Pages Navigation Menu

Breaking News

संघ कार्यालय पर संघी-कांग्रेसियों ने फहराया तिरंगा
पंपोर में मुठभेड़ में तीनों आतंकवादी मारे गए  
वाराणसी में केजरीवाल को दिखाए काले झंडे

‘इयरफ़ोन’ ने ले ली 13 स्कूली बच्चों की जान?

ear phoneउत्तर प्रदेश के कुशीनगर में ट्रेन और स्कूल बस की टक्कर में 13 बच्चों की मौत हो गई है और आठ लोग गंभीर रूप से घायल हैं. बताया जा रहा है कि मानव रहित रेलवे क्रॉसिंग को पार करते समय स्कूल बस चला रहा ड्राइवर ट्रेन की आवाज़ नहीं सुन पाया और ये भीषण हादसा हो गया.

घटनास्थल पर पहुंचे यूपी के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने भी कहा है कि ड्राइवर की ये लापरवाही गंभीर है कि उसने कान में ईयरफ़ोन लगा रखा था और उसकी उम्र को भी लेकर सवाल उठ रहे हैं. मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि दोषियों के ख़िलाफ़ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.घटनास्थल पर मौजूद कुछ प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक वैन के ड्राइवर ने रेलवे क्रॉसिंग के पास मौजूद एक व्यक्ति की ट्रेन आने संबंधी चेतावनी को भी अनसुना कर दिया, जिसकी वजह से ये हादसा हुआ.

कुशीनगर के ज़िलाधिकारी अनिल कुमार सिंह के मुताबिक घटना सुबह क़रीब साढ़े सात बजे की है जब डिवाइन पब्लिक स्कूल की वैन बच्चों को लेकर स्कूल जा रही थी. रेलवे लाइन पार करते वक़्त ये हादसा हुआ.बताया जा रहा है कि वैन में करीब 25 बच्चे सवार थे. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक हादसा इतना भयानक था कि आवाज़ें दूर-दूर तक सुनी गईं और वैन के परखच्चे उड़ गए.

मौक़े पर मौजूद लोगों ने पुलिस और प्रशासन को सूचना दी. यूपी के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने हादसे पर शोक व्यक्त किया और तत्काल घटनास्थल के लिए रवाना हो गए. मुख्यमंत्री ने हादसे में मारे गए बच्चों के परिजनों को दो लाख रुपये मुआवज़ा दिए जाने की घोषणा की.उत्तर प्रदेश में इससे पहले भी ऐसी लापरवाही के चलते कई हादसे हो चुके हैं. साल 2016 में भदोही के पास बच्चों से भरी स्‍कूल वैन ट्रेन की चपेट में आ गई थी जिसमें 10 बच्चों की मौत हो गई थी.कुछ दिन पहले ही हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा ज़िले के नूरपुर में भी एक स्कूल बस दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी जिसमें 27 लोगों की मौत हो गई.मरने वालों में ज़्यादातर बच्चे थे. बस में लगभग 60 बच्चे सवार थे.भारत में सड़क हादसे सामान्य हैं. अक्सर ख़राब ड्राइविंग और बदहाल सड़कों की वजह से सड़क हादसे होते हैं और लोगों की जान जाती है

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *