Pages Navigation Menu

Breaking News

सीबीआई कोर्ट ;बाबरी विध्वंस पूर्व नियोजित घटना नहीं थी सभी 32 आरोपी बरी

कृष्ण जन्मभूमि विवाद- ईदगाह हटाने की याचिका खारिज

सिनेमा हॉल, मल्टीप्लैक्स, इंटरटेनमेंट पार्क 15 अक्टूबर से खोलने की इजाजत

अदालत ने 51 विदेशी और देशी जमातियों को जेल भेजा

Nizamuddin-markazभोपाल. भोपाल में धर्म प्रचार और लॉक़डाउन का उल्लंघन कर मस्जिदों में छिपे देश और विदेश के 51 जमातियों को आज भोपाल पुलिस ने जिला अदालत में पेश किया। सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए मजिस्ट्रेट सुरेश शर्मा ने सभी 51 आरोपियों से एक एक करके उनका नाम और पिता का नाम पूछा। इसके बाद कोर्ट के बाबू और कोर्ट मुंशी ने अदालत की आदेश पत्रिका में आरोपी के हस्ताक्षर करवाये। पूरी कार्रवाई होने के बाद मजिस्ट्रेट ने श्यामला हिल्स थाने के 14, ऐशबाग थाने के 23 और पिपलानी थाने के 14 जमातियों को जेल भेजने के आदेश दिये। मजिस्ट्रेट सुरेश शर्मा की कोर्ट में पुलिस ने बताया कि इस मामले में गिरफ्तार किये गये विदेशी जमतियों के खिलाफ भारतीय दंड विधान की धारा 188, 269, 270 और 51 राष्ट्रीय आपदा अधिनियम का मामला दर्ज किया गया है। विदेशी जमातियों पर इन धाराओं के अलावा विदेशी विषयक अधिनियम 1946 की धारा 13 और 14 भी लगाई गई है और उनके पासपोर्ट जब्त किये गये है।

सभी जमाती दिल्ली में निजामुद्दीन की मरकज से भोपाल आए थे। विदेश से आए जमाती टूरिस्ट वीजा पर भारत आए थे। जमातियों पर वीजा का दुरुपयोग का भी आरोप है। गिरफ्तारी के बाद करीब 40 विदेशी जमातियों में कोरोनावायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई थी। इसके बाद इन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। स्वस्थ्य होने और क्वारैंटाइन पीरियड पूरा करने के बाद आज इन्हें जिला अदालत में पेश किया गया था। दिल्ली की मरकज से लौटे इन जमातियों को भोपाल में कोरोनावायरस का संक्रमण फैलाए जाने का जिम्मेदार भी माना जा रहा है। गुरुवार को 18 जमातीयों को अदालत ने 14 दिन की न्यायायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। इन जमातीयों की जमानत पर भी आज कोर्ट में सुनवाई होनी है। कोरोना महामारी को देखते हुए शासन ने एडवायजरी जारी कर धार्मिक स्थलों पर कार्यक्रमों को  प्रतिबंधित किया है। इसके बावजूद विदेशी जमातों को  मस्जिदों में ठहराकर धार्मिक गतिविधियां की जा रही थीं। आज कोर्ट में पेश किए जाने वाले जमातियों को 28 अप्रैल से हमीदिया रोड स्थित एक होटल में क्वारैंटाइन किया गया है। इससे पहले इन्हें हज हाउस में रखा गया था। लेकिन, हज हाउस में कुछ जमातियों के संक्रमित हो जाने के बाद इन्हें शहर की अलग-अलग होटलों में शिफ्ट किया गया था। आज जिन जमातीयों को अदालत में पेश किया जाएगा उनमें म्यांमार, अफ़्रीका और  बांग्लादेश का बताया जा रहा है।
गुरुवार को 18 को जेल भेजा

  • कोरोना वायरस का संक्रमण को फैलाने और लॉकडाउन का उल्लंघन किए जाने के आरोप में मजिस्टे्रट आशीष परसाई ने कजाकिस्तान उजबेकिस्तान, दक्षिण अफ्रीका , तंजानिया के अलावा बिहार, महारष्ट्र और हरियाणा की जमात में शामिल 18  व्यक्तियों को जमानत  अर्जी  निरस्त कर 27 मई तक पुरानी जेल भेज दिया है। पुलिस ने इन जमातियों को  गुरुवार को  कड़ी सुरक्षा व्यवस्था में कोर्ट में पेश किया  था।
  • तलैया थाना पुलिस ने  मस्जिद  ईसा सेठ इतवारा में और  मंगलवारा थाना पुलिस  ने मस्जिद मोमीनान छावनी में दिल्ली मरकज से आकर बिना पुलिस को सूचना दिए ठहराए गए विदेशी जमातों के  सदस्यों और मस्जिद कमेटियों के लोगों के खिलाफ धारा -188, 269, 270 आईपीसी, 51 राष्ट्रीय आपदा अधिनियम और विदेशी विषयक अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज  किया है।
  • पुलिस ने हारुब शबानी ,मुनीब, मोगामत, फ ोडे,कोम्ंबो, मुबारका,परवेज आलम ,मोहम्मद परवेज, हारुन ,साजिद करीम, करीम उल्लाह, नूर बेग, कनात बेग ,मस्कत, कादर बेग, कमाल उद्दीन  और मदियार को मजिस्टे्रट प्रथम श्रेणी आशीष परसाई की कोर्ट में पेश किया था।
Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *