Pages Navigation Menu

Breaking News

सीबीआई कोर्ट ;बाबरी विध्वंस पूर्व नियोजित घटना नहीं थी सभी 32 आरोपी बरी

कृष्ण जन्मभूमि विवाद- ईदगाह हटाने की याचिका खारिज

सिनेमा हॉल, मल्टीप्लैक्स, इंटरटेनमेंट पार्क 15 अक्टूबर से खोलने की इजाजत

जनता का पैसा राजीव गांधी फाउंडेशन को क्यों दिया ? जेपी नड्डा

JP-Naddaनई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (BJP) अध्यक्ष जेपी नड्डा ने शनिवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी  से कई सवाल पूछे. उन्होंने राजीव गांधी फाउंडेशन की फंडिंग से लेकर कांग्रेस के चीन की कम्युनिस्ट पार्टी से संबंधों को बारे में पूछा. नड्डा ने कहा कि कोरोना वायरस संकट की आड़ में सोनिया गांधी को उन सवालों से नहीं बचना चाहिए जो देश जानना चाहता है.उन्होंने कहा, ‘पीएम नेशनल रिलीफ फंड जो लोगों की सेवा और उनको राहत पहुंचाने के लिए है, उससे 2005-08 तक राजीव गांधी फाउंडेशन को पैसा क्यों गया? हमारे देश की जनता इसका जवाब जानना चाहती है.’ नड्डा ने कांग्रेस को सवालों के घेरे में खड़ा करते हुए आगे कहा कि यूपीए शासन में कई केंद्रीय मंत्रालयों के अलावा सेल, गेल, एसबीआई, अन्य पर राजीव गांधी फाउंडेशन को पैसा देने के लिए दबाव बनाया गया.बीजेपी अध्यक्ष ने सोनिया गांधी से पूछा कि पीएम नेशनल रिलीफ फंड का ऑडिटर कौन है? उन्होंने कहा कि ठाकुर वैद्यनाथन एंड अय्यर कंपनी ऑडिटर थी. रामेश्वर ठाकुर इसके फाउंडर थे. वो राज्य सभा के सांसद थे और 4 राज्यों के राज्यपाल रहे हैं. कई दशकों तक उसके ऑडिटर रहे.नड्डा ने कांग्रेस और चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के रिश्तों पर सवाल करते हुए कहा कि राजीव गांधी फाउंडेशन ने चाइना एसोसिशएन ऑफ इंटरनेशनली फ्रेंडली कॉनटैक्ट के साथ बहुत करीबी से काम किया है. ऐसे कौन-कौन से MoU थे जो चाइना के साथ साइन किए गए. नड्डा ने कांग्रेस से यह भी पूछा कि चाइनीज एबेंसी से फंड और चीन से कितनी बार पैसा लिया.उन्होंने कहा, ‘देश सुरक्षित है, मजबूत है, सेना देश की रक्षा करने में सक्षम हैं. सोनिया जी परेशान होने की जरूरत नहीं है. गांधी परिवार के किए गए कर्मों के बारे में देश की जनता जानना चाहती है.’

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *