Pages Navigation Menu

Breaking News

लव जेहाद: उत्तर प्रदेश में 10 साल की सजा का प्रावधान

पाकिस्तान संसद ने माना, हिंदुओं का कराया जा रहा जबरन धर्मातरण

जम्‍मू-कश्‍मीर में 25 हजार करोड़ का भूमि घोटाला

भोपाल में कोरोना पॉजिटव पत्रकार के खिलाफ FIR दर्ज

freepressjournal_2020-03_31af9161-3b8a-4da4-a760-5cb4cc89f229_PTI20_03_2020_000114Bभोपाल मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की प्रेस कॉन्फ्रेंस में शामिल होने वाले और बाद में कोरोना पॉजिटिव पाए गए पत्रकार के खिलाफ FIR दर्ज की गई है। बतौर मुख्यमंत्री कमलनाथ की आखिरी प्रेस कॉन्फ्रेंस में वह शामिल हुए थे। दरअसल पत्रकार की बेटी लंदन से लौटी थी और वह कोरोना पॉजिटिव पाई गई। बाद में पत्रकार में भी कोरोना वायरस की पुष्टि हुई। इस खबर के बाद पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने खुद को आइसोलेट कर लिया।पत्रकार एक सम्मानित और जागरूक नागरिक माना जाता है ,उससे बीमारी के रोकथाम की आशा की जाती है न की छिपाकर दूसरो को संक्रमित करना ,,पत्रकार का कृत्य निंदनीय है,सीएम हाउस में हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में दिग्विजय सिंह, कांग्रेस के सभी विधायक और प्रदेश के वरिष्ठ अधिकारियों समेत करीब 200 पत्रकार मौजूद थे। ऐसे में कई अन्य पत्रकारों ने भी खुद को आइसोलेट किया है। दरअसल कोरोना को राष्ट्रीय आपदा घोषित किया गया है साथ ही इसके संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए देशभर में लॉकडाउन किया गया है।
वर्तमान में पिता और पुत्री दोनों इलाज के लिए भोपाल के एम्स में भर्ती हैं। भोपाल पुलिस के प्रवक्ता ने बताया कि शहर के श्यामला हिल्स पुलिस थाने में शुक्रवार रात इस पत्रकार के खिलाफ भादंवि की धारा 188 (सरकारी सेवक के कानूनी आदेश की अवहेलना), धारा 269 (उपेक्षापूर्ण कार्य जिससे जीवन के लिए संकटपूर्ण रोग का संक्रमण फैलना संभाव्य हो), धारा 270 (परिद्वेषपूर्ण कार्य, जिससे जीवन के लिए संकटपूर्ण रोग का संक्रमण फैलना संभाव्य हो) के तहत मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस महामारी से संबंधित सरकार के प्रतिबंधात्मक आदेश का उल्लंघन करने पर पत्रकार के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

18 मार्च को पत्रकार की बेटी के लंदन से भोपाल आने पर परिवार को घर में पृथक (होम क्वारेंटाइन) की सलाह दी गई। लेकिन उसके आने के दो दिन बाद ही, 20 मार्च को पत्रकार ने मुख्यमंत्री निवास में तत्कालीन मुख्यमंत्री कमलनाथ की पत्रकार प्रेसवार्ता में हिस्सा लिया। इस प्रेसवार्ता में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने पद से त्यागपत्र देने की घोषणा की थी। इसके बाद, पत्रकार की बेटी में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई। दो दिन बाद ही उक्त पत्रकार में भी कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई। इस घटनाक्रम के बाद यहां मीडिया जगत में घबराहट फैल गई क्योंकि इस प्रेसवार्ता में देश और प्रदेश के कई मीडियकर्मी, नेता और वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

लंदन से लौटी थी बेटी

जानकारी के मुताबिक कोरोना पॉजिटिव पत्रकार की 26 वर्षीय बेटी 17 मार्च को लंदन से दिल्ली पहुंची थी। आईजीआई एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग के बाद डॉक्टर्स ने उसे फिट घोषित किया। इससे बाद वह शताब्दी एक्सप्रेस से भोपाल आई। परिजनों ने कलेक्टर तरुण पिथौड़े से बात कर बेटी की दोबारा कोरोना जांच की मांग की। इस पर जेपी अस्पताल के डॉक्टर्स की टीम ने घर पहुंचकर लड़की के थ्रोट के सुआब का नमूना लिया। जांच रिपोर्ट आने पर वो पॉजिटिव निकली।

खबर लिखे जाने तक मध्य प्रदेश में कोरोना के 33 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें से 19 मामले केवल इंदौर जिले में हैं। शुक्रवार तक के अपडेट के मुताबक शाम को चार नए केस आए। इसमें से तीन मरीज इंदौर के और एक मरीज उज्जैन का है। राज्य में कोरोना की वजह से दो बुजुर्गों की मौत भी हो चुकी है। देश में अब तक कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या 20 पहुंच गई है।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *