Pages Navigation Menu

Breaking News

सीबीआई कोर्ट ;बाबरी विध्वंस पूर्व नियोजित घटना नहीं थी सभी 32 आरोपी बरी

कृष्ण जन्मभूमि विवाद- ईदगाह हटाने की याचिका खारिज

सिनेमा हॉल, मल्टीप्लैक्स, इंटरटेनमेंट पार्क 15 अक्टूबर से खोलने की इजाजत

जेपी नड्डा बने भाजपा के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष

JP-Nadda-New-BJP-Chief-1280x720जेपी आंदोलन से सुर्खियों में आए जगत प्रकाश नड्डा विश्व की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुन लिए गए हैं। वे अमित शाह की जगह लेंगे। नड्डा अभी तक भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष थे। निर्वाचन अधिकारी और पूर्व केंद्रीय मंत्री राधामोहन सिंह ने नड्डा के नाम की आधिकारिक घोषणा की।स्थापना के बाद पहली बार ऐसा मौका आया है जब भाजपा की कमान हिमाचल का कोई नेता संभालेगा। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के अलावा नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल समेत तकरीबन सभी बड़े नेता दिल्ली में उपस्थित हैं। वहीं, नड्डा के परिवार के सदस्य और रिश्तेदार भी दिल्ली पहुंच गए हैं।जेपी नड्डा 1977 से 1979 तक रांची में रहे। उनके पिता रांची विश्वविद्यालय के कुलपति व पटना विवि के प्रोफेसर रहे। 1975 में जेपी आंदोलन में भाग लेने के बाद जगत प्रकाश नड्डा बिहार में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में शामिल हुए।1977 में छात्र संघ का चुनाव लड़ा और सचिव बने थे। पटना से स्नातक के बाद नड्डा ने हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय से एलएलबी की पढ़ाई की। 1983 में पहली बार हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के छात्र संघ चुनाव में वह विद्यार्थी परिषद के अध्यक्ष चुने गए।भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष की कुर्सी तक पहुंचने वाले जगत प्रकाश नड्डा 1993 में हिमाचल विधानसभा चुनाव लड़ने के बाद भाजपा विधायक दल के नेता बने थे। 1998 में विधानसभा चुनाव जीतने के बाद नड्डा को पार्टी सीएम बनाना चाह रही थी लेकिन उनके पीछे हटने से प्रेम कुमार धूमल का नाम प्रस्तावित किया गया। 2009 में मंत्री पद छोड़कर वह दिल्ली चले गए।

भाजपा नेताओं ने नड्डा की सराहना की
bjp nadda 1भाजपा नेताओं ने सोमवार को जे पी नड्डा की सादगी की प्रशंसा करते हुए विश्वास जताया कि उनके विशाल संगठनात्मक अनुभव का पार्टी को लाभ मिलेगा और उनके नेतृत्व में पार्टी अच्छा काम करेगी। केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि वह हमेशा एक प्रेरक कार्यकर्ता रहे हैं।उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश के नेता ने एक उत्कृष्ट संगठनात्मक नेता के रूप में काम किया, चाहे एबीवीपी हो या भाजपा की युवा इकाई। यही नहीं वह मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान सफल स्वास्थ्य मंत्री भी रहे। उन्होंने विश्वास जताया कि नड्डा शाह के नेतृत्व में पार्टी को मिली बड़ी सफलताओं को आगे बढ़ायेंगे।गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा कि शाह के नेतृत्व में पार्टी संगठन मजबूत स्थिति में है और नड्डा भविष्य में भाजपा के लिए और अधिक सफलता सुनिश्चित करने के लिए काम करेंगे। एक अन्य केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने नड्डा की सादगी के लिए उनकी प्रशंसा की।छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के उपाध्यक्ष रमन सिंह ने भी सादगी के लिए नड्डा की सराहना की और विश्वास जताया कि शाह के नेतृत्व में आया स्वर्ण युग जारीरहेगा।

nadda 2जेपी नड्डा सियासी सफर पर….

  • जेपी नड्डा को हिमाचल प्रदेश के कद्दावर नेताओं में शुमार किया जाता है। ब्राह्मण परिवार से ताल्लुकात रखनेवाले जेपी नड्डा का जन्म 2 दिसंबर 1960 को बिहार की राजधानी पटना में हुआ। उनकी प्रारंभिक शिक्षा और बीए की पढ़ाई पटना से हुई। उन्होंने एलएलबी की डिग्री हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी से हासिल की।
  • जेपी नड्डा के पिता और माता का नाम डॉ. नारायण लाल नड्डा और कृष्णा नड्डा है। नड्डा के पिता नारायण लाल नड्डा पटना यूनिवर्सिटी के कुलपति थे। साल 1992 में जेपी नड्डा ने मल्लिका नड्डा के साथ शादी के बंधन में बंध गए। मल्लिका नड्डा हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी में बतौर प्रोफेसर कार्य करती हैं। मल्लिका नड्डा के पिता जबलपुर से सांसद रह चुके हैं। जेपी नड्डा के दो बच्चे हैं।
  • जेपी नड्डा के राजनीतिक सफर की शुरुआत साल 1975 के जेपी मूवमेंट से हुई थी। देश के सबसे बड़ा आंदोलनों में शुमार इस मूवमेंट का जेपी नड्डा हिस्सा बने थे। इस आंदोलन में भाग लेन के बाद नड्डा बिहार की छात्र शाखा एबीवीपी में शामिल हो गए थे।
  • इसके बाद जेपी नड्डा ने साल 1977 में अपने कॉलेज में छात्र संघ का चुनाव लड़ा था और इस चुनाव में जीत के बाद वे पटना यूनिवर्सिटी के सचिव बने थे।
  • पटना यूनिवर्सिटी से स्नातक होने के बाद नड्डा ने हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी में एलएलबी की पढ़ाई शुरू की।
  • इस दौरान उन्होंने हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सीट में भी छात्र संघ का चुनाव लड़ा और उसमें उन्हें जीत हासिल हुई। बीजेपी ने जेपी नड्डा को साल 1991 में अखिल भारतीय जनता युवा मोर्चा का राष्ट्रीय महासचिव बना दिया।
  • नड्डा ने साल 1993 में हिमाचल प्रदेश की बिलासपुर सीट से चुनाव लड़ा था इस पर उन्होंने शानदार जीत दर्ज की। उसके बाद नड्डा को प्रदेश की विधानसभा में विपक्ष का नेता चुना गया।
  • 1991 में जेपी नड्डा को भारतीय जनता युवा मोर्चा की कमान मिली थी। इसी दौर में अमित शाह युवा मोर्चा के कोषाध्यक्ष बने।
  • नड्डा ने साल 1998 और 2007 के चुनाव में इस सीट से फिर चुनाव लड़ा और जीत दर्ज की। इस दौरान नड्डा को प्रदेश की कैबिनेट में भी जगह दी गई। प्रेम कुमार धूमल की सरकार में उन्हें वन-पर्यावरण, विज्ञान व टेक्नालॉजी विभाग का मंत्री बनाया गया।
  • जेपी नड्डा के बेहतरीन काम को देखते हुए पार्टी ने साल 2012 में उन्हें हिमाचल प्रदेश से राज्यसभा में भेजा। इस समय नड्डा राज्यसभा सांसद के तौर पर काम कर रहे हैं।
  • नड्डा ने कई देशों का दौरा किया है। इनमें अमेरिका, कोस्ट रिका, कतर, कनाडा, ग्रीस, ऑस्ट्रेलिया जैसे देश शामिल है। जेपी नड्डा को विश्व तंबाकू नियंत्रण के लिए विशेष मान्यता पुरस्कार प्राप्त हुआ था।
Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *