Pages Navigation Menu

Breaking News

लव जेहाद: उत्तर प्रदेश में 10 साल की सजा का प्रावधान

पाकिस्तान संसद ने माना, हिंदुओं का कराया जा रहा जबरन धर्मातरण

जम्‍मू-कश्‍मीर में 25 हजार करोड़ का भूमि घोटाला

दिल्ली: कोरोना मरीजों की संख्या 20 हजार के पार

kejriwal 3दिल्ली में कोरोना का कहर जारी है. राजधानी में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 20834 हो गई है. पिछले 24 घंटों में 990 नए मामले सामने आए हैं, जबकि 50 लोगों की मौत हुई है. यहां में अब कोरोना से मरने वालों की संख्या 523 हो गई है.दिल्ली सरकार की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटों में 268 मरीज ठीक हुए हैं. इस तरह डिस्चार्ज या माइग्रेट करने वाले मरीजों की संख्या 8746 पहुंच गई है. फिलहाल दिल्ली में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या 11565 है.कोरोना वायरस महामारी के बढ़ते संकट को देखते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राजधानी के बॉर्डर को सील करने का फैसला लिया है. इस फैसले के तहत दिल्ली से सटे बॉर्डर को अगले एक हफ्ते तक सील रखा जाएगा. हालांकि, इस दौरान जिनको पास जारी होगा उन्हें और जरूरी क्षेत्र से जुड़े लोगों को एंट्री मिल पाएगी.

बॉर्डर खोलने को लेकर सुझाव मांगे

केजरीवाल ने दिल्लीवासियों से बॉर्डर खोलने को लेकर सुझाव मांगे हैं. उन्होंने कहा है कि दिल्ली के हिसाब से अस्पतालों में मरीज के लिए बेड की पर्याप्त व्यवस्था है, लेकिन अगर दूसरे राज्यों के मरीज आए तो दिक्कत हो सकती है. ऐसे में उन्हें क्या करना चाहिए? क्या उन्हें अपनी सीमाएं सील कर देनी चाहिए या फिर सभी राज्यों के लिए खोल देना चाहिए?केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली दिलवालों की है, इसलिए वे लोगों से भी उनकी राय जानना चाहते हैं. सीएम केजरीवाल ने फिलहाल एक सप्ताह के लिए दिल्ली की सीमा सील रखने को कहा है. अगला आदेश लोगों के सुझाव आने के बाद आएगा.

केजरीवाल पर भड़के अनिल विज

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के अनलॉक 1.0 के पहले ही दिन राज्य की सीमाएं सील करने के ऐलान पर सियासत गर्म हो गई है. इस फैसले के लिए केजरीवाल पर भड़के हरियाणा के गृह और स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि दिल्ली के इंफ्रास्ट्रक्चर पर पूरे देश का अधिकार है. एक तरफ वे कहते हैं कि दिल्ली, हिंदुस्तान का दिल है. दूसरी तरफ, वे दिल्ली को अलग करने की कोशिश कर रहे हैं. विज ने कहा कि देश के किसी अन्य राज्य का मुख्यमंत्री ऐसा कह भी सकता है, लेकिन दिल्ली का सीएम ऐसा नहीं कह सकता. आजादी के बाद दिल्ली में ही अस्पताल बने, अन्य इन्फ्रास्ट्रक्चर डवलप हुए. इन सभी पर पूरे देश का हक है. उन्होंने कहा कि दिल्ली को सील करने की इजाजत किसी भी हाल में नहीं दी जा सकती. विज ने हरियाणा के बॉर्डर सील करने को लेकर सवाल का भी बेबाकी से जवाब दिया.उन्होंने कहा कि हमने गृह मंत्रालय की गाइडलाइंस के अनुरूप ही सीमाएं सील की थीं. जब गृह मंत्रालय ने कहा, हमने खोल दिया. हरियाणा के गृह मंत्री ने कहा कि केजरीवाल को तो केंद्र सरकार के उल्टा चलना है. जब सीमाएं सील करने को कहा गया, इन्होंने खोले रखीं. जब खोलने को कहा गया, तब ये सील कर रहे हैं. दिल्ली की जनता से इनका कोई लेना-देना नहीं है. उन्होंने कहा कि मैं केजरीवाल की इस सोच के खिलाफ हूं. इस प्रकार की बातें नहीं होनी चाहिए.विज ने साथ ही यह भी जोड़ा कि मरीज कहीं का भी हो, आ जाए तो नहीं रोकना चाहिए. एमएचए की गाइडलाइंस में भी मेडिकल कंडीशंस में आवागमन की इजाजत दी गई थी. उन्होंने कहा कि यह राजनीति का समय नहीं है. अदृश्य दुश्मन के खिलाफ लड़ने का समय है. वहीं, उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि देश सबका है. इस तरह का निर्णय सही नहीं है. उन्होंने कहा कि हमारे यहां मध्य प्रदेश, झारखंड, बिहार समेत कई राज्यों और नेपाल की सीमा लगती है. हम वहां के नागरिकों को यह नहीं कहते कि हमारे अस्पतालों में उपचार नहीं होगा.

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *