Pages Navigation Menu

Breaking News

भारत ने 45 दिनों में किया 12 मिसाइलों का सफल परीक्षण

पाकिस्तान संसद ने माना, हिंदुओं का कराया जा रहा जबरन धर्मातरण

सिनेमा हॉल, मल्टीप्लैक्स, इंटरटेनमेंट पार्क 15 अक्टूबर से खोलने की इजाजत

केजरीवाल सरकार के विज्ञापन में सिक्किम अलग देश, सिक्किम ने विरोध जताया

kejrieal leadदिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार की ओर से शनिवार (23 मई) को अखबारों में जारी एक विज्ञापन पर विवाद खड़ा हो गया। सिविल डिफेंस कोर में स्वयंसेवकों की भर्ती के लिए जारी इस विज्ञापन में पात्रता की शर्तों में सिक्किम की प्रजा होने की बात थी। सिक्किम ने इस पर सख्त विरोध जताया। दिल्ली के उपराज्यपाल ने इस पर कार्रवाई करते हुए देश की क्षेत्रीय अखंडता को अपमानित करने के लिए दिल्ली नागरिक सुरक्षा निदेशालय (दिल्ली सिविल डिफेंस) के मुख्यालय में कार्यरत के एक वरिष्ठ अधिकारी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।

दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजन ने शनिवार (23 मई) को ट्वीट कर यह जानकारी दी। उन्होंने लिखा, “निदेशालय में कार्यरत के एक वरिष्ठ अधिकारी को निलंबित कर दिया गया है क्योंकि उन्होंने एक विज्ञापन प्रकाशित किया था जिसमें सिक्किम को अलग देश बताया, जिससे देश की क्षेत्रीय अखंडता का अपमान हुआ है।” दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी इस मामले में गंभीरता दिखाते हुए लिखा, “सिक्किम भारत का अभिन्न हिस्सा है। इस तरह की गलती की बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। विज्ञापन को हटा लिया गया है और अधिकारी के खिलाफ कार्वाई की जा रही है।”भाजपा भी दिल्ली सरकार के विज्ञापन में सिक्किम को अलग देश बताने पर भड़क उठी। दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने सवाल उठाते हुए कहा कि अरविंद केजरीवाल को बताना चाहिए कि दिल्ली सरकार ने सिक्किम को अलग देश के रूप में क्यों दिखाया।

दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने अपने एक वीडियो संदेश में कहा, “आज जैसे ही सुबह अखबार उठाया। दिल्ली सरकार के एक विज्ञापन पर नजर पड़ी, जिसमें सिक्किम को एक अलग देश दिखा रहे हैं। एक प्रदेश की सरकार ऐसा कैसे कर सकती है। क्या वो इतनी अनाड़ी हो सकती है कि वो एक राज्य को स्वतंत्र देश दिखा दे। इतना बड़ा विज्ञापन जाने से पहले क्या इसे चूक माना जा सकता है। तो समझिए कितनी बड़ी-बड़ी चूक हो रही है। अरविंद केजरीवाल जी जागिए। आपने क्या किया है दिल्ली को बताइए। सवाल बड़ा है, बात बहुत दूर तक जाएगी।”

बता दें कि सिविल डिफेंस कोर में स्वयंसेवक के तौर पर भर्ती होने के लिए शनिवार को अखबारों में जारी विज्ञापन में केजरीवाल सरकार ने पात्रता की चार शर्तें तय कीं थीं। जिसमें पहली शर्त में कहा गया कि वह भारत का नागरिक हो या भूटान, नेपाल या सिक्किम की प्रजा हो तथा दिल्ली का निवासी हो। भाजपा का कहना है कि सिक्किम की प्रजा का उल्लेख करने से लगता है कि दिल्ली सरकार भारत के इस अभिन्न अंग को अलग देश मान रही है। जिस पर भाजपा के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी सहित कई नेताओं ने ट्वीट कर केजरीवाल सरकार से जवाब मांगा है।

Arvind Kejriwal

@ArvindKejriwal

Sikkim is an integral part of India. Such errors also cannot be tolerated. Advertisement has been withdrawn and action taken against the officer concerned. https://twitter.com/ltgovdelhi/status/1264200768514453504 

LG Delhi

@LtGovDelhi

 A senior officer of Directorate of Civil Defence (HQ) has been suspended with immediate effect for publishing an Advertisement which disrespects the territorial integrity of India by making incorrect reference to Sikkim on the same lines as some neighbouring countrie
Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *