BJP_Parliament_congressचंडीगढ़। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पेट्रो पदार्थों की कीमतों में भारी कमी के बावजूद इसका लाभ आमजन को नहीं देने के खिलाफ कांग्रेस मोर्चा खोलेगी। पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस की कीमतों में कमी करने और पेट्रो पदार्थों को वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के दायरे में लाने के लिए पार्टी ने सरकार पर दबाव बनाने की पूरी तैयारी कर ली है। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हड्डा ने कहा कि सरकारी आंकड़ों के ही मुताबिक केंद्र ने पेट्रो पदार्थों से पांच लाख 97 हजार करोड़ कमा लिए, लेकिन अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें आधी रहने के बावजूद आमजन को राहत नहीं दी जा रही। हुड्डा ने कहा कि प्रदेश सरकार ने भी वैट में पांच से ज्‍यादा बार वृद्धि कर डाली। पेट्रोल पर वैट को 21 से बढ़ाकर 26.25 फीसद और डीजल पर 9.24 से बढ़ाकर 17.22 फीसद कर दिया है।

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में पूरे देश में तेजी जारी है. क्रूड के बढ़ते दाम और रुपए में गिरावट से पेट्रोल की कीमतें लगभग 80 रुपए प्रति लीटर तक पहुंच रही हैं. मुंबई में पेट्रोल की कीमतें करीब 80 रुपए के आसपास हैं. वहीं, दूसरे राज्यों में भी पेट्रोल के दाम ऊंचाइयां छू रहे हैं. अब मध्य प्रदेश में पेट्रोल-डीजल की कीमतें और बढ़ने जा रही हैं. दरअसल, मध्य प्रदेश में पेट्रोल-डीजल पर सोमवार से अतिरिक्त कर (सेस) लागू होगा. रविवार रात 12 बजे से पेट्रोल-डीजल के दाम एक फीसदी बढ़ जाएंगे. सरकार ने इसके लिए एक नोटिफिकेशन भी जारी कर दिया है.

मध्य प्रदेश कैबिनेट ने जनवरी के पहले हफ्ते में ही पेट्रोल-डीजल पर सेस लगाने का ऐलान किया था. हालांकि, पहले सेस सिर्फ 50 पैसे प्रति लीटर लगाने की बात सामने आई थी. लेकिन, अब स्पष्ट हो गया है कि हर लीटर पर सेस प्रतिशत में लगाया जाएगा. यानी रविवार रात 12 बजे से एक फीसदी सेस लगाया जाएगा.शनिवार को मध्य प्रदेश सरकार ने नोटिफिकेशन जारी किया. 29 जनवरी से सेस लागू हो जाएगा. 28 दिसंबर की रात 12 बजे से पेट्रोल कंपनियां पेट्रोल-डीजल के दाम निर्धारित करेंगी, उस पर प्रदेश सरकार एक फीसदी अतिरिक्त सेस जोड़ेगी. आपको बता दें कि इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड ऑयल महंगा होने और भारतीय रुपए में आई कमजोरी के चलते पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ रहे हैं.

85 रुपए हो सकता है पेट्रोल
मॉर्गन स्टेनली और बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच ने 2018 के लिए कच्चे तेल के औसत भाव के अनुमान में बढ़ोतरी की है. अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल का भाव पहले ही 3 साल के ऊपरी स्तर पर है. बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच ने अपने अनुमान में 8 डॉलर की बढ़ोतरी की है. 2018 में ब्रेंट क्रूड का औसत भाव 64 डॉलर और WTI क्रूड का औसत भाव 60 डॉलर रहने का अनुमान लगाया है. ऐसे में एक्सपर्ट्स के मुताबिक, पेट्रोल के दाम 85 रुपए प्रति लीटर तक पहुंच सकते हैं.