Pages Navigation Menu

Breaking News

31 दिसंबर तक बढ़ी ITR फाइलिंग की डेडलाइन

 

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

अफगानिस्तान की धरती का इस्तेमाल आतंकवाद के लिए ना हो; पीएम नरेंद्र मोदी

सच बात—देश की बात

केरल में कोरोना के 22 हजार नए मामले, 131 लोगों की मौत

pinarayi-vijayan kerlaतिरुवनंतपुरम: केरल में बुधवार को कोविड-19 से 131 और लोगों की मौत होने के साथ वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 16,457 हो गई जबकि 22,056 नए मामले सामने आए जिससे संक्रमण के मामलों की कुल संख्या बढ़कर 33,27,301 हो गई। राज्य सरकार की एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि 17,761 लोग संक्रमण से ठीक हुए, जिससे अब तक कुल ठीक होने वालों की संख्या बढ़कर 31,60,804 हो गई है। राज्य में अब उपचाराधीन मरीजों की संख्या 1,49,534 हो गई है। पिछले 24 घंटों में, 1,96,902 नमूनों की जांच की गई और संक्रमण दर 11.2 प्रतिशत दर्ज की गई।

विज्ञप्ति के अनुसार राज्यभर में अब तक, 2,67,33,694 नमूनों की जांच हो चुकी है। राज्य में सबसे अधिक प्रभावित जिलों में मलप्पुरम में कोरोना वायरस के 3931, त्रिशूर में 3005, कोझिकोड में 2400, एर्नाकुलम में 2397, पलक्कड़ में 1649, कोल्लम में 1462, अलाप्पुझा में 1461, कन्नूर में 1179, तिरुवनंतपुरम में 1101 और कोट्टायम में 1067 मामले आए हैं। विज्ञप्ति में कहा गया कि नए मामलों में 100 स्वास्थ्य कर्मी शामिल हैं। राज्य के विभिन्न जिलों में फिलहाल 4,46,211 लोग निगरानी में हैं।

राज्य में मामलों में अचानक वृद्धि को लेकर कोई ठोस वजह नहीं बताई गई है, लेकिन बकरीद के मौके पर पाबंदियों में छूट से संक्रमण बढ़ने की आशंका जताई गई थी। यहां तक कि राज्य की वामदल सरकार के इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई थी, जिस पर सुनवाई के दौरान शीर्ष अदालत ने भी नाराजगी जताई थी और संक्रमण बढ़ने पर जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी थी।

वहीं, कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए केंद्र सरकार अपनी टीम केरल भेजेगी। इस टीम में 3 से 4 सदस्य होंगे। ये टीम विशेष रूप से परीक्षण, निगरानी और नियंत्रण कार्यों में कोविड-19 प्रबंधन के कार्यान्वयन की निगरानी करेगी। इसके साथ ही ये टीम कोविड उपयुक्त व्यवहार और उसके पालन करने, अस्पतालों में बेड की स्थिति, एंबुलेंस, वेंटिलेटर और मेडिकल ऑक्सीजन के साथ-साथ कोविड-19 वैक्सीनेशन के पर्याप्त संसाधनों की स्थिति को देखेगी।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »