Pages Navigation Menu

Breaking News

सीबीआई कोर्ट ;बाबरी विध्वंस पूर्व नियोजित घटना नहीं थी सभी 32 आरोपी बरी

कृष्ण जन्मभूमि विवाद- ईदगाह हटाने की याचिका खारिज

सिनेमा हॉल, मल्टीप्लैक्स, इंटरटेनमेंट पार्क 15 अक्टूबर से खोलने की इजाजत

कोरोना वायरस से निपटने के लिए युद्धस्तर पर तैयारी

china-virus2नई दिल्ली दिल्ली-एनसीआर में कोरोना वायरस के संक्रमण का एक और नया मामला सामने आया है। गुरुग्राम में पेटीएम के एक कर्मचारी के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। इसे मिलाकर देशभर में अबतक कोरोना वायरस से संक्रमण के 29 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें से 3 मरीज इलाज के बाद पूरी तरह स्वस्थ हो चुके हैं। स्थिति की गंभीरता का अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि खुद प्रधानमंत्री हर दिन हालात की समीक्षा कर रहे हैं। इस वायरस से दुनिया भर 3,000 लोगों की जान जा चुकी है और 90,000 से अधिक लोग इससे संक्रमित हैं। दूसरी ओर, विश्व बैंक ने कोरोनोवायरस से बुरी तरह प्रभावित देशों की मदद करने के लिए 12 अरब डॉलर के सहायता पैकेज की घोषणा की है।

अब सिर्फ पुणे नहीं, 15 अन्य जगहों पर लैब शुरू
बुधवार को पीएम मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय कैबिनेट की बैठक हुई जिसमें कोरोना वायरस से पैदा हुए हालात पर चर्चा की गई। कैबिनेट की बैठक के बाद जावड़ेकर ने बताया कि पड़ोसी देशों नेपाल, भूटान और म्यांमार से लगी सीमा से भारत आने वाले दस लाख से अधिक लोगों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है। उन्होंने कोरोना वायरस से पैदा हुई स्थिति को देखते हुए स्वास्थ्य सुविधाओं की तैयारी के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि कोरोना वायरस के टेस्ट के लिए पहले सिर्फ पुणे स्थित नैशनल इंस्टिट्यूट ऑफ वायरोलॉजी की प्रयोगशाला का ही विकल्प मौजूद था। लेकिन अब टेस्ट की सुविधा का विस्तार कर 15 और लैब शुरू की गईं हैं और 19 अन्य परीक्षण केन्द्र शुरू किए जाने की प्रक्रिया चल रही है।

राष्ट्रपति भवन में भी नहीं होगा होली मिलन
कोरोना वायरस से पैदा हुए हालात के मद्देनजर राष्ट्रपति भवन में इस बार पारंपरिक होली मिलन समारोह नहीं होगा। राष्ट्रपति भवन ने ट्वीट कर बताया कि दुनिया भर में कोरोना वायरस की वजह से पैदा हुई चिंताओं के मद्देनजर एहतियातन यह कदम उठाया गया है। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी होली मिलन समारोह में शिरकत न करने की घोषणा की है। इतना ही नहीं, बीजेपी ने तो देशभर में कहीं भी होली मिलन समारोह न करने का फैसला किया है।

नोएडा के लिए राहत भरी खबर
गौतम बुद्ध नगर में 15 जनवरी तक विदेश यात्रा करने वाले कम से कम 373 लोगों को निगरानी में रखा गया है। नोएडा में कोरोना वायरस के संदेह में तीन बच्चों समेत जिन छह लोगों के नमूने लिए गए थे, उनकी जांच निगेटिव पाई गई है। हालांकि सभी 6 लोगों को अगले 14 दिन के लिए अपने-अपने घर में अलग थलग रहने को कहा गया है। अधिकारियों ने बताया कि अगर उनमें कोविड-19 के लक्षण नजर आते हैं तो उनके नमूनों की फिर से जांच की जाएगी।

दिल्ली में युद्धस्तर पर तैयारी
कोरोना वायरस से निपटने के लिए केंद्र और दिल्ली सरकार ने बड़ी तैयारी की है। दिल्ली सरकार ने 25 अस्पतालों में आइसोलेशन वॉर्ड तैयार कराया है, जिनमें 19 सरकारी अस्पताल हैं और 6 प्राइवेट अस्पताल हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस नए वायरस से निपटने की तैयारियों के बारे में बताया। उन्होंने लोगों से अपील की कि घबराने की कोई जरूरत नहीं है। केजरीवाल ने बताया कि सरकार के पास पर्याप्त मास्क हैं। एक दिन पहले, दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने भी बताया था कि करीब 3.5 लाख एन95 मास्क का इंजताम कर लिया गया है और कोरोना वायरस के मरीजों का इलाज करने वाले स्टाफ के लिए 8000 सेपेरेशन किट भी तैयार हैं।

दिल्ली के संक्रमित मरीज के संपर्क में आए लोगों की हो रही जांच
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने बुधवार को कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमित दिल्ली के मरीज के संपर्क में आने वाले 88 लोगों की जांच के सभी प्रयास जारी हैं। उन्होंने कहा कि वायरस को फैलने से रोकने के लिए दिल्ली सरकार ने हरसंभव उपाय किए हैं। उन्होंने कहा, ‘दिल्ली में अब तक एक पुष्ट मामला सामने आया है। मरीज को सफदरजंग अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। वह मयूर विहार का रहने वाला है। वह इटली से बुडापेस्ट गया और फिर विएना से दिल्ली पहुंचा। हमने 88 लोगों की पहचान की है जो उसके भारत लौटने के बाद उसके संपर्क में आए थे। उन सभी लोगों की जांच करने के प्रयास किए जा रहे हैं।’ उन्होंने बताया कि विदेशों से आने वाले सभी यात्रियों की हवाईअड्डों पर थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है और किसी भी तरह के लक्षण नजर आने पर उन्हें आरएमएल अस्पताल भेजा जा रहा है। हवाईअड्डों पर अब तक 1,16,579 मरीजों की जांच की गई है।

मास्क और सैनिटाइजर की किल्लत, मनमाने दाम पर बेच रहे
कोरोना वायरस फैलने के बीच राष्ट्रीय राजधानी और आसपास के शहरों में दवा की दुकानों पर हैंड सैनिटाइजर और फेस मास्क की किल्लत देखने को मिल रही है। कई क्षेत्रों में स्थित दवा की दुकानों में सैनिटाइजर और मास्क का भंडार खत्म हो गया है और पिछले कुछ दिन में इन वस्तुओं की मांग में अप्रत्याशित इजाफा के कारण उत्पादक दुकानों में आपूर्ति नहीं कर पा रहे हैं। जिन दुकानों में मास्क उपलब्ध हैं वे दोगुने या मनमाने दाम पर बेच रहे हैं। इस बीच सीबीएसई ने कोरोना वायरस के खतरे के मद्देनजर बोर्ड परीक्षाओं में बैठने वाले छात्रों को परीक्षा केंद्र में मास्क और हैंड सेनेटाइजर ले जाने की इजाजत दे दी है। सीबीएसई के सचिव अनुराग त्रिपाठी ने कहा, ‘छात्र परीक्षा केंद्रों में फेस मास्क और सेनेटाइजर ले जा सकेंगे।’ दसवीं और बारहवीं की बोर्ड परीक्षाएं 15 फरवरी से शुरू हो चुकी हैं।
सफाई पर जोर, छात्रों में जागरूकता फैलाने के निर्देश
कोरोना वायरस से बचाव में साफ-सफाई बहुत अहम है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्ष वर्धन ने लोगों से साफ-सफाई पर अतिरिक्त ध्यान देने की अपील की है। उन्होंने लोगों से भीड़भाड़ वाले स्थानों पर जाने और एक-दूसरे के सीधे संपर्क में आने से बचने की अपील की है। दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने कोरोना वायरस को लेकर अडवाइजरी जारी की है जिसमें ‘क्या करें’, ‘क्या न करें’ के बारे में बताया गया है। यह अडवाइजरी हिन्दी और अंग्रेजी दोनों में है जिसे राजीव चौक, कश्मीरी गेट, केंद्रीय सचिवालय, चांदनी चौक और नई दिल्ली जैसे बड़े स्टेशनों पर डिजिटल स्क्रीन पर भी यह अडवाइजरी दिखाई जाएगी। इसके अलावा केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय ने भी सभी राज्यों के मुख्य सचिवों और सीबीएसई को निर्देश दिया है कि वे छात्रों के बीच कोरोना वायरस को लेकर जागरूकता फैलाएं।

रेलवे अस्पतालों में आइसोलेशन वॉर्ड बनाने के निर्देश
भारतीय रेलवे ने अपने सभी मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को कोरोना वायरस से रोकथाम के लिए जरूरी निर्देश जारी किया है और कहा है कि जोन के हर मंडल और उप मंडलीय अस्पतालों में आइसोलेशन वार्ड होना चाहिए । रेलवे ने अस्पतालों को बुखार से जुड़े मामलों का अन्य रोगियों से अलग सावधानी से इलाज करने का भी निर्देश दिया है।
राजस्थान में इटैलियन टीम के संपर्क में आए लोगों के लिए गए नमूने
राजस्थान में घूमने आए इतालवी पर्यटक दल के संपर्क में राज्य के कुल 215 लोग आए जिनमें से 93 के नमूने लिए गए हैं। इस पर्यटक दल के एक सदस्य में कोरोना वायरस पाजिटिव पाया गया है जबकि उनकी पत्नी भी संदिग्ध रोगी है। महाराष्ट्र में पृथक वार्ड में भर्ती किए गए कम से कम 161 पर्यटक की जांच नकारात्मक पाई गई है और राज्य में अभी फिलहाल 9 लोगों को अलग से रखा गया है। मुम्बई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर मध्य जनवरी से अभी तक 66,977 यात्रियों की जांच की जा चुकी है।

तेलंगाना में पाए गए 2 और मरीज
तेलंगाना के एक सरकारी अस्पताल में 2 और लोगों में कोरोनावायरस (कोविड-19) की पुष्टि हुई है। हालांकि उनके नमूनों को दोबारा से परीक्षण के लिए पुणे के नैशनल इंस्टिट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (एनआईवी) भेजा गया है। तेलंगाना में दो दिन पहले ही कोविड-19 का पहला मामला सामने आया था।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *