Pages Navigation Menu

Breaking News

लद्दाख का पूरा हिस्सा, भारत का मस्तक है; प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की तारीख 30 नवंबर तक 

टिक टॉक सहित 59 चायनीज ऐप पर प्रतिबंध

अमित शाह का रोड शो, देखने के लिए उमड़ी भीड़

Amit-Shah-Delhi-23-1-2020नई दिल्ली,। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह मोतीनगर में रोड शो कर लोगों से समर्थन मांग रहे हैं। दिल्ली का चुनाव अब काफी रोमांचक मोड़ पर आ गया है। अमित शाह जहां मोतीनगर में रैली कर लोगों से समर्थन मांग रहे हैं। वहीं इससे पहले पीएम ने द्वारका में रैली कर केजरीवाल सरकार पर निशाना साधा है। इससे पहले, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को कई विधानसभा क्षेत्र में रैली कर विरोधियों पर निशाना साधा। उन्होंने राष्ट्रवाद के मुद्दे पर आप और कांग्रेस पर हमला किया।

उन्होंने कहा कि यह चुनाव सिर्फ प्रत्याशी और पार्टियों के बीच का नहीं है। यह दो विचारधाराओं का चुनाव है। एक तरफ राहुल गांधी और केजरीवाल की विचारधारा है, जो कहते हैं वी-आर-विद शाहीन बाग। दूसरी तरफ भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की विचारधारा है, जो देश की आन-बान और शान बरकरार रखने के लिए कुछ भी करने के लिए तैयार हैं। शाह सोमवार को मुंडका विधानसभा क्षेत्र में प्रत्याशी मास्टर आजाद सिंह और ग्रेटर कैलाश विधानसभा क्षेत्र प्रत्याशी शिखा राय के समर्थन में जनसभा को संबोधित कर रहे थे।उन्होंने कहा कि आप सरकार ने विकास के नाम पर झूठ बोलकर जनता को धोखा देने के काम किया है। पिछले चुनाव में किए गए वादों को लेकर जब हम मुख्यमंत्री अर¨वद केजरीवाल से सवाल करते हैं, तो वह हर सवाल को दिल्ली का अपमान बताते हैं। सवालों का जवाब देने के बजाय केजरीवाल जनता को गुमराह कर रहे हैं। यमुना नदी की सफाई के मसले पर भी उन्होंने निशाना साधा कहा अगर सफाई देखनी है तो जाकर प्रयागराज में देखो, जहां योगी जी और मोदी जी ने गंगा को स्वच्छ निर्मल बनाने का वादा सच करके दिखाया है। आयुष्मान भारत जैसी योजना से दिल्ली के गरीबों को वंचित रखा।

अयोध्या में राम मंदिर बनने और जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के फैसले का जिक्र किया। अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित करने का फैसला लेकर 50 लाख से ज्यादा लोगों को घर का मालिकाना हक दिया है। सीएए और एनआरसी से किसी की नागरिकता नहीं जाएगी। यह कानून सिर्फ नागरिकता देने के लिए है। वैसे तो केजरीवाल बात-बात पर ट्विट करते रहते हैं लेकिन शरजील इमाम और शाहीन बाग पर इनसे सवाल पूछे जाते हैं तो चुप हो जाते हैं।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *