Pages Navigation Menu

Breaking News

मोदी मंत्रिमंडल : 43 मंत्रियों की शपथ, 36 नए चेहरे, 12 का इस्तीफा

 

भारत में इस्लाम को कोई खतरा नहीं, लिंचिंग करने वाले हिन्दुत्व के खिलाफ: मोहन भागवत

देश में समान नागरिक संहिता हो; दिल्ली हाईकोर्ट

सच बात—देश की बात

इजरायल ने गाजा पट्टी में हमास प्रमुख के घर पर बरसाए बम

hamass cheifइजराइल और फलीस्तीन के बीच संघर्ष थमने का नाम नहीं ले रहा है। सात दिन से चल रहे अघोषित युद्ध में रविवार को इजरायल ने बड़ा कदम उठाते हुए गाजा पट्टी में हमास प्रमुख के घर पर बम बरसाए। वहीं, इस्लामी समूह ने भी तेल अवीव पर जमकर रॉकेट बरसाए। रातभर भीषण बमबाजी हुई है। स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि इजराइल की ओर से किए गए एयर स्ट्राइक्स में कम से कम 3 फलीस्तीनी मारे गए हैं तो कई घायल हैं।हवाई हमलों की बौछार में रविवार तड़के इजरायल ने येहाया अल-सिनवार के घर पर बम बराए, जोकि 2017 से हमास के राजनीतिक और सैन्य विभाग के प्रमुख हैं। अभी तक यह जानकारी नहीं है कि हमले के वक्त हमास प्रमुख वहां मौजूद थे या नहीं।इजराइय में रॉकेट हमलों को लेकर बजते सायरन के बीच लोग बम शेल्टर्स में भागते नजर आए। तेल अवीव और इसके आसपास में करीब 10 लोग घायल हुए हैं। सोमवार को हिंसा की शुरुआत के बाद से गाजा में कम से कम 148 लोग मारे गए हैं।अमेरिका, संयुक्त राष्ट्र और इजिप्ट के दूत दोनों पड़ोसी देशों में शांति कायम करने के लिए कोशिश में जुटे हैं, लेकिन अभी तक कोई प्रगति नहीं हुई है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में आज इस अशांति को लेकर बैठक होनी है। इजरायल और फलीस्तीन के बीच कई सालों में यह सबसे भीषण संघर्ष है।इजरायल और हमास दोनों ने जोर दिया है कि वे हमले लगातार जारी रखेंगे। एक दिन पहले ही इजरायल ने गाजा में 12 मंजिला एक इमरात को ध्वस्त कर दिया, जिसमें कई मीडिया दफ्तर भी थे। वहीं, इजरायल का कहना है कि इसमें हमास मिलिट्री के दफ्तर थे, इसलिए इसे निशाना बनाया गया और हमले से पहले आम नागरिकों को निकलने के लिए चेतावनी दी गई थी।

आतंकी संगठन हमास पर मीडिया हाउस को शील्ड की तरह उपयोग करने का आरोप

इजराइली डिफेंस फोर्स (IDF) ने शनिवार शाम एयरस्ट्राइक कर उस 12 मंजिला अपार्टमेंट (गाजा टावर) को तबाह कर दिया, जहां अमेरिकी मीडिया एसोसिएट प्रेस (AP) और कतर के मीडिया हाउस अल जजीरा सहित कई समाचार समूहों के ऑफिस थे। हमले से पहले IDF ने एक अनाउंसमेंट किया। इसमें लोगों से अपने घर खाली करने के लिए कहा गया। ठीक एक घंटे बाद इजराइल के फाइटर प्लेन ने बमबारी शुरू कर दी। कुछ ही सेकेंड में 12 मंजिला बिल्डिंग तबाह हो गई।इधर, मीडिया पर हमले का आरोप लगने के बाद IDF ने सफाई दी है। IDF ने कहा है कि जिस गाजा टावर को हमला कर गिराया गया है, उसमें हमास (इजराइल इसे आतंकी संगठन मानता है) की पॉलिटिकल विंग का भी ऑफिस था। इजराइली फोर्स ने हमास पर प्रेस और मीडिया हाउस को शील्ड की तरह उपयोग करने का आरोप लगाया है। IDF ने कहा कि हमने हमले से पहले बिल्डिंग खाली करने का पर्याप्त समय दिया था। इजराइल और हमास के बीच जारी जंग में अब तक 126 लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें 31 बच्चे भी शामिल हैं। दोनों तरफ के हमलों में 950 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं। मरने वालों में 9 इजराइली और बाकी फिलिस्तीनी हैं।

हमास ने 2300 रॉकेट दागे
IDF ने बयान जारी कर बताया कि शुक्रवार की रात 7 बजे से शनिवार सुबह 7 बजे तक गाजा पट्टी से 200 रॉकेट इजराइल पर छोड़े गए। इसमें से 100 से ज्यादा को आयरन डोम ने हवा में मार गिराया। ये इजराइल की आबादी क्षेत्र में गिरने वाले थे। 30 मिसफायर होकर गाजा पर ही गिर गए। सीरिया की तरफ से भी शनिवार को 3 रॉकेट इजराइल पर दागे गए। इसमें से एक मिसफायर होकर सीरिया में ही गिर गया। अब तक हमास 2300 रॉकेट इजराइल की तरफ छोड़ चुका है।

दंगों में मारे गए 9 फिलिस्तीनी
इजराइल और फिलिस्तीन की जंग के बाद अब दोनों देशों में दंगे भी तेजी फैल रहे हैं। फिलिस्तीन के स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार को दंगों में करीब 9 लोगों के मारे जाने की बात कही है। IDF ने अपने बयान में कहा है कि गाजा के बाद अब वेस्ट बैंक की तरफ से इजराइल में पथराव और बम फेंके जाने की घटनाएं शुरू हो गई हैं। IDF के मुताबिक दंगों में 3,000 से ज्यादा फिलिस्तीनी शामिल हैं। दंगों के सबसे ज्यादा मामले यरुशलम, लॉड, हाइफा और सखनिन शहर में सामने आए हैं। हालात इतने खराब हो गए कि लॉड शहर में इमरजेंसी लगानी पड़ी। 1966 के बाद ऐसा पहली बार है जब दंगों की वजह से यहां इमरजेंसी लगाई गई है।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »