Pages Navigation Menu

Breaking News

संघ कार्यालय पर संघी-कांग्रेसियों ने फहराया तिरंगा
पंपोर में मुठभेड़ में तीनों आतंकवादी मारे गए  
वाराणसी में केजरीवाल को दिखाए काले झंडे

ऑड-ईवन से लोग परेशान,ऑटो-टैक्सी वालों ने मचाई ‘ लूट ‘

Dummies Of Delhi CM Arvind Kejriwal Installed In City To Promote Odd-Even Campaignनई दिल्ली। दिल्ली में वाहनों से होने वाले वायु प्रदूषण से निपटने के लिए सोमवार से सम-विषम योजना लागू हो गई है।पहले दिन सड़कों पर केवल ऐसे निजी वाहन चल सकेंगे जिनके नंबर प्लेट की अंतिम संख्या सम संख्या हो।मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लोगों से अपील की है कि वे नियमों का पालन करें।लेकिन दूसरी ओर केजीरीवाल सरकार की ऑड-ईवन योजना लोगों के लिए परेशानी का कारण भी बन गई है।ऑटो—टैक्सी वालों ने नई दिल्ली रेलवे स्टेशन और बस अडडों पर किराए के नाम पर लूट मचा दी।लोगों से तीन तीन चार चार गुना किराया मांगा गया। लोगों को घंटों ऑटो—टैक्सी के लिए परेशान होना पडा।लोग नौकरी पर देर से पंहुचे।कारोबारियों को कारोबार करने में मुश्किल आई।खासतौर सीएनजी कार वालों में खासतौर पर गुस्सा देखने मिला हो। लोगों का कहना था कि सरकार ने पहले प्रदूषण कम होने के नाम पर लोगों से सीएनजी वाहन खरीदने के लिए प्रेरित किया और अब सरकार ने सीएनजी वाहन पर पाबंदी लगा दी। इस बार सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहन को छूट दी है। लोगों का कहना है कि यदि सरकार इसी तरह आए दिन अपनी नीतियां बदलेगी तो इससे हालात बद से बदत्तर होंगे। मेट्रों ट्रेन में लोगों की भीड समस्या बनी।

ऐसे लागू होगा नियम
दिल्ली में सम-विषम योजना सुबह आठ से शाम आठ बजे तक लागू रहेगी। रविवार को यह नियम लागू नहीं होगा। वाहन के आखिरी नंबर से तय होगा कि वह सड़क पर आ सकता है या नहीं। यदि गाड़ी का आखिरी नंबर 1, 3, 5, 7, 9 है तो यह 5, 7, 9, 11, 13, 15 नवंबर को सड़क पर चल सकती है। जबकि 2, 4, 6, 8 नंबर वाले वाहन 4, 6, 8, 10, 12 और 14 नवंबर को सड़कों पर चल सकेंगे।

इलेक्ट्रिक वाहन चलेंगे
महिला कार चालकों के साथ उनके 12 साल तक के बच्चों और स्कूल की वर्दी पहने बच्चों वाले वाहनों को छूट दी गई है। इसके अलावा इलेक्ट्रिक वाहनों, एंबुलेंस, पुलिस की गाड़ी, राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, राज्यपाल, लोकसभा स्पीकर, केंद्रीय मंत्री, प्रतिपक्ष के नेता, उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश, उपराज्यपाल, अन्य राज्यों के मुख्यमंत्री को योजना में शामिल नहीं किया गया है।

नियम तोड़ने पर सख्ती बढ़ी:यह योजना 15 नवंबर तक लागू रहेगी। सरकार ने नियम का उल्लंघन करने वालों पर इस बार सख्ती बढ़ा दी है। नियमों का पालन नहीं करने वाले वाहन चालकों पर चार हजार रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा।

दुपहिया वाहन दायरे में नहीं आएंगे: इस योजना से राजधानी के लगभग 70 लाख दुपहिया वाहनों को छूट रहेगी। इस बार सीएनजी कारों को छूट नहीं दी गई है। इसके चलते सार्वजनिक वाहनों में भीड़ बढ़ सकती है। सरकार ने दो हजार अतिरिक्त बसों की व्यवस्था का दावा किया है। इसके साथ ही मेट्रो के फेरों में भी बढ़ोतरी की जाएगी। दिल्ली के मुख्यमंत्री समेत उनकी कैबिनेट और सभी अधिकारी योजना के दायरे में रहेंगे।

ओला-उबर नहीं वसूलेंगी अधिक किराया : सम-विषम योजना के दौरान ऐप आधारित ओला-उबर जैसी कंपनियां टैक्सी में सफर करने वाले यात्रियों से सर्ज प्राइसिंग (मांग बढ़ने के साथ किराये में बढ़ोतरी) नहीं करेंगी। इसे लेकर कंपनियों की तरफ से घोषणा भी की जा चुकी है।

दो बार लागू हो चुकी है सम-विषम योजना : इससे पहले भी वर्ष 2016 में एक से 15 जनवरी और 16 से 30 अप्रैल तक दो बार सम-विषम योजना को लागू किया जा चुका है।उस दौरान भी दिल्ली-एनसीआर में वायु गुणवत्ता बेहद खराब हो गई थी।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *