Pages Navigation Menu

Breaking News

इस्लामिक आतंकवाद पर नकेल कसने की जरूरत; डोनाल्ड ट्रंप

राष्ट्रपति ट्रंप की लीडरशिप में दोनों देशों के रिश्ते गहरे हुए; नरेंद्र मोदी

डोनाल्ड ट्रंप के लिए आयोजित डिनर का कांग्रेस ने किया बहिष्कार

बरेली को 54 साल बाद मिला साधना का ‘झुमका’

bareilly jhumkaबरेली. 54 साल बाद शनिवार को बरेली को ‘खोया हुआ’ झुमका आखिरकार मिल गया। इसे बरेली विकास प्राधिकरण ने शहर में एनएच 24 पर जीरो प्वाइंट पर लगाया गया है। साथ ही इसे झुमका तिराहा नाम दिया गया है। दरअसल, 1966 में उत्तरप्रदेश का शहर बरेली उस वक्त ज्यादा चर्चा में आया था जब फिल्म मेरा साया का गाना ‘झुमका गिरा रे, बरेली के बाजार में…’ लोकप्रिय हुआ था। यह गाना दिवंगत अभिनेत्री साधना पर फिल्माया गया था।

शहर में झुमका लगाने की पहली पहल 90 के दशक में हुई थी। तब बीडीए ने राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण से दिल्ली-बरेली मार्ग 24 पर ‘झुमका’ तिराहा की मांग की थी। लेकिन अब साकार हुआ। अब इस तिराहे पर 2 क्विंटल (200 किग्रा) का झुमका 14 फीट ऊंचे खंभे पर लगाया गया है। इसे बनाने में पीतल और तांबे का इस्तेमाल किया गया है। ऐसा कहा जा रहा है कि लागत करीब 18 लाख रुपए आई है। गुड़गांव के एक कलाकार ने इसे तैयार किया है।

मेहमानों को झुमका दिया गया
लखनऊ-दिल्ली हाइवे पर बरेली शहर के प्रवेश मार्ग पर स्थित परसाखेड़ा चौराहे पर शनिवार को झुमका स्थापित किया गया। इसका उद्घाटन शनिवार को केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार ने किया। यहां आए सभी अतिथियों को प्रतीक स्वरूप एक झुमका उपहार में दिया गया। बरेली विकास प्राधिकरण (बीडीए) के अफसर ने बताया कि झुमका करीब दो सौ मीटर दूर से लोगों को नजर आएगा। इसके आसपास 3 ‘सूरमे दानी’ को भी सजाया गया है।

बरेली की सीमा पर स्थापित हुआ झुमका करीब दो सौ मीटर दूर से लोगों को नजर आएगा। पिछले साल जुलाई-अगस्त में दिल्ली-लखनऊ हाईवे पर परसाखेड़ा में जीरो प्वाइंट पर वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. केशव ने बीडीए के लिए झुमका चौराहे का निर्माण शुरू कराया था। हाल ही में निर्माण पूरा होने के बाद शनिवार को इसके लोकार्पण का कार्यक्रम तय किया गया था, लेकिन शुक्रवार को एक ठेकेदार ने यह शिकायत करके सनसनी फैला दी कि उसे झुमके का पेमेंट नहीं किया गया है। हालांकि बाद में साफ हुआ कि उसे इसका ठेका ही नहीं दिया गया था। हालांकि शनिवार को यह ठेकेदार नजर नहीं आया।
केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार ने फीता काटकर और दीप प्रज्ज्वलित करके झुमका चौराहे का लोकार्पण किया। उन्होंने कहा कि झुमका चौराहे के बाद शहरवासियों को जल्द ही हवाई सेवा का भी तोहफा मिलेगा। डॉ. केशव अग्रवाल ने शहर को पहचान दिलाने वाले इस चौराहे के निर्माण के लिए बीडीए की सराहना की। कहा, 2.70 क्ंिवटल वजनी झुमका पीतल और तांबे से तैयार कराया गया है।अतिथियों को 270 ग्राम वजन के झुमके की शक्ल में प्रतीक चिह्न भी भेंट किए गए। बीडीए उपाध्यक्ष दिव्या मित्तल ने अतिथियों का स्वागत किया। समारोह में विधायक डॉ. अरुण कुमार, बहोरन लाल मौर्य, केसर सिंह, डीसी वर्मा, कमिश्नर रणवीर प्रसाद, डीएम नितीश कुमार, एसएसपी शैलेश कुमार पांडेय आदि मौजूद रहे। छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए।

फिल्म में दिखेगा झुमका चौराहा, कलाकार पहुंचे
झुमका चौराहे के लोकार्पण समारोह में हिस्सा लेने मुंबई से आए फिल्म अभिनेता मुकेश भारती ने बताया कि अब तक गानों में ही बरेली के झुमके के बारे में सुनते आए हैं। अब चौराहा बन जाने से शहर को झुमका मिल भी गया है। उन्होंने कहा कि अपनी आने वाली फिल्म के प्रमोशन के लिए प्रोड्यूसर और डॉयरेक्टर के साथ आएंगे तो फिल्म में इस झुुमका चौराहे को भी दिखाएंगे।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *