Pages Navigation Menu

Breaking News

संघ कार्यालय पर संघी-कांग्रेसियों ने फहराया तिरंगा
पंपोर में मुठभेड़ में तीनों आतंकवादी मारे गए  
वाराणसी में केजरीवाल को दिखाए काले झंडे

पांच राज्यों के विधानसभा परिणाम और कांग्रेस मुक्त भारत

PM-Narendra-Modiनई दिल्ली: पांच राज्यों की नई विधानसभाओं के लिए हो रही मतगणना में सबसे रोचक परिणाम पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु से मिले हैं… जहां बंगाल में सत्तासीन ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस ने पिछली बार से भी कहीं बेहतर प्रदर्शन करते हुए लगभग तीन-चौथाई बहुमत का आंकड़ा छू लिया है, वहीं तमिलनाडु में तमाम एग्ज़िट पोलों को धता बताते हुए जनता ने वर्ष 1984 के बाद पहली बार किसी पार्टी को लगातार दूसरी बार सत्ता में पहुंचाया है…तमिलनाडु में सत्तारूढ़ जे. जयललिता की पार्टी एडीएमके को इस बार भी स्पष्ट बहुमत मिल रहा है, जिससे डीएमके प्रमुख एम. करुणानिधि और उनके साथ मिलकर लड़ रही कांग्रेस के ख्वाब टूट गए हैं… उधर, केरल में भी कांग्रेस-नीत यूडीएफ के हाथ से सत्ता छिनती दिखाई दे रही है, और वाम-गठबंधन एलडीएफ स्पष्ट बहुमत हासिल करने जा रहा है..

Rahul-Robert-Priyanka-Sonia भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के नतीजों को ‘सकारात्मक राजनीति की जीत’ बताते हुए कहा कि हमारे “कांग्रेस मुक्त भारत” अभियान को गति देने के लिए आज देश दो कदम आगे बढा है।अमित शाह ने गुरुवार को नतीजों के बाद यहां पार्टी मुख्यालय में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि मोदी सरकार के दो साल के कामकाज के दम पर ही भाजपा के वोट प्रतिशत में बढोत्तरी दर्ज की गई है। उन्होंने कहा तमिलनाडु, केरल, पुद्दुचेरी हो या फिर बंगाल हर जगह भाजपा का वोट प्रतिशत बढ़ा है।अमित शाह ने कहा कि असम की जीत काफी महत्वपूर्ण है और उसके काफी अहम मायने हैं। यहां हमें अपने दम पर बहुमत मिला है। इससे 2019 के लिए हमारी राह आसान होगी। उन्होंने कहा कि केरल में भाजपा का वोट प्रतिशत 6 से बढ़कर लगभग 15 प्रतिशत हो गया है। पुद्दुचेरी और तमिलनाडु में हमने अपने वोट शेयर को बनाए रखा है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश उपचुनाव में दोनों सीटें समाजवादी पार्टी से हारने के बावजूद भाजपा का वोट प्रतिशत बढा है।

उधर, बंगाल के रुझानों में एक और दिलचस्प बात यह है कि वहां वामदल तीसरे नंबर पर खिसकते दिखाई दे रहे हैं, और कांग्रेस को उनसे ज़्यादा सीटें मिलने के आसार हैं, जबकि बीजेपी भी राज्य में अपनी पैठ साबित करने में कामयाब होती दिख रही है…इस बीच, असम में हालात पूरी तरह बीजेपी के पक्ष में हैं… प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अनुसार असम में ‘अभूतपूर्व और ऐतिहासिक’ जीत हासिल कर पार्टी ने कमाल कर दिखाया है, और किसी पूर्वोत्तर राज्य में पहली बार ‘कमल’ की सरकार बनने जा रही है… उधर, हर राज्य में हाशिये पर सिमटती दिखाई दे रही कांग्रेस के लिए पुदुच्चेरी एकमात्र राज्य है, जहां कुछ सांत्वना मिलने के आसार दिख रहे हैं…

index mamtaशाम 6:45 बजे तक पश्चिम बंगाल की 294 सीटों में से 264 के परिणाम आ चुके हैं जबकि 30 सीटों रुझान हैं। अभी तक घोषित परिणामों में तृणमूल कांग्रेस 195 सीटों पर जीत हासिल कर चुकी  है जबकि 16 सीटों पर उसकी बढ़त जारी है। वहीं सीपीएम को अभी तक 25 सीटों पर जीत मिली है जबकि 1 सीट पर उसका उम्‍मीदवार आगे चल रहा है। भाकपा को 1 सीट पर जीत हासिल हुई है। कांग्रेस अभी तक 34 सीटों पर विजयी हो चुकी है और 10 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है।.. जहां तक गठबंधन का सवाल है, तृणमूल के गठबंधन को कुल 211 सीटें मिलने की संभावना है। भारतीय जनता पार्टी को भी राज्य में 3 सीटों पर जीत नसीब हुई है।

असम में अब तक 103 सीटों के परिणाम आ चुके हैं और 23 सीटों पर गिनती जारी है। घोषित 103 सीटों में से बीजेपी के खाते में 49 सीटें गई हैं जबकि उसकी सहयोगी असम गण परिषद भी 12 सीटें जीत चुकी है। बीजेपी के उम्‍मीदवार 11 सीटों पर आगे चल रहे हैं जबकि एजीपी के उम्‍मीदवार भी 2 सीटों पर बढ़त बनाए हुए हैं। बीजेपी की एक अन्‍य सहयोगी बोडोलैंड पीपल्‍स फ्रंट भी 9 सीटें जीत चुकी है और 3 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है। इस तरह बीजेपी और उसके सहयोगी दलों को राज्‍य में  स्‍पष्‍ट बहुमत मिल रहा है।

केरल की 140 सीटों में से 136 के परिणाम सामने आ चुके हैं। 136 में से सीपीएम ने 58 सीटें जीती हैं जबकि सीपीआई को 19 सीटें मिली हैं। राज्‍य में एलडीएफ को स्‍पष्‍ट बहुमत मिला है और उसे कुल 91 सीटें मिलती दिख रही हैं। वहीं कांग्रेस नीत यूडीएफ को हार का सामना करना पड़ा है। कांग्रेस ने अब तक 20 सीटों पर जीत हासिल की है जबकि  2 सीटों पर उसके उम्‍मीदवार आगे चल रहे हैं। यूडीएफ को 47 सीटों से संतोष करना पड़ सकता है। बीजेपी के खाते में भी एक सीट आई है और राज्‍य में पहली बार उसका कोई उम्‍मीदवार चुनाव जीता है।

jailalitaतमिलनाडु की 232 सीटों में से 193 के परिणाम आ चुके हैं। इनमें से जयललिता की पार्टी एआईएडीएमके ने 112 सीटें जीत ली हैं और 21 सीटों पर आगे चल रही है। इस तरह एक बार फिर एआईएडीएमके को स्‍पष्‍ट बहुमत मिल रहा है। करुणानिधि की पार्टी डीएमके 72 सीटों पर जीत दर्ज कर चुकी है और 17 सीटों पर उसके उम्‍मीदार आगे चल रहे हैं। वहीं कांग्रेस को राज्‍य में 8 सीटों पर जीत हासिल हुई है।पुदुच्चेरी में भी सभी 30 सीटों के परिणाम मिल चुके हैं, और कांग्रेस गठबंधन के उम्मीदवार 17 सीटों पर जीत चुके हैं। वहीं एआईएडीएमके को 4 सीटों पर जीत मिली है वहीं ऑल इंडिया एनआर कांग्रेस को 8 सीटों पर जीत हासिल हुई है।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *