Pages Navigation Menu

Breaking News

दिल्ली विधानसभा चुनाव में केजरीवाल की बंपर जीत

दिल्ली की 8 सीटों पर भाजपा की जीत, 5 का इजाफा 

कांग्रेस के 63 उम्मीदवारों की जमानत जब्त

उप मुख्यमंत्री सिसोदिया ने दिल्ली पुलिस को लेकर झूठ बोला…

manishरविवार को दिल्ली के जामिया नगर में हुई आगजनी के बाद सोशल मीडिया पर इस घटना को लेकर तीखी प्रतिक्रिया देखने को मिली।दिल्ली के डिप्टी सीएम सहित सैकड़ों लोगों ने एक वीडियो शेयर किया और आरोप लगाया कि दिल्ली पुलिस ही बसों में आग लगा रही है। दरअसल वीडियो में एक पुलिसकर्मी पीले रंग का डिब्बा लेकर बस के आखिरी सीटों में कुछ डालता हुआ नजर आ रहा था।जामिया हिंसा के इस वीडियो ने सोशल मीडिया पर बवाल खड़ा कर दिया। इस वीडियो क्लिप को ट्वीट करके दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने लिखा, “चुनाव में हार के डर से बीजेपी दिल्ली में आग लगवा रही है, आप किसी भी तरह की हिंसा के खिलाफ है. यह बीजेपी की घटिया राजनीति है इस वीडियो में खुद देखें कि किस तरह पुलिस के संरक्षण में आग लगाई जा रही है.”

आजतक ने की बस की पड़ताल

इस वीडियो के बाद दिल्ली पुलिस पर सवाल उठने शुरू हो गए. सैकड़ों लोगों ने दिल्ली पुलिस पर बस जलाने का आरोप लगाया. इस पूरी घटना की आजतक ने पड़ताल की.हमने उस वीडियो में दिख रही बस को ढूंढ निकाला जिसे आग लगाया गया था. ये बस हमें राजघाट डिपो में खड़ी मिली. बस चारों तरफ से टूटी थी और शीशे चकनाचूर थे. हालांकि पीछे की जिस सीट पर पुलिसकर्मी कुछ डालता हुआ नजर आ रहा था उस सीट का एक कोना का हल्का जला भी मिला. जब हम वहां पहुंचे तो सीट उस वक्त भी गीली थी. माना जा सकता है कि किसी ने पानी डालकर आग बुझाई होगी, इस वजह से सीट गीली है.

दिल्ली पुलिस का दावा

हालांकि, अभी भी ये साफ नहीं हो पाया है कि उस सीट में आग किसने लगाई. इसी बीच आजतक ने दिल्ली पुलिस के पीआरओ एमएस रंधावा से बात की. उन्होंने बताया कि 0299 नंबर कि इस बस में सीट पर चिंगारी से छोटी आग लगी थी जिसे दिल्ली पुलिस के जवान ने पानी से बुझाया था.

बस के ड्राइवर ने भी दिया बयान
इसी बीच उस बस को उस वक्त चला रहे ड्राइवर से भी आजतक ने बात की. बस के ड्राइवर का नाम रामस्वरूप है. रामस्वरूप ने भी दिल्ली पुलिस की बात को दोहराया. आजतक से बात करते हुए रामस्वरुप ने बताया कि पीले रंग की कैन को लेकर जो पुलिसकर्मी आया था उसने बस में लगी आग बुझाई थी.

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *