Pages Navigation Menu

Breaking News

राम मंदिर के लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिए 5 लाख 100 रुपये

 

भारत में कोरोना टीकाकरण अभियान शुरू

किसानों के भविष्य के साथ खिलवाड़ न करें, उन्हें गुमराह न करें; प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

दिल्ली में 24 घंटों में 384 नए कोरोना मामले

kejriwalदेश में कोरोनावायरस का कहर लगातार बढ़ता ही जा रहा है. राजधानी दिल्ली में भी इसके मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. शनिवार को दिल्ली में कोरोना के मामलों में बड़ा उछाल दर्ज किया गया. पिछले 24 घंटों में यहां 384 नए मामले सामने आए जिसके बाद यहां संक्रमितों का आंकड़ा चार हजार के पार हो गया. यहां अब कोरोना के मामले बढ़ कर 4122 हो गए हैं.

ये हैं दिल्ली के 11 जिलों में 97 हॉटस्पॉट

दिल्ली में सभी 11 जिले रेड जोन में शामिल हैं। इन 11 जिलों में फिलहाल 97 हॉटस्पॉट हैं, जिनमें बड़ी संख्या में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज मिले हैं। केंद्रीय गृह मंत्रालय के मुताबिक, दिल्ली के सभी 11 जिले- साउथ-ईस्ट, सेंट्रल, नॉर्थ, साउथ, नॉर्थ-ईस्ट, वेस्ट, शहादरा, ईस्ट, नई दिल्ली, नॉर्थ वेस्ट, साउथ वेस्ट रेड जोन में रखे गए हैं। इस बीच शुक्रवार को मयूर ध्वज अपार्टमेंट रेड जोन की सूची से बाहर हुआ है।

दिल्ली में सभी 11 जिले 17 मई तक रेड जोन में रहेंगे

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन ने शनिवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में सभी 11 जिले 17 मई तक रेड जोन में रहेंगे. राष्ट्रीय राजधानी में शुक्रवार तक कोरोना वायरस के 3,738 मामले सामने आए थे और 61 लोगों की मौत हो चुकी थी. शुक्रवार को 223 नए मामले सामने आए.जैन के मुताबिक, 49 लोग आईसीयू में हैं और पांच लोग वेंटिलेटर पर हैं.सरकार ने शुक्रवार को घोषणा की थी कि देशभर में चार मई से दो और हफ्तों के लिए ‘‘सीमित” लॉकडाउन जारी रहेगा जिसमें हवाई सेवा, रेलगाड़ी और अंतरराज्यीय सड़क यात्रा प्रतिबंधित रहेगी. लेकिन जिलों को कोविड-19 के संभावित खतरे के आधार पर रेड, औरेंज और ग्रीन जोन में बांटकर कुछ गतिविधियों को अनुमति दी जाएगी.जैन ने कहा कि दिल्ली में सभी 11 जिले 17 मई तक रेड जोन में रहेंगे.उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘रेड जोन वह क्षेत्र है जहां कोरोना वायरस के दस से अधिक मामले होते हैं. केंद्र की तरफ से जिन राहत उपायों की घोषणा की गई है, वे लोगों को उपलब्ध कराए जाएंगे.”प्रवासी मजदूरों के दिल्ली से उनके घरों तक यात्रा के बारे में उन्होंने कहा कि सरकार दूसरे राज्यों से बात कर रही है.उन्होंने कहा, ‘‘हम आवश्यक साजो-सामान और चिकित्सकीय सहायता मुहैया कराएंगे.”

शराब की दुकानें  खोलने पर नए सिरे से विचार 

नई दिल्ली,  देश की राजधानी दिल्ली में शराब के शौकीनों के लिए जल्द ही बड़ी राहत की घोषण हो सकती है। मिली जानकारी के मुताबिक, दिल्ली में लंबे समय से बंद शराब की दुकानों को तीन मई के बाद खोलने की छूट कुछ शर्तों के साथ मिल मिलती है।दिल्ली सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, शराब की दुकानें  खोलने पर नए सिरे से विचार किया जा रहा है। इसका आधार केंद्रीय गृह मंत्रालय का शुक्रवार को जारी हुआ आदेश है, जिसकी शर्त के अनुसार रेड जोन घोषित जिले के कंटेनमेंट जोन को छोड़कर बाकी इलाके में छूट को लेकर राज्य सरकारें निर्णय ले सकती हैं।दरअसल, सरकार के पास राजस्व का बड़ा हिस्सा शराब की ब्रिकी से आता है। इंडियन अल्कोहलिक बेवरिज कंपनीज के महासचिव विनोद गिरि ने बताया कि हम सब शराब कारोबारियों को लॉकडाउन में बहुत नुकसान हो रहा है। इस मामले में सरकार को हमने शराब की ऑनलाइन ब्रिकी करने का प्रस्ताव भी दिया था।बता दें कि अन्य राज्यों की तरह ही दिल्ली में भी राजस्व का एक बड़ा जरिया शराब की बिक्री है। ऐसे में दिल्ली सरकार भी काफी दिनों से शराब की बिक्री को को लेकर बयान दे रही थी।गौरतलब है कि कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने के लिए देश भर में लॉकडाउन को अब दो हफ्तों के लिए बढ़ा दिया गया है। ऐसे में लॉकडाउन आगामी 17 मई तक लागू रहेगा। यह अलग बात है कि लॉकडाउन बढ़ाने के साथ उद्योग-धंधों और लोगों को कई तरह की राहत भी दी गई है। इनमें शराब की बिक्री को भी कुछ शर्तों के साथ सहमति दी गई है। इसके साथ ही पान मसाला, गुटखा और तंबाकू को बेचने की मंजूरी भी दी गई है। इसी के साथ एक बड़ी शर्त यह है कि कंटेनमेंट जोन में शराब की बिक्री पर पाबंदी रहेगी।

 

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *