Pages Navigation Menu

Breaking News

31 दिसंबर तक बढ़ी ITR फाइलिंग की डेडलाइन

 

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

अफगानिस्तान की धरती का इस्तेमाल आतंकवाद के लिए ना हो; पीएम नरेंद्र मोदी

सच बात—देश की बात

बहुजन समाज प्रेरणा केंद्र में फिर लगी मायावती की मूर्ति

mayawatiलखनऊ उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में स्थित बहुजन समाज प्रेरणा केंद्र में बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) की मूर्तियां फिर से लगवाई जा रही हैं। सोशल मीडिया पर तस्वीरें सामने आने के बाद एक बार फिर से मायावती के मूर्ति प्रेम पर चर्चा शुरू हो गई है। हालांकि, बीएसपी नेताओं का कहना है कि ये मूर्तियां नई नहीं हैं, पहले इन्हें हटाया गया था, अब प्रेरणा स्थल में ही दूसरी जगह लगाया जा रहा है।प्रदेश की मुख्यमंत्री रहने के दौरान ही खुद की मूर्तियां लगवाने को लेकर मायावती की जमकर आलोचना हुई थी। इसके बावजूद नोएडा और लखनऊ में मायावती की मूर्तियां कई जगहों पर लगवाई गईं। लखनऊ के भीमराव आंबेडकर पार्क और बहुजन समाज प्रेरणा स्थल पर मायावती की कई मूर्तियां लगाई गई हैं। प्रेरणा स्थल पर ही नई मूर्तियों ने सबको चौंका दिया है।

मायावती ने ट्वीट करके दिया जवाब
मीडिया में चल रही खबरों पर खुद मायावती ने ट्वीट करके जवाब दिया है। उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर लिखा, ‘जैसाकि सर्वविदित है कि अपने देश में सरकारी, गैर-सरकारी व सार्वजनिक स्थानों/स्थलों पर जो मूर्तियां आदि लगी होती हैं, उनकी साफ-सफाई, मरम्मत और रख-रखाव पर पूरा ध्यान नहीं दिया जाता है, जिनकी स्थिति फिर धीरे-धीरे काफी खराब हो जाती है, जिसे जनता कतई पसंद नहीं करती है जबकि बीएसपी इस मामले में अपनी सरकार में सरकारी स्थानों/स्थलों पर ही नहीं बल्कि अपने प्राइवेट घरों/स्थानों पर भी लगी मूर्तियों और फव्वारों आदि की साफ-सफाई, मरम्मत व रख-रखाव आदि पर भी हमेशा विशेष ध्यान देती है, जो कि जगजाहिर है।’

मायावती ने मीडिया पर निशाना साधते हुए लिखा, ‘इसी क्रम में प्राइवेट और गैर-सरकारी लखनऊ प्रेरणा केन्द्र में जो यह सब कार्य चल रहा है, जिसे कुछ मीडिया गलत तरीके से दर्शा रहे हैं, उन्हें अपनी जातिवादी मानसिकता में जरूर कुछ बदलाव लाना चाहिए तो यह बेहतर होगा।’ वहीं, बीएसपी के कुछ नेताओं का कहना है कि ये मूर्तियां नए सिरे से नहीं लगाई जा रहीं, बल्कि इन मूर्तियों का रेनोवेट किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि पहले से लगी मूर्तियां बारिश और तेज धूप की वजह से खराब हो रही थीं, लिहाजा मूर्तियों को उस जगह से हटाकर दूसरी जगह लगवाया जा रहा है।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »