Pages Navigation Menu

Breaking News

संघ कार्यालय पर संघी-कांग्रेसियों ने फहराया तिरंगा
पंपोर में मुठभेड़ में तीनों आतंकवादी मारे गए  
वाराणसी में केजरीवाल को दिखाए काले झंडे

GST के विरोध में 50,000 दुकानें बंद

gstनोएडा। उत्तर प्रदेश उद्ययोग व्यापार प्रतिनिधि मण्डल नोएडा इकाई की जीएसटी की विसंगतियों के सन्दर्भ में एक बैठक बुधवार को नोएडा सेक्टर-66 पंजाब नेशनल बैंक भवन कार्यालय में जिला अध्यक्ष नरेश कुच्छल के नेतृत्व में हुई। जिसमे निर्णय लिया गया कि जीएसटी में कई ऐसे खामियां है जिन्हें दूर किया जाए। इसको लेकर 30 जून को दुकाने बंद रखी जाएंगी।

नई दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी में जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) के विरोध में मंगलवार को कपड़ों की करीब 50,000 थोक दूकानें बंद रहीं। जीएसटी को एक जुलाई से लागू किया जा रहा है। थोक कपड़ा व्यापारियों के संगठन, दिल्ली हिन्दुस्तानी कपड़ा संघ के उपाध्यक्ष भगवान बंसल ने कहा कि जीएसटी से छूट के लिए की जा रही कपड़ा व्यापारियों की यह राष्ट्रीय हड़ताल गुरुवार तक जारी रहेगी।

उन्होंने कहा यहां चांदनी चौक पर हजारों कपड़ा व्यापारी जुटेंगे और जीएसटी के खिलाफ आवाज उठाएंगे। बंसल ने कपड़ा व्यापारियों के लिए जीएसटी से एक साल की छूट देने की मांग की और कहा कि जीएसटी लागू करने से पहले कपड़ा व्यापारियों को पहले विधिवत प्रशिक्षण मुहैया कराना चाहिए। बंसल ने कहा कि कपड़ा व्यापारी जीएसटी शासन से परिचित नहीं हैं।

उन्होंने कहा कि सरकार को इस कर नीति को लागू करने की इतनी जल्दी क्यों है। बंसल ने कहा कि केंद्र सरकार जीएसटी को लागू करने की अपनी नीति के बारे में स्पष्ट नहीं है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर केंद्र सरकार उनकी मांगों पर ध्यान नहीं देती है तो वे हड़ताल को अनिश्चित समय तक जारी रखेंगे। सरकार ने जीएसटी के तहत रेडीमेड कपड़ों पर 12 फीसदी का कर लगाया है। इसके अलावा प्राकृतिक यार्न और कपास पर पांच फीसदी तथा कृत्रिम यार्न पर 18 फीसदी कर लगाया है।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *