Pages Navigation Menu

Breaking News

मोदी मंत्रिमंडल : 43 मंत्रियों की शपथ, 36 नए चेहरे, 12 का इस्तीफा

 

भारत में इस्लाम को कोई खतरा नहीं, लिंचिंग करने वाले हिन्दुत्व के खिलाफ: मोहन भागवत

देश में समान नागरिक संहिता हो; दिल्ली हाईकोर्ट

सच बात—देश की बात

मुंबई एयरपोर्ट की कमान अब गौतम अडाणी के हाथ….

अडाणी ग्रुप ने मंगलवार को मुंबई एयरपोर्ट का अधिग्रहण पूरा कर लिया। मुंबई एयरपोर्ट चलाने वाली कंपनी मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड में अडाणी ग्रुप की कंपनी का 74% हिस्सा होगा।मुंबई एयरपोर्ट को तैयार करने वाली और पुरानी मालिक GVK ग्रुप मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट से निकल गई है। GVK ग्रुप की पूरी 50.5% हिस्सेदारी और दूसरी दो विदेशी कंपनियों की 23.5% हिस्सेदारी अडाणी एंटरप्राइजेज की सब्सिडियरी कंपनी अडाणी एयरपोर्ट होल्डिंग्स ने अपने नाम कर लिया है। बची हुई 26% हिस्सेदारी एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पास रहेगी।मुंबई एयरपोर्ट देश का दूसरा सबसे बिजी एयरपोर्ट है। यहां भारत का लगभग एक तिहाई एयर ट्रैफिक होता है। अडाणी एयरपोर्ट होल्डिंग्स लिमिटेड (AAHL) द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि अब यह एयरपोर्ट देश का 33% एयर कार्गो ट्रैफिक भी कंट्रोल करेगा।

gautam-adani-A-1इस डेवलपमेंट पर गौतम अडाणी ने ट्वीट करके कहा कि वर्ल्ड क्लास मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट के मैनेजमेंट का अधिग्रहण करके काफी खुशी हो रही है। हम वादा करते हैं कि मुंबई को नए मैनेजमेंट पर गर्व होगा। अडाणी ग्रुप मुंबई एयरपोर्ट को और आरामदायक बनाएगा। हम एंटरटेनमेंट के मोर्चे पर भी नई इबारत लिखेंगे। साथ ही बेहतर बिजनेस करने की कोशिश करेंगे। हमारा पूरा फोकस हजारों नए रोजगार पैदा करने पर है।

देश का सबसे बड़ा एयरपोर्ट ऑपरेटर बना अडाणी ग्रुप
​​​​​​​अडाणी ग्रुप देश का सबसे बड़ा एयरपोर्ट ऑपरेटर हो गया है। अब उसके पास देश के 7 एयरपोर्ट की कमान है। अडाणी के पास मुंबई एयरपोर्ट के अलावा 6 अन्य प्रमुख एयरपोर्ट भी है, जिसमें अहमदाबाद, लखनऊ, जयपुर, मंगलुरू, गुवाहाटी और तिरुवंतपुरम एयरपोर्ट शामिल हैं। इनके मैनेजमेंट अडाणी ग्रुप के पास ही है। 2019 में बिडिंग में मिली जीत के बाद ग्रुप के पास इन एयरपोर्ट को ऑपरेट करने की जिम्मेदारी अगले 50 सालों तक की है।

अडानी ग्रुप AAI से 3 अन्य एयरपोर्ट्स पहले ही ले चुका है

अडानी ग्रुप ने पिछले साल के आखिर में AAI से मंगलुरु, लखनऊ और अहमदाबाद एयरपोर्ट्स का अधिग्रहण कर लिया था। इस साल जुलाई तक वह जयपुर, गुवाहाटी और तिरुवनंतपुरम एयरपोर्ट का भी अधिग्रहण कर लेगी। अडानी ग्रुप इन 6 एयरपोर्ट्स का विकास, प्रबंधन और परिचालन अगले 50 साल तक करेगा। इस तरह से अडानी ग्रुप एयरपोर्ट्स की संख्या के लिहाज से देश में सबसे बड़ा एयरपोर्ट ऑपरेटर बनने जा रहा है। यात्री संख्या के लिहाज से हालांकि अभी GMR देश का सबसे बड़ा एयरपोर्ट ऑपरेटर है। GMR के पास दिल्ली का IGIA, हैदराबाद और गोवा का मोपा एयरपोर्ट भी है।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »