Pages Navigation Menu

Breaking News

31 दिसंबर तक बढ़ी ITR फाइलिंग की डेडलाइन

 

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

अफगानिस्तान की धरती का इस्तेमाल आतंकवाद के लिए ना हो; पीएम नरेंद्र मोदी

सच बात—देश की बात

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव; भाजपा का दिल्ली में मंथन

bjp_meeting_1_21874534_05455864लखनऊ । भाजपा ने उत्तर प्रदेश में बीते विधानसभा चुनाव से भी बड़ी जीत हासिल करने का लक्ष्य तय किया है। इसके लिए पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पार्टी के सभी सांसदों को आशीर्वाद यात्रा निकालने और इसके तहत अपने संसदीय क्षेत्र के एक-एक गांव तक पहुंचने का निर्देश दिया है। राज्य के ब्रज, पश्चिम और कानपुर क्षेत्र के लोकसभा और राज्यसभा सांसदों को संबोधित करते हुए पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि अगले विधानसभा चुनाव में एकजुट होकर 2017 में मिली जीत से भी बड़ी लकीर खींचनी है। बैठक में सीएम योगी आदित्यनाथ, प्रभारी राधामोहन सिंह, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और संगठन मंत्री सुनील बंसल भी मौजूद थे।भारतीय जनता पार्टी ने जातीय और क्षेत्रीय संतुलन के साथ जिस तरह से केंद्रीय मंत्रिमंडल में उत्तर प्रदेश के सांसदों को तवज्जो दी है, उसका संदेश पार्टी गाजे-बाजे के साथ जनता के बीच पहुंचाना चाहती है। यह आगामी विधानसभा चुनाव की ही रणनीति है कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने दिल्ली में बैठक कर नए केंद्रीय मंत्रियों को अपने संसदीय क्षेत्र सहित दो से तीन लोकसभा क्षेत्रों के गांवों में जन आशीर्वाद यात्रा निकालने के लिए कहा है।उत्तर प्रदेश में अगले वर्ष होने जा रहे विधानसभा चुनाव में भाजपा अपने सभी सांसदों को सक्रिय करने की रूपरेखा बना रही है। इसे लेकर ही बुधवार को दिल्ली में भाजपा अध्यक्ष नड्डा ने यूपी के ब्रज, पश्चिम और कानपुर क्षेत्र के सांसदों के साथ बैठक की, जिसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, पार्टी के प्रदेश प्रभारी राधामोहन सिंह, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल भी शामिल हुए।

सूत्रों के मुताबिक हाल ही में उत्तर प्रदेश के जिन सांसदों को केंद्रीय मंत्री बनाया गया है, उन्हें संसद के मानसून सत्र के बाद अपने संसदीय क्षेत्र के साथ ही कम से कम दो से तीन लोकसभा क्षेत्रों में जन आशीर्वाद यात्रा निकालनी है। केंद्रीय मंत्रिमंडल में सात नए मंत्री बनाए गए हैं, जिनमें तीन अनुसूचित जाति, तीन पिछड़ा वर्ग और एक सवर्ण समाज से हैं। इन सभी की आशीर्वाद यात्रा से पार्टी इनसे जुड़े समाज-वर्ग को फिर याद दिलाना चाहती है कि वह भाजपा सरकार की प्राथमिकता में हैं। यह प्रयास भावनात्मक रूप से समाज को मजबूती से जोड़ने का माना जा रहा है। इसके अलावा सभी सांसदों से कहा गया है कि कोरोना टीकाकरण अभियान में सक्रिय भागीदारी करें। वैक्सीन सेंटरों पर जाएं और खास तौर पर क्षेत्र की जनता को दूसरी डोज के लिए प्रेरित करें।प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का लाभ जरूरतमंदों तक पहुंचाने के लिए सरकार के साथ संगठन भी पूरी तैयारी कर रहा है। उत्तर प्रदेश में संगठन पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं के लिए रूपरेखा पहले ही बन चुकी थी। अब सांसदों से कहा है कि पांच अगस्त को जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अन्न महोत्सव को संबोधित करेंगे तो राशन वितरण के हर केंद्र पर टीवी के माध्यम से उसका सजीव प्रसारण होगा। सांसदों को वहां मौजूद रहकर जनता के साथ पीएम नरेंद्र मोदी का संदेश सुनना है। उन्हें बूथ स्तर तक संगठन को मजबूत करने में भी सक्रिय किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से भाजपा के 62 और उसके सहयोगी अपना दल के दो सांसद हैं।

सीएम योगी ने भी गिनाईं उपलब्धियां : भाजपा चाहती है कि योगी सरकार के कामकाज की उपलब्धियां सांसद भी अपने क्षेत्र की जनता को बताएं। इसे देखते हुए ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना काल में सरकार द्वारा राहत-बचाव के लिए उठाए गए कदमों, अन्य राज्यों की तुलना में प्रदेश की बेहतर स्थिति, कानून व्यवस्था को लेकर सख्ती सहित कुछ उपलब्धियां गिनाईं। सांसदों को ‘योगी आदित्यनाथ एवं विचार दर्शन’ पुस्तक भी भेंट की गई। इसके साथ ही योगी सरकार की योजनाओं और उपलब्धियों के ब्योरे की किट भी सौंपी गई है।

सात-आठ अगस्त को लखनऊ आएंगे नड्डा : बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के सात और आठ अगस्त को लखनऊ आने के कार्यक्रम के बारे में भी बताया गया। सूत्रों के अनुसार राजधानी में दो दिवसीय प्रवास के दौरान नड्डा विधानसभा चुनाव की तैयारियों के मद्देनजर बैठकें करने के अलावा नवनिर्वाचित जिला पंचायत अध्यक्षों और ब्लाक प्रमुखों का सम्मान भी करेंगे।

आशीर्वाद यात्रा निकालने का निर्देश
नड्डा ने सांसदों को मानसून सत्र के बाद अपने-अपने संसदीय क्षेत्र में आशीर्वाद यात्रा निकालने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि इस यात्रा के दौरान संसदीय क्षेत्र का एक भी गांव नहीं छूटना चाहिए। यात्रा के दौरान सांसद खुली जीप में घूमें, टीकाकरण अभियान और कोरोना काल में शुरू की गई योजनाओं की एक-एक गांव में निगरानी करें। यह पता करें कि जरूरतमंदों को योजना का लाभ मिल रहा है या नहीं। उन्होंने कहा कि टीकाकरण अभियान के तहत इसी साल सभी लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य हासिल करने के लिए स्वास्थ्य स्वयं सेवक तैयार किए गए हैं।

सांसदों को मिलेगी अपनी-अपनी सीट की जिम्मेदारी
बैठक में सांसदों से कहा गया है कि वह अपने संसदीय क्षेत्र से जुड़ी विधानसभा सीटों पर जीत सुनिश्चित करने का दायित्व लें। इसके लिए मानसून सत्र के बाद अपने-अपने क्षेत्र में जुट जाएं। योगी और मोदी सरकार की उपलब्धियों का प्रचार करें। खासतौर पर टीकाकरण अभियान और कोरोना काल में मोदी और राज्य सरकार की ओर से शुरू की गई योजनाओं की निगरानी करें।

 

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »