Pages Navigation Menu

Breaking News

कोरोना वायरस; अच्‍छी खबर, भारत में ठीक हुए 100 मरीज

1.7 लाख करोड़ का कोरोना पैकेज, वित्त मंत्री की 15 प्रमुख घोषणाएं

भारतीय वैज्ञानिक ने तैयार की कोरोना वायरस टेस्टिंग किट

केजरीवाल समेत सभी छह मंत्रियों ने संभाला पदभार

protestarvindkejriwal_18070351रामलीला मैदान में शपथग्रहण करने के बाद अरविंद केजरीवाल ने सोमवार सुबह दिल्ली के मुख्यमंत्री का पदभार ग्रहण किया। केजरीवाल समेत नई सरकार के सभी छह मंत्रियों ने आज सुबह पदभार संभाला।उन्होंने बताया कि नई सरकार अगले पांच साल तक काम करने को लेकर प्रतिबद्ध है। सबसे पहले बजट की प्रक्रिया शुरू की जाएगी और उसी के आधार पर काम शुरू होंगे। वहीं गोपाल राय ने कहा कि आम आदमी पार्टी 23 फरवरी से 23 मार्च तक देश के सभी राज्यों को लोगों को आप से जोड़ने के लिए अभियान चलाएगी। इस अभियान का मकसद एक करोड़ लोगों को आम आदमी पार्टी से जोड़ना है।रामलीला मैदान में रविवार को केजरीवाल ने तीसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। उनके साथ ही मनीष सिसोदिया, गोपाल राय, इमरान हुसैन, सत्येंद्र जैन, राजेंद्र पाल गौतम और कैलाश गहलोत ने भी मंत्री पद और गोपनीयता की शपथ ली थी।मुख्यमंत्री केजरीवाल ने अपने पास किसी भी विभाग की जिम्मेदारी नहीं रखी है, जबकि दिल्ली जल बोर्ड (DJB) का जिम्मा सत्येंद्र जैन को सौंप दिया गया है. इससे पहले दिल्ली जल बोर्ड की जिम्मेदारी मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के पास थी. गोपाल राय को पर्यावरण मंत्रालय सौंपा गया है, जबकि इससे पहले कैलाश गहलोत के पास यह जिम्मेदारी थी. इसी तरह राजेंद्र पाल गौतम को महिला एवं बाल कल्याण विभाग का जिम्मा मिला है, जबकि केजरीवाल के दूसरे कार्यकाल में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के जिम्मे यह विभाग था. इस 3 अहम बदलाव के अलावा सभी मंत्रियों के पास पुरानी जिम्मेदारी पहले ही जैसी है.गौरतलब है कि दिल्ली की जनता ने तीसरी बार केजरीवाल की आम आदमी पार्टी को प्रचंड बहुमत के साथ सरकार बनाने का मौके दिया है। इस बार तमाम प्रयासों के बावजूद आम आदमी पार्टी भाजपा को मात देने में सफल रही। जनता ने दिल्ली की 70 में से 62 सीटों पर केजरीवाल की आम आदमी पार्टी को चुना, जबकि भाजपा को कुल आठ सीटें ही मिल पाईं। आप के कार्यकाल में दिल्ली की सरकारी स्कूलों में हुए बदलाव और स्वास्थ्य क्षेत्र में हुए विकास को लेकर लोगों में काफी उत्साह है। इस बार आप की जीत के पीछे भी सरकार के कामकाज की सफलता को ही कारण बताया जा रहा है।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *