Pages Navigation Menu

Breaking News

संघ कार्यालय पर संघी-कांग्रेसियों ने फहराया तिरंगा
पंपोर में मुठभेड़ में तीनों आतंकवादी मारे गए  
वाराणसी में केजरीवाल को दिखाए काले झंडे

कांग्रेस का ‘मिशन कर्नाटक

rahulनए साल की शुरुआत के साथ ही फोकस उन राज्यों पर आ टिका है जहां जहां इस साल विधानसभा चुनाव होने हैं. 2018 में जिन राज्यों में चुनाव होने हैं उनमें कर्नाटक, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान अहम हैं. इन राज्यों में सबसे पहले कर्नाटक में चुनाव होने हैं, इसलिए इस दक्षिणी राज्य के लिए राजनीतिक दलों ने कमर कसना भी शुरु कर दिया है. फिलहाल इस राज्य में कांग्रेस सत्तारूढ़ है.‘ग्रैंड ओल्ड पार्टी’ जानती है कि इस दक्षिणी राज्य पर उसका कब्जा बनाए रखना कितना जरूरी है. पार्टी को मुख्यमंत्री सिद्धारमैया की राजनीतिक क्षमताओं पर भरोसा है, लेकिन साथ ही वो सांगठनिक स्तर पर भी चुनाव में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती. यही वजह है कि दक्षिण में कर्नाटक के अपने गढ़ को बचाने के लिए कांग्रेस ने आठ लाख बूथ स्तरीय कार्यकर्ताओं की फौज तैयार की है.

सूत्रों के मुताबिक कर्नाटक के लिए कांग्रेस चुनाव प्रचार का बिगुल 20 जनवरी के बाद फूंकेगी. बता दें कि कर्नाटक की मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल 28 मई 2018 को समाप्त हो रहा है. कर्नाटक विधानसभा में 224 सीटें हैं.कर्नाटक चुनाव के लिए कांग्रेस की तैयारियों को लेकर राज्य के पार्टी प्रभारी जनरल सेक्रेटरी के सी वेणुगोपाल ने ‘आज तक’ से बात की. वेणुगोपाल ने कहा, “पिछले 6 महीने से हम कर्नाटक में हर निर्वाचन क्षेत्र स्तर पर मिशन मोड में काम कर रहे हैं. हम कर्नाटक में 98 फीसदी बूथ लेवल कमेटियों का गठन कर चुके हैं. कर्नाटक में कुल 54,200 बूथ कमेटी हैं जिनमें से हम 53,000 बना चुके हैं. प्रत्येक कमेटी में 15 सदस्य हैं. हम कर्नाटक में इस काम में 7 लाख 95 हजार कार्यकर्ताओं को जोड़ चुके हैं.”

 वेणुगोपाल के मुताबिक कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की ओर से छह महीने पूर्व जमीनी स्तर पर संगठन को मजबूत करने के निर्देश दिए जाने के साथ ही ‘मिशन कर्नाटक शुरू है. वेणुगोपाल ने बताया, “जब मैंने जनरल सेक्रेटरी के तौर पर राज्य का जिम्मा संभाला था तो राहुल जी ने मुझसे कहा था कि आपका पहला मिशन संगठन को जमीनी स्तर पर मजबूत करना है. साथ ही उन्होंने बूथ स्तरीय कमेटियां बनाने के निर्देश दिए. राहुल जी के निर्देश मिलने के बाद हमने कर्नाटक के लिए संगठन को मजबूत करने का प्लान बनाया. अब हम कर्नाटक में 98 फीसदी बूथ स्तरीय कमेटियां बना चुके हैं.”जाहिर है कि कांग्रेस भी अब बूथ स्तर पर संगठन की मजबूती पर बहुत जोर दे रही हैं. ये किसी से छुपा नहीं है कि बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की ओर से हर राज्य के चुनाव में बूथ स्तर पर पन्ना प्रमुखों और बूथ कार्यकर्ताओं को कितना महत्व दिया जाता है. ऐसे में कर्नाटक में कांग्रेस ने भी बूथ स्तर पर संगठन की मजबूती के लिए कमर कस ली है. वक्त की जरूरत को पहचानते हुए कांग्रेस अब बूथ लेवल कमेटी के सदस्यों के लिए ट्रेनिंग सेशंस चला रही है.कर्नाटक के लिए कांग्रेस के प्रभारी जनरल सेक्रेटरी इंचार्ज वेणुगोपाल ने कहा, “घर घर जाकर कार्यकर्ताओं का अभियान पहले ही पूरा हो चुका है. हम अब जंग के लिए तैयार हैं.”
Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *