Pages Navigation Menu

Breaking News

नड्डा ने किया नई टीम का ऐलान,युवाओं और महिलाओं को मौका

कांग्रेस में बड़ा फेरबदल ,पद से हटाए गए गुलाम नबी

  पाकिस्तान में शिया- सुन्नी टकराव…शिया काफिर हैं लगे नारे

कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा की

Prime Minister Narendra Modi seen wearing a mask during video-conferencing with the Chief Ministers over COVID19कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए देश को किए गए 21 दिनों के लॉकडाउन की अवधि 14 अप्रैल को खत्म हो रही है। लेकिन, लगातार कोरोना के नए केस आने के चलते कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने लॉकडाउन को इस महीने के आखिर तक बढ़ाने की घोषणा कर दी है। इधर, शुक्रवार को मुख्यमंत्रियों के साथ प्रधानमंत्री की हुई विडियो कॉन्फ्रेंसिंग बैठक के बाद साफतौर पर इस बात के संकेत मिले हैं कि लॉकडाउन को बढ़ाया जा सकता है।ओडिशा, पंजाब, राजस्थान और महाराष्ट्र ने बकायदा इस बात का ऐलान भी कर दिया कि वे 30 अप्रैल तक लॉकडाउन को बढ़ाने जा रहे हैं। लेकिन, एनडीए शासित राज्यों ने प्रधानमंत्री मोदी की तरफ से औपचारिक घोषणा का अभी इंतजार किया है। ऐसे में अब आइये बताते है कि 14 अप्रैल के बाद लॉकडाउन बढ़ाने को लेकर किस राज्य के मुख्मयंत्री की तरफ से क्या सुझाव दिए गए हैं।

उत्तराखंड के सीएम ने कहा 30 अप्रैल तक बढ़े लॉकडाउन

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने केंद्र सरकार से लॉकडाउन 30 अप्रैल तक बढ़ाने की मांग की है। हालांकि जिन जिलों में कोरोना वायरस संक्रमण का कोई मामला सामने नहीं आया है, वहां लोगों की आवाजाही पर लगी पाबंदियों को आंशिक रूप से खत्म करने का भी सुझाव दिया है।समाचार एजेंसी भाषा के मुताबिक, आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि राज्य सरकार ने लॉकडाउन खत्म करने के संबंध में एक विस्तृत नीतिगत विवरण भी केंद्र को सौंपा है। लॉकडाउन से बाहर निकलने की रावत की योजना में उन जिलों में आवाजाही पर लगी पाबंदियों में आंशिक ढील देने की भी मांग की गयी है, जो कोरोना वायरस संक्रमण से प्रभावित नहीं हुए हैं।

आंध्र सीएम ने कहा, सिर्फ रेड जोन इलाके में हो लॉकडाउन

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी ने लॉकडाउन को हटाने और केवल उन क्षेत्रों में इसे लागू करने का सुझाव दिया जो रेड जोन घोषित हैं और वहां पर कोविड-19 के मामलों में वृद्धि देखने को मिली है। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा कि कंपनियों के ठप हो जाने की वजह से लाखों श्रमिकों को वेतन नहीं मिलेगा और राज्य के राजस्व में भारी गिरावट आएगी। ऐसे में विकास की कोई भी कल्याणकारी योजनाओं को लागू करने में दिक्कत आ सकती है।कृषि, जलीय कृषि और उद्योगों जैसे कई महत्वपूर्ण क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर बेरोजगारी का सामना करना पड़ेगा। राज्य में 1,03,986 औद्योगिक इकाइयों में से केवल 7,250 इकाइयां ही चल रही थीं और वितरण नेटवर्क रेल और सड़क परिवहन प्रणालियों के पूरी तरह से बंद होने के कारण बुरी तरह प्रभावित हुआ है।

तेलंगाना सीएम ने की लॉकडाउन बढ़ाने की वकालत

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने अलगे दो सप्ताह के लिए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन को आगे बढ़ाने का सुझाव दिया ताकि कोविड-19 को कंट्रोल हाथों से बाहर न जाए। तेलंगाना के सीएम ने कहा कि लॉकडाउन की वजह से कोरोना वायरस को रोकने में काफी मदद मिली है। इसलिए लॉकडाउन को अगले दो सप्हात तक बढ़ाने के अलावा और कोई रास्ता नहीं है। हालांकि, केसीआर ने कहा कि लॉकडाउन खाद्य प्रसंस्करण उद्योग बिना किसी बाध के चलें, ताकि किसानों को नुकसान का सामना नहीं करना पड़े और आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति भी जारी रहे। चावल मिलों, तेल मिलों और अन्य कृषि आधारित उद्योगों को चलाने के लिए कदम उठाए जाने चाहिए।

बीएस येदियुरप्पा ने कहा, 2 हफ्ते बढ़े लॉकडाउन

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने शनिवार को कहा कि कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए लगाया गया लॉकडाउन दो और सप्ताह के लिए बढ़ाया जाएगा। उन्होंने कहा कि केंद्र अगले दो तीन दिन मे इसके संबंध में दिशानिर्देश जारी करेगा। येदियुरप्पा ने कहा, ”प्रधानमंत्री ने कहा है कि ऐसी कोई वजह नहीं है कि लॉकडाउन में कोई ढील दी जाए। लॉकडाउन बढ़ाने के बारे में सुझाव आये हैं। अगले दो-तीन दिनों में लॉकडाउन को लेकर दिशानिर्देश जारी किये जायेंगे।”प्रधानमंत्री द्वारा सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ चार घंटे तक की गयी वीडियो कांफ्रेंस के बाद उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ”प्रधानमंत्री ने कहा है कि लॉकडाउन अगले 15 दिनों के लिये अपरिहार्य है, लेकिन दिशानिर्देश सूचित किये जायेंगे… इसलिए अप्रैल आखिर तक यह पक्का है।

लॉकडाउन बढ़ाने के पक्ष में ममता बनर्जी

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन 30 अप्रैल तक बढ़ाने की बात कही है क्योंकि कोविड-19 से निपटने के लिये अगले दो सप्ताह काफी मुश्किल और चुनौतीपूर्ण होने वाले हैं। बनर्जी ने कहा कि पश्चिम बंगाल भी अप्रैल के अंत तक पाबंदियां जारी रखने के पक्ष में है। उन्होंने यहां पत्रकारों से कहा, ”प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कांफ्रेंस के दौरान लॉकडाउन 30 अप्रैल तक बढ़ाने की बात कही है। हम केन्द्र सरकार की इस बात से सहमत हैं। प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि अगले दो सप्ताह काफी मुश्किल और चुनौतीपूर्ण होने वाले हैं। हम सभी को और अधिक सतर्कता बरतते हुए घरों में रहना चाहिये। ”

केजरीवाल ने कहा, पीएम का लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला सही

प्रधानमंत्री के साथ मुख्यमंत्रियों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये हुई बैठक के बाद शनिवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल  कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन को बढ़ाने का सही फैसला किया है। हालांकि, 14 अप्रैल को खत्म हो रहे राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन को बढ़ाने के बारे में अभी कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है। केजरीवाल ने ट्वीट किया, ”प्रधानमंत्री ने लॉकडाउन को बढ़ाने का सही फैसला किया है । आज भारत की स्थिति कई विकसित देशों से बेहतर है क्योंकि हमने जल्द लॉकडाउन शुरू किया। अगर इसे अभी रोक दिया गया तो सारे फायदे खत्म हो जाऐंगे। इसलिए इसे बढ़ाना जरूरी है।

पंजाब सीएम अमरिंदर ने दिया लॉकडाउन बढ़ाने का सुझाव

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ शनिवार को विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक में पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने लॉकडाउन कम दो सप्ताह तक बढ़ाने का सुझाव दिया है। कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए देशभर में 21 दिन का बंद है, जिसकी अवधि 14 अप्रैल को समाप्त हो रही है। ऐसे में प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बैठक करके बंद के संबंध में उनके विचार जाने।

सिंह ने कहा कि पाबंदियों से लोगों को काफी मुश्किलें पेश आ रही हैं लेकिन भारत कोई जोखिम नहीं उठा सकता। पंजाब में संक्रमण से अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है और 151 लोग संक्रमित हैं। बैठक में मुख्यमंत्री ने पंजाब के लोगों के लिए स्वास्थ्य और राहत संबंधी कई उपाय भी सुझाए और उद्योग तथा कृषि क्षेत्रों के लिए विशेष रियायतें देने को कहा। उन्होंने कहा कि संक्रमण के मामलों की दर अभी अनिश्चित है और देश को इससे पार पाने की लंबी लड़ाई लड़नी है। चीन और कई यूरोपीय देशों की हालत को देखते हुए बंद बढ़ाने की जरूरत है।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *