अवसर पर पार्टी के कई वरिष्ठ नेता जिनमें कड़िया मुंडा, केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, पूर्व मुख्यमंत्री रघवुर दास, प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा सहित प्रदेश के सभी भाजपा सांसद और विधायक सहित  हजारों समर्थक मौजूद थे.

हमारी सरकार को बदनाम करना चाहती है हेमंत सरकार : रघुवर दास

इस अवसर पर पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने बाबूलाल मरांडी का पार्टी में स्वागत किया और कहा कि उनके आने से पार्टी को मजबूती मिलेगी और भाजपा नयी ऊंचाइयों को छुएगी.  अपने संबोधन में उन्होंने अमित शाह का भी धन्यवाद किया कि वे झारखंड आये, जो उनके झारखंड से प्रेम का सूचक है. उन्होंने प्रदेश के गठन का श्रेय अटल जी की सरकार को दिया. इस मौके पर रघुवर दास ने कहा कि झारखंड की नयी सरकार भाजपा सरकार को बदनाम करने की कोशिश कर रही है और दुष्प्रचार में जुटी है, लेकिन हम प्रदेश में एक जिम्मेदार विपक्ष की भूमिका निभायेंगे.  उन्होंने कहा कि बाबूलाल के पार्टी में आने से हमारे विपक्षी परेशान होंगे, क्योंकि अब भाजपा और मजबूत होगी.अपने संबोधन में केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने भी बाबूलाल मरांडी का पार्टी में स्वागत किया. उन्होंने कहा कि बाबूलाल जी पुराने भाजपाई हैं और उनके आने से पार्टी और मजबूत होगी. इस अवसर पर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा ने कहा कि इससे प्रदेश में भाजपा मजबूत होगी. लक्ष्मण गिलुवा ने इस मौके पर चाईबासा नरसंहार का उल्लेख किया और गृहमंत्री से नरसंहार के जांच की अपील की.

2006 में बाबूलाल ने बनायी थी अपनी पार्टी, तीन चुनाव लड़े 

राज्य के पहले मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने जून 2006 में झाविमो -प्रजातांत्रिक नाम से पार्टी बनायी थी़. श्री मरांडी की पार्टी को राज्स्तरीय पार्टी की मान्यता भी मिली. भाजपा से अलग होकर श्री मरांडी ने तीन बार विधानसभा चुनाव लड़ा. वर्ष 2009 में पहली बार विधानसभा में 11 विधायकों के साथ मजबूत उपस्थिति दर्ज करायी़.  कांग्रेस के साथ उस चुनाव में गठबंधन हुआ था. वहीं 2014 में अकेले चुनाव लड़ते हुए आठ विधायक लेकर विधानसभा पहुंचे. इनमें से छह विधायक भाजपा में शामिल हो गये. 2019 के चुनाव में भी श्री मरांडी एकला चलो की  राह पर रहे और सभी 81 सीटों पर चुनाव लड़े.  इस चुनाव में श्री मरांडी सहित प्रदीप यादव व बंधु तिर्की चुनाव जीत कर आये.

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *