Pages Navigation Menu

Breaking News

सीबीआई कोर्ट ;बाबरी विध्वंस पूर्व नियोजित घटना नहीं थी सभी 32 आरोपी बरी

कृष्ण जन्मभूमि विवाद- ईदगाह हटाने की याचिका खारिज

सिनेमा हॉल, मल्टीप्लैक्स, इंटरटेनमेंट पार्क 15 अक्टूबर से खोलने की इजाजत

जामिया हिंसा: 10 आरोपी गिरफ्तार, आपराधिक रिकॉर्ड, कोई छात्र नहीं

simiनई दिल्ली. जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी  के बाहर हुए 15 दिसंबर की रात को हुए बवाल में दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने 10 युवकों को गिरफ्तार किया है. पुलिस का कहना है कि सभी युवकों का आपराधिक रिकॉर्ड है.पुलिस ने मंगलवार को बताया कि आरोपियों को सोमवार की रात गिरफ्तार किया गया. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक गिरफ्तार किए गए लोगों में कोई भी छात्र नहीं है.हालांकि पुलिस ने साथ कहा है कि छात्रों को अभी क्लीन चिट नहीं दी गई है और मामले की जांच की जा रही है. वहीं पुलिस ने बवाल के दौरान बस जलाए जाने वाले मामले में आरोपी युवकों से पूछताछ शुरू कर दी है. दिल्ली पुलिस ने जिन युवकों को गिरफ्तार किया है उन पर रविवार रात हुए बवाल में शामिल होने का आरोप है. इन सभी आरोपियों की गिरफ्तारी सीसीटीवी फुटेज के आधार पर की गई है. हिंसा में चार सरकारी बसों को आग लगा दी गई थी. राहगीरों के वाहनों में भी तोड़फोड़ की गई थी. जिसके बाद पुलिस ने जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के छात्रों को लाठीचार्ज कर खदेड़ दिया था. आरोप है कि पुलिस ने यूनिवर्सिटी के अंदर तक घुसकर आंसू गैस के गोले दागे थे.जामिया में भड़की हिंसा को लेकर दिल्ली पुलिस ने सोमवार को दो केस दर्ज किए थे. पहला केस न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी और दूसरा मामला जामिया नगर थाने में दर्ज किया गया. पुलिस ने आगजनी, दंगा फैलाने, सरकारी संपत्ति को नुकसान और सरकार काम में बाधा पहुंचाने के तहत केस दर्ज किया है.

नदवा और डीयू में भी हुआ था विरोध-प्रदर्शन
जामिया हिंसा के बाद नदवा कॉलेज और दिल्ली यूनिवर्सिटी में भी विरोध-प्रदर्शन हुआ था. नदवा के गेट पर पथराव घटना हुई थी. वहीं डीयू के विरोध-प्रदर्शन को रोकने के लिए दिल्ली पुलिस और सीआरपीएफ के जवानों पर डीयू के अंदर दाखिल होने का भी आरोप लगा था.

कब और कैसे हुआ था प्रदर्शन?

दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता एमएस रंधावा ने कहा कि शनिवार को जामिया के छात्र और स्थानीय लोग इकट्ठा हुए थे. भीड़ सरायजुलैना से आगे बढ़ रही थी. इस दौरान कुछ लोग माता मंदिर मार्ग पर पहुंच गए और तोड़फोड़ शुरू कर दी. बस को आग लगा दी गई थी. हम उन्हें वापस खदेड़ने लगे थे, इस दौरान होली फैमिली के पास पथराव हुआ.दिल्ली पुलिस की ओर से कहा गया कि कैंपस के पास पथराव हुआ. इसके बाद भीड़ को जामिया में पुश किया गया था. प्रदर्शनकारियों ने 4 डीटीसी बस को आग लगा दी गई. 100 से अधिक प्राइवेट वाहनों को निशाना बनाया गया, जिसमें चार दो पहिया वाहन शामिल हैं.

कितने हुए घायल?

इस हिंसा में दिल्ली पुलिस के 30 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं. एक पुलिसकर्मी आईसीयू में है. दो SHO को फ्रैक्चर हुआ. कुछ स्टूडेंट को हिरासत में लिया गया था, जिन्हें पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया. दिल्ली पुलिस ने कहा कि किसी भी तरह की अफवाह में ना आएं और कुछ भी पुलिस से कन्फर्म कर लें.

पीछा करते हुए कैंपस में चले गए थे पुलिसकर्मी

दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता ने कहा कि एक्शन उन्हीं के खिलाफ लिया जाएगा, जो इसमें शामिल हैं. हमने एक्शन में कम से कम पुलिस का इस्तेमाल किया है. दिल्ली पुलिस की ओर से कहा गया कि जब हमने प्रदर्शनकारियों को धकेलना शुरू किया, तो दोनों तरफ से पथराव हुआ. तभी कुछ पुलिसवाले उनका पीछा करते हुए कैंपस में भी गए थे, हालांकि अभी इस मामले की जांच हो रही है.

आखिर क्या हुआ था जामिया में उस दिन? आपको बताते हैं पूरा घटनाक्रम-

11:15 am – पुलिस को इंफॉर्मेशन मिली कि मथुरा रोड पर प्रोटेस्ट होने वाला है. टियर गैस के साथ पुलिस मौके पर रवाना हो गई.

02:10 pm – पुलिस के मुताबिक करीब 3000 प्रदर्शनकारी डंडों के साथ जुटे. पुलिस ने उन्हें चेतावनी दी.

03:20 pm – पुलिस के मुताबिक करीब 4000 लोग सराय जुलेना की तरफ बढ़े.

03:40 pm – प्रदर्शनकारी माता मंदिर रोड की तरफ रवाना हुए.

04:00 pm – प्रदर्शनकारियों ने गमले और दूसरी चीज सड़क पर रखी. भीड़ का एक बड़ा हिस्सा आश्रम की तरफ रवाना.

04:30 pm – भीड़ ने पब्लिक और पुलिस पर पथराव शुरू किया. पुलिस के मुताबिक कुछ के पास पेट्रोल बम जैसी चीज़ें थी.

04:32 pm – पुलिस के मुताबिक प्रदर्शनकारियों ने माता मंदिर रोड पर एक बस में आग लगाई.

04:35 pm – भीड़ ने 3 बसों में आग लगाई. एक प्राइवेट वैगन आर कार को जलाया. एक बाइक में आग लगाई. पुलिस पर पथराव शुरू. 6 बसों में तोड़ फोड़ की गई.

04:50 pm – प्रदर्शनकारियों ने आम लोगों पर पथराव जारी रखा. जवाब में पुलिस ने आंसू गैस के गोले चलाए और लाठी चार्ज किया.

05:05 pm – भरत नगर इलाके में प्रदर्शनकारियों ने दो बसों में तोड़ फोड़ की.

05:30 pm – भीड़ जामिया की तरफ रवाना हो गई.

06:00 pm – प्रदर्शनकारी जामिया यूनिवर्सिटी के गेट नंबर 4, 7 और 8 पर जुटे.

07:00 pm – प्रदर्शनकारी जामिया यूनिवर्सिटी के कैंपस में घुस गए. प्रदर्शनकारियों ने वहां पर मौजूद पुलिस पर पथराव किया. एम्बुलेंस तोड़ी. टायर जलाए. पुलिस, प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए जामिया यूनिवर्सिटी कैंपस में जा घुसी. इस दौरान पुलिस की कार्रवाई में कई छात्र और प्रदर्शनकारी घायल हुए.

07:30 pm – कब्रिस्तान चौक पर मौजूद पुलिस चौकी में आग लगाई गई.

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *