Pages Navigation Menu

Breaking News

यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों को निकालने के लिए ऑपरेशन गंगा

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

हरियाणा: 10 साल पुराने डीजल, पेट्रोल वाहनों पर प्रतिबंध नहीं

सच बात—देश की बात

कोरोना वायरस की नई लहर से दिल्ली से महाराष्ट्र तक बुरा हाल

delhi-coronavirus-1591755634कोरोना वायरस की नई लहर से दिल्ली से महाराष्ट्र तक का बुरा हाल होता दिख रहा है। एक बार फिर से महाराष्ट्र कोरोना की रडार पर है और यहां मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। दिल्ली में भी कोरोना की रफ्तार तेज होती जा रही है। दिल्ली में जहां एक दिन में 400 से अधिक कोरोना के केस सामने आए, वहीं महाराष्ट्र में यह आंकड़ा 14 हजार पार कर गया। नागपुर में कोरोना लॉकडाउन का ऐलान कर दिया गया है, मगर जिस तरह से मामले बढ़ रहे हैं, ऐसी आशंका जताई जा रही है कि ऐसे प्रतिबंध अन्य कई जगहों पर लग सकते हैं।

दरअसल, महाराष्ट्र में गुरुवार को कोरोना वायरस के 14,317 मरीज मिले, जो इस साल एक दिन में सबसे ज्यादा हैं। इसके बाद कुल मामले 22,66,374 पहुंच गए हैं। इतना ही नहीं, 57 संक्रमितों के दम तोड़ने के बाद राज्य में मृतकों की संख्या 52,667 पहुंच गई है। बीते साल सात अक्टूबर को एक दिन में 14,578 नए मामले रिपोर्ट हुए थे जिसके बाद से दैनिक मामलों में गिरावट दर्ज होने लगी थी। 14 फरवरी से महाराष्ट्र में कोरोना के लगातार मामले बढ़ रहे हैं।

यही वजह है कि अब महाराष्ट्र में भी लॉकडाउन का खतरा मंडराने लगा है। महाराष्ट्र की स्थिति कितनी भयावह होती जा रही है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि नागपुर में एक सप्ताह (15 से 21 मार्च) का लॉकडाउ लगाया गया है। इतना ही नहीं, ठाणे में भी करीब 16 हॉटस्पॉट में 31 मार्च तक लॉकडाउन लगा दिया गया है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भी संकेत दिए हैं कि अगर कोरोना की रफ्तार ऐसी ही बेकाबू रही तो फिर अन्य जगहों पर भी लॉकडाउन लगाए जा सकते हैं। हालांकि, नागपुर के बाद, पुणे, मुंबई और ठाणे जैसे इलाके रडार पर होंगे।

वहीं दिल्ली की बात करें तो यहां दिन-प्रतिदिन संक्रमितों के बढ़ने का सिलसिला लगातार जारी है। गुरुवार को दिल्ली में कोरोना के 400 से अधिक नए मरीज मिलने के बाद यहां संक्रमितों का कुल आंकड़ा 6.42 लाख के पार पहुंच गया है। इसके साथ ही पॉजिटिविटी दर भी बढ़कर 0.59 फीसदी पर आ गई है। दिल्ली में बढ़ते मामलों के बीच कंटेनमेंट जोन की संख्या भी फिर से बढ़कर 600 के पास पहुंच गई है। दिल्ली में गुरुवार को 409 नए लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई। यह राजधानी में लगभग दो महीने बाद एक दिन में सबसे अधिक लोगों के कोरोना संक्रमित होने का आंकड़ा है। इससे पहले 8 जनवरी को दिल्ली में 444  मामले आए थे।

दिल्ली का कोरोना ग्राफ
नए मामलों के बाद राजधानी में एक्टिव केस की संख्या भी बढ़कर दो हजार से अधिक हो गई है। दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, गुरुवार को कुल 2020 एक्टिव केस हो गए हैं। गुरुवार को कोरोना मुक्त होने के बाद 286 मरीजों को छुट्टी दी गई, जबकि तीन मरीजों ने कोरोना के कारण दम तोड़ दिया। दिल्ली में कोरोना के ‌कुल मरीज 6,42,439 हो गए हैं। इनमें से 6,29,485 मरीज कोरोना से ठीक हो चुके हैं। वहीं, अब तक 10,934 मरीजों ने कोरोना के कारण दम तोड़ दिया है।

महाराष्ट्र का कोरोना ग्राफ
राज्य में संक्रमण का इलाज करा रहे मरीजों की संख्या एक लाख के पार चली गई है। राज्य में 1,06,070 लोग संक्रमण का उपचार करा रहे हैं। पिछले साल छह नवंबर को राज्य में संक्रमण के इलाजरत मरीजों की संख्या 1,02,099 थी। इसके बाद उपचाररत मरीजों की संख्या कम होने लगी थी।  बहरहाल महाराष्ट्र में 14 फरवरी से दैनिक नए मामलों में बढ़ोतरी होने लगी। नागपुर शहर में सबसे ज्यादा 1701 नए मामले रिपोर्ट हुए हैं। इसके बाद पुणे में 1514 और मुंबई नगर में 1509 नए मरीजों की पुष्टि हुई है। मुंबई में कोविड-19 के कुल मामले 3,38,643 पहुंच गए हैं तथा चार और लोगों की मौत के बाद शहर में कुल 11,519 संक्रमितों की मृत्यु हो चुकी है।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »