विभिन्न श्रमिक संगठनों की ओर से बुलाये गये भारत बंद के समर्थन को लेकर भी विपक्षी दलों में मतभेद दिख रहा है। श्रमिक संगठनों के इस बंद का जहां वाम मोर्चा खुलकर समर्थन कर रहा है, वहीं उधर, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए केंद्र की मोदी सरकार पर हमला किया है। कभी भाजपा की सहयोगी रही शिवसेना ट्रेड यूनियनों के बंद का समर्थन कर रही है तो भाजपा की कट्टर विरोधी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इसे सीपीआई(एम) की गुंडागर्दी करार देते हुए विरोध किया है।

राहुल गांधी ने ट्वीट कर मोदी पर साधा निशाना

राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि मोदी-शाह सरकार की जनविरोधी, श्रमिक विरोधी नीतियों ने भयावह बेरोजगारी पैदा की है और सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों को कमजोर किया जा रहा है, ताकि इन्हें मोदी के पूंजीपति मित्रों को बेचने को सही ठहराया जा सके। गांधी ने कहा कि आज 25 करोड़ कामगारों ने इसके विरोध में भारत बंद बुलाया है। मैं उन्हें सलाम करता हूं।

शिवसेना ने किया समर्थन

भारत पेट्रोलियम में विनिवेश के केंद्र सरकार के कदम के खिलाफ मुंबई में भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) के कर्मचारियों द्वारा विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। शिवसेना ने ट्रेड यूनियनों द्वारा बुलाए गए भारत बंद को समर्थन दिया है। इसके साथ ही शिवसेना ने केंद्र सरकार पर उसकी नीतियों और फैसलों को लेकर निशाना साधा।