Pages Navigation Menu

Breaking News

31 दिसंबर तक बढ़ी ITR फाइलिंग की डेडलाइन

 

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

अफगानिस्तान की धरती का इस्तेमाल आतंकवाद के लिए ना हो; पीएम नरेंद्र मोदी

सच बात—देश की बात

पोल सर्वे ; पश्चिम बंगाल में बीजेपी की सीटों में बंपर इजाफा

tmc vs bjpपश्चिम बंगाल में धुंआधार प्रचार में जुटी बीजेपीकी सीटों में बंपर इजाफा का अनुमान । ओपिनियन पोल के मुताबिक सूबे में टीएमसी की सरकार 148 से 164 सीटों के साथ बन सकती है।  वहीं बीजेपी के खाते में  92 से 108 सीटें मिल सकती हैं। हालांकि तीन दशक से ज्यादा समय तक सत्ता में रहने वाले वामदलों को गहरा झटका लगता दिख रहा है। कांग्रेस के लिए भी सर्वे निराशाजनक तस्वीर पेश कर रहा है। सर्वे के अनुसार लेफ्ट कांग्रेस गठबंधन को 31 से 39 सीटें ही मिल सकती हैं।

पूर्वोत्तर राज्य असम में बीजेपी सरकार में वापस लौट सकती है। वहीं तमिलनाडु में कांग्रेस को खुशखबरी मिलने की उम्मीद है। एबीपी न्यूज-सी वोटर के ओपिनियन पोल के मुताबिक केरल में लेफ्ट का किला बचा रह सकता है। पोल के अनुसार असम में बीजेपी को 68 से 76 सीटें मिल सकती हैं। वहीं कांग्रेस गठबंधन को 43 से 51 सीटें हासिल हो सकती हैं। अन्य दलों के खाते में 5 से 10 सीटें जा सकती हैं। तमिलनाडु की बात करें तो ओपिनियन पोल में डीएमके-कांग्रेस गठबंधन को 154 से 162 सीटें मिलने का अनुमान है। इसके अलावा बीजेपी और एआईएडीएमके गठबंधन को 58 से 66 सीटें मिल सकती हैं। एलडीएफ के खाते में 8 से 20 सीटें जा सकती हैं।

केरल में वामपंथी दलों की सत्ता में वापसी हो सकती है। ओपिनियन पोल में केरल में वामपंथी दलों के गठबंधन के सत्ता में वापसी में लौटने की भविष्यवाणी की गई है। तटीय राज्य में एलडीएफ तो 83 से 91 सीटें मिल सकती हैं। कांग्रेस गठबंधन यूडीएफ को 47 से 55 सीटें मिल सकती हैं। वहीं बीजेपी को 0 से 2 सीटें ही मिल सकती हैं। बता दें कि पश्चिम बंगाल, असम समेत 5 राज्यों के लिए चुनाव का बिगुल बज चुका है। पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में चुनाव होने हैं, जबकि असम में तीन राउंड में मतदान होने वाला है।

केरल, तमिलनाडु और पुडुचेरी में एक ही राउंड में 6 अप्रैल को मतदान होना है। 2 मई को सभी 5 राज्यों के चुनाव नतीजों का एक साथ ही ऐलान होगा। पश्चिम बंगाल में यह चुनाव टीएमसी के लिए बेहद अहम है। दो बार से सत्ता में कायम ममता बनर्जी को इस बार बीजेपी से कड़ी चुनौती मिल रही है। वहीं असम में बीजेपी पूर्ण बहुमत से बनी अपनी पहली सरकार को दोबारा सत्ता में लाने के लिए मैदान में उतरेगी।

पश्चिम बंगाल में पहले चरण का मतदान 27 मार्च को होगा। इसके बाद 1 अप्रैल को दूसरे राउंड की वोटिंग होनी है। 6 अप्रैल को तीसरे राउंड की वोटिंग होगी। चौथे चरण की वोटिंग 10 अप्रैल को होनी है। 17 अप्रैल को 5वें चरण की वोटिंग होगी। इसके बाद 22 अप्रैल को पश्चिम बंगाल में छठे राउंड की वोटिंग होगी। सातवें राउंड का मतदान 26 अप्रैल को कराया जाएगा। इसके अलावा असम में पहले चरण का मतदान 27 मार्च को होगा। दूसरे चरण का मतदान एक अप्रैल को होगा। तीसर चरण की वोटिंग 6 अप्रैल को होगी। 2 मई को चुनाव के नतीजे आ जाएंगे।

चुनाव प्रचार को लेकर भी आयोग की ओर से नियमों में सख्ती की गई है। चुनाव प्रचार के लिए भी गाइडलाइंस जारी करते हुए आयोग ने कहा है कि उम्मीदवार समेत 5 लोगों को घर-घर जाने की इजाजत होगी। यही नहीं नामांकन दाखिल करने के लिए भी कैंडिडेट के साथ सिर्फ दो अन्य लोग जा सकेंगे। रिटर्निंग ऑफिसर के दफ्तर में सिर्फ दो वाहन ले जाने की ही अनुमति होगी। चुनाव आयुक्त ने कहा कि परीक्षाओं और त्योहारों के दिन मतदान नहीं कराया जाएगा। सभी त्योहारों का ख्याल रखा गया है।

Sat, 27 Feb 2021 08:40 PM

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »