Pages Navigation Menu

Breaking News

कोरोना वायरस; अच्‍छी खबर, भारत में ठीक हुए 100 मरीज

1.7 लाख करोड़ का कोरोना पैकेज, वित्त मंत्री की 15 प्रमुख घोषणाएं

भारतीय वैज्ञानिक ने तैयार की कोरोना वायरस टेस्टिंग किट

दिल्ली हिंसा : 123 एफआईआर दर्ज, 630 लोग गिरफ्तार

Delhi-riots-770x433दिल्ली हिंसा में मृतकों की संख्या शुक्रवार को बढ़कर 42 पहुंच गई। धुएं का गुबार छंटने के बाद शहर में तीन दशक के सबसे बुरे हिंसा से हुआ वास्तविक नुकसान अब सामने आ रहा है। वहीं आशंकाओं के बीच लोग काम के लिए घरों से बाहर निकलते दिखे और हिंसा प्रभावित इलाकों में कुछ दुकानें एवं अन्य प्रतिष्ठान भी खुले। निगम कर्मी जहां चार दिन की हिंसा के बाद उत्तर-पूर्व दिल्ली की सड़कों एवं गलियों से पत्थर, कांच के टुकड़े और मलबे साफ करते दिखे वहीं कुछ दुकानदार अपनी जली हुई और टूटी-फूटी दुकानों का मायूसी से मुआयना करते नजर आए। पुलिस और अर्द्धसैनिक बल के कर्मी मस्जिदों में जुमे की नमाज के मद्देनजर सख्त चौकसी बरतते नजर आए।

123 एफआईआर दर्ज, 630 लोग गिरफ्तार

दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर दर्ज मामलों की संख्या शुक्रवार (28 फरवरी) शाम तक पिछले 24 घंटों में दोगुने से भी ज्यादा बढ़कर 123 हो गई है, जबकि 630 लोगों को गिरफ्तार किया गया है या हिरासत में रखा गया है। दिल्ली पुलिस ने यह जानकारी दी है। दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता मनदीप सिंह रंधावा ने कहा, “हमने दिल्ली हिंसा को लेकर कुल 123 प्राथमिकी दर्ज किया है तथा 630 लोगों को गिरफ्तार किया गया है या फिर हिरासत में लिया गया है।” गुरुवार (27 फरवरी) शाम तक 48 प्राथमिकी दर्ज किए गए थे। प्रवक्ता मनदीप सिंह रंधावा ने कहा कि फॉरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला दलों को बुलाया गया है और अपराध के दृश्यों का फिर से मुआयना किया जा रहा है।

दिल्ली हिंसा में मरने वालों का आंकड़ा 42 पर पहुंचा
दिल्ली के गुरु तेग बहादुर अस्पताल में शुक्रवार (28 फरवरी) को चार और लोगों की मौत के साथ सांप्रदायिक हिंसा में मरने वालों की संख्या बढ़कर 42 हो गई है। गुरुवार (27 फरवरी) तक मृतकों की संख्या 38 थी। अब तक गुरु तेग बहादुर अस्पताल में 38, लोक नायक जयप्रकाश अस्पताल में तीन और जग प्रवेश चंद्र अस्पताल में एक व्यक्ति की मौत हुई है।

दिल्ली के उत्तर पूर्वी जिले के दंगा प्रभावित क्षेत्रों में सोमवार (24 फरवरी) से शांति बहाली के लिए सैंकड़ों पुलिसकर्मियों के साथ अर्धसैनिक बलों के लगभग सात हजार जवानों की तैनाती की गई है। सांप्रदायिक दंगों में ढाई सौ से अधिक लोग घायल हुए हैं। दंगा प्रभावित मुख्य क्षेत्रों में जाफराबाद, मौजपुर, चाँद बाग, खुरेजी खास और भजनपुरा शामिल हैं।

उपराज्यपाल ने किया हिंसा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा
उपराज्यपाल अनिल बैजल ने शुक्रवार (28 फरवरी) को स्थिति का जायजा लेने के लिए उत्तरपूर्वी दिल्ली में दंगा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया और स्थानीय लोगों से बातचीत की। एक अधिकारी ने बताया कि बैजल ने मौजपुर, जाफराबाद और गोकलपुरी का दौरा किया। उनके साथ वरिष्ठ पुलिस अधिकारी भी थे। सोमवार (24 फरवरी) को हिंसा भड़कने के बाद दंगा प्रभावित इलाकों में उपराज्यपाल का यह पहला दौरा है। इसके पहले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने हिंसा प्रभावित इलाकों का दौरा किया था।

 

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *