Pages Navigation Menu

Breaking News

सीबीआई कोर्ट ;बाबरी विध्वंस पूर्व नियोजित घटना नहीं थी सभी 32 आरोपी बरी

कृष्ण जन्मभूमि विवाद- ईदगाह हटाने की याचिका खारिज

सिनेमा हॉल, मल्टीप्लैक्स, इंटरटेनमेंट पार्क 15 अक्टूबर से खोलने की इजाजत

दिल्ली में शुरू हुआ पहला प्लाज्मा बैंक

kejriwalनयी दिल्ली : कोरोना वायरस के इलाज के लिए बृहस्पतिवार को दिल्ली में पहले प्लाज्मा बैंक की शुरुआत हुई. इस दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोविड-19 के मरीज ठीक होने के 14 दिन बाद प्लाज्मा दान कर सकते हैं.

मुख्यमंत्री ने ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में 1031 और 8800007722 नंबर जारी किया, जिन पर लोग कोविड-19 मरीजों के लिए प्लाज्मा दान करने के लिए सम्पर्क कर सकते हैं . प्लाज बैंक के उद्घाटन के बाद सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा, अभी तक जो नतीजे आए हैं प्लाज्‍मा थेरेपी के वो काफी मददगार हैं. इससे लोगों की जान बचाने में मदद मिलेगी. यकृत एवं पित्त विज्ञान संस्थान में प्लाज्‍मा बैंक शुरू किया गया है. ये तभी सफल होगा जब ज्यादा से ज्यादा लोग प्लाज़्मा दान करेंगे.

केजरीवाल ने कहा, अभी तक लोगों को प्लाज्मा लेने में दिक्कत आ रही थी. अब प्लाज्मा बैंक बन जाने से उम्मीद करते हैं कि लोगों की दिक्कत कम होगी, लेकिन ये प्लाज्मा तभी सफल होगा जब लोग आगे आकर प्लाज्मा डोनेट करेंगे. जो लोग कोरोना से ठीक हो चुके हैं वो आगे आए और प्लाज्मा डोनेट करें. प्लाज्मा डोनेट वही लोग कर सकतें हैं जो लोग कोरोना से ठीक हो चुके हो, जिनकी आयु 18 से 60 वर्ष के बीच हो और वजन 50 किलो. से कम न हो, लेकिन जो महिलाएं एक बार भी प्रेग्नेंट हुई हो और जिन व्यक्तियों को कॉम्बिडिटीज है वो लोग प्लाज्मा डोनेट नहीं कर सकते.

सरकारी संस्थान ‘ इंस्टिट्यूट ऑफ़ लीवर एंड बिलिअरी साइंसेस’ में प्लाज्मा बैंक की स्थापना की गई है. केजरीवाल ने उम्मीद जतायी कि प्लाज्मा थेरेपी से कोविड-19 से मरने वालों की संख्या में कमी आ सकती है.

प्लाज्मा थेरेपी के अच्छे नतीजे

ढाई महीने पहले दिल्ली में 29 मरीजों के ऊपर ट्रायल हुआ था और इसके उत्साहवर्धक नतीजे देखे गए थे. केजरीवाल ने कि कहा कि कोरोना के कारण दो समस्याएं होती हैं. पहली, मरीज का ऑक्सीजन लेवल गिर जाता है. दूसरी, रेस्पिरेशन का लेवल बहुत बढ़ जाता है. 29 मरीजों को हमने प्लाज्मा दिया, जिसके अच्छे नतीजे आए. हमने रिपोर्ट को केंद्र सरकार को सौंपा और उसके आधार पर केंद्र सरकार ने दिल्ली सरकार और प्राइवेट अस्पतालों में प्लाज्मा थेरेपी की इजाजत दी

दिल्ली पहला ऐसा राज्य था, जिसने प्लाज्मा थेरेपी की शुरुआत की थी. अब प्लाज्मा की डिमांड हो रही है लेकिन प्लाज्मा कहां से लाया जाए, ये सवाल हुआ तो प्लाज्मा बैंक बनाने की चर्चा हुई अब प्लाज्मा बैंक बनकर तैयार है. समें जो भी व्यक्ति कोरोना वायरस को मात देकर ठीक हुआ है वो अपना प्लाज्मा दे सकता है. इससे सरकारी और प्राइवेट दोनों अस्पतालों को प्लाज्मा दिया जाएगा. अगर किसी को प्लाज्मा चाहिए तो डॉक्टर को लिखकर देना होगा.

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *