Pages Navigation Menu

Breaking News

लद्दाख का पूरा हिस्सा, भारत का मस्तक है; प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की तारीख 30 नवंबर तक 

टिक टॉक सहित 59 चायनीज ऐप पर प्रतिबंध

दिल्ली हिंसा; ताहिर हुसैन ने गिरफ्तार, भाई की तलाश

tahir-hussain-video_202002146676दिल्ली हिंसा से जुड़े तीन मामलों में आरोपी पार्षद ताहिर हुसैन को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच टीम ने गिरफ्तार कर लिया है. दरअसल, ताहिर ने  राउज एवेन्यू कोर्ट नें सरेंडर अर्जी लगाई थी. इस पर जज ने कहा कि इस अर्जी पर सुनवाई का जुरीडिक्शन नहीं बनता है और अर्जी खारिज कर दी गई. इसके बाद ताहिर को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.इससे पहले सरेंडर अर्जी पर सुनवाई के दौरान ताहिर हुसैन के वकील ने कहा कि कोर्ट या तो कोई ऑर्डर कर दे या फिर किसी दूसरी कोर्ट में अर्जी को ट्रांसफर कर दे. जज ने कहा कि यह हमारे जुरीडिक्शन में नहीं आता है. इसके बाद ताहिर जैसे ही कोर्ट की पार्किंग में गया, उसे क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार कर लिया. ताहिर हुसैन से क्राइम ब्रांच के दफ्तर में पूछताछ की जा रही है.

ताहिर हुसैन के भाई की भी हो रही तलाश

पुलिस ताहिर हुसैन के सौतेले भाई शाह आलम को भी तलाश रही है. शाह आलम पर चांद बाग में भड़की हिंसा में शामिल होने के आरोप हैं. हालांकि शाह आलम के खिलाफ कोई एफआईआर दर्ज नहीं है. क्राइम ब्रांच की पूछताछ में शाह आलम का नाम भी सामने आ रहा है.क्राइम ब्रांच के सूत्रों का दावा है कि शाह आलम भी 24 फरवरी को चांद बाग की उसी इमारत में था. जिन गवाहों के बयान क्राइम ब्रांच ने लिए हैं, उन्होंने शाह आलम के नाम का जिक्रकिया है. पुलिस शाह आलम से पूछताछ करना चाहती है.

सरेंडर से पहले आजतक से की खास बातचीत

आरोपी पार्षद ताहिर हुसैन को राउज एवेन्यू कोर्ट की पार्किंग से कार में बैठाकर क्राइम ब्रांच की टीम रवाना हो गई है. उसके क्राइम ब्रांच के ऑफिस में ले जाया जा रहा है, जहां उससे पूछताछ की जाएगी. सरेंडर अर्जी दाखिल करने के बाद ताहिर हुसैन ने आजतक से खास बातचीत की थी.

इंटरव्यू देखकर कोर्ट पहुंची क्राइम ब्रांच की टीम

ताहिर हुसैन को आजतक पर देखकर दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच टीम हरकत में आ गई थी. इसके बाद आनन-फानन में टीम के सदस्य राउज एवेन्यू कोर्ट पहुंचे. इस बीच ताहिर हुसैन कोर्ट में पहुंच गया, जहां उसकी अर्जी पर सुनवाई होनी थी. जज ने उसकी अर्जी पर कहा कि यह हमारा अधिकार नहीं है. फिर अर्जी खारिज कर दी गई.

ताहिर के उपर दर्ज हैं तीन केस

इसके बाद राउज एवेन्यू कोर्ट की पार्किंग में ताहिर हुसैन पहुंचा. तभी वहां पहले से मौजूद क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने उसे पकड़ लिया. अब उससे पूछताछ की जाएगी. ताहिर का नाम दिल्ली हिंसा से जुड़े तीन मामलों में दर्ज है. उसकी तलाश कई दिनों से टीम कर रही थी, लेकिन वह फरार था.

अंकित शर्मा की हत्या में आरोपी

ताहिर के उपर दर्ज तीन केस में से एक केस इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) कर्मचारी अंकित शर्मा का भी है. आरोप है कि ताहिर हुसैन के मकान में अंकित शर्मा की हत्या की गई थी. उस पर चाकुओं से अनगिनत वार किए गए थे. हालांकि, साफ नहीं है कि उस समय ताहिर मौके पर था या नहीं.

ताहिर ने आरोपों को किया खारिज

सरेंडर अर्जी दाखिल करने के बाद ताहिर हुसैन ने आजतक से खास बातचीत की थी. इस दौरान उसने सभी आरोपों को खारिज करते हुए कहा था कि मैं डरा हुआ था, इसलिए मैंने सरेंडर नहीं किया. उसने कहा कि मैं निष्पक्ष और ईमानदार जांच के लिए तैयार हूं. मैं नारको टेस्ट के लिए तैयार हूं.

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *