Pages Navigation Menu

Breaking News

यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों को निकालने के लिए ऑपरेशन गंगा

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

हरियाणा: 10 साल पुराने डीजल, पेट्रोल वाहनों पर प्रतिबंध नहीं

सच बात—देश की बात

मुंबई में ताउते तूफान का कहर, गुजरात पहुंचा ताउते

cycloneदक्षिणी राज्यों में कहर मचाने के बाद ताउते तूफान ने अब पश्चिम का रुख कर लिया है। साइक्लोन ताउते के आज गुजरात के तटीय इलाकों से टकराने की संभावना जताई गई है। मौसम विभाग ने कहा है कि सोमवार तक यह बेहद ताकतवर चक्रवाती तूफान के रूप में बदल सकता है। महाराष्‍ट्र, केरल, कर्नाटक जैसे तटीय इलाकों से टकराने के बाद शाम तक 185 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से गुजरात में दस्तक देने की संभावना है। रेड और ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। लाखों लोगों की तटीय इलाकों से शिफ्ट कर दिया गया है। एनडीआरएफ, पुलिस एवं तटरक्षक बल की टीमों को तैनात कर दिया गया है। स्वास्थ्यकर्मियों को इस चक्रवाती तूफान से पैदा होने वाली किसी भी आपात स्थिति के लिए तैयार रहने को कहा गया है। तूफान की गंभीरता को देखते हुए अस्पतालों की पॉवर सप्लाई, ऑक्सिजन सप्लाई, कोविड केयर यूनिट्स पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया गया है। सरकार ने कोविड-19 मरीजों का उपचार कर रहे अस्पतालों से बिजली का बैकअप सुनश्चित करने को कहा गया है। किसी आपात स्थिति के मद्देनजर वायुसेना के 16 मालवाहक विमान और 18 हेलिकॉप्टर भी तैयार हैं। महाराष्ट्र के मुंबई, उत्तरी कोंकण, ठाणे और पालघर के हिस्सों में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हुई।

मुंबई में ताउते तूफान का कहर

मुंबई सहित महाराष्ट्र के तटीय इलाकों में तूफानी चक्रवात ताउते (Cyclone Tauktae) का असर देखने को मिला है। लगातार जारी बारिश और तेज हवाओं की वजह से समुंदर में ऊंची लहरें उठ रही हैं। सैकड़ों जगहों पर पेड़ टूटकर गिर गए। कई जगहों पर घर टूट गए। दो लोगों की मौत भी हो चुकी है।देर रात से ही महाराष्ट्र के मुंबई, उत्तरी कोकण, ठाणे और पालघर के हिस्सों में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हो रही है। मुंबई के एयरपोर्ट को बंद कर दिया गया और कुछ विमानों को भी डायवर्ट करना पड़ा। वैक्सीनेशन का काम भी रोक दिया गया। बांद्रा-वर्ली सी लिंक को भी ऐहतियातन बंद कर दिया गया है।चक्रवाती तूफान ताउते के चलतेकई जगहों पर पेड़ गिरे हैं। अकेले मुंबई में पेड़ गिरने की 132 घटनाएं सामने आ चुकी हैं। नवी मुंबई में 8, कल्‍याण-दोम्बिवली में 22 और ठाणे में 28 जगहों पर पेड़ गिरने की खबर है। ताउते तूफान की वजह से महाराष्ट्र में कई जगहों पर मकान हुए क्षतिग्रस्त। कई जगहों पर छतें टूटीं, पोल उखड़ गए। सिंधुदुर्ग में सबसे अधिक 536 ऐसी घटनाएं। रत्नागिरी में 61, ठाणे और रायगढ़ में 2-2 मामले।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »