Pages Navigation Menu

Breaking News

बंगाल में ममता,असम में बीजेपी, तमिलनाडु में डीएमके तो केरल में लेफ्ट की जीत

 

सुप्रीम कोर्ट में समय से पहले गर्मी की छुट्टियां, दिल्ली में एक सप्ताह और बढ़ा लॉकडाउन

एसबीआई ने आवास ऋण पर ब्याज दर 6.70 प्रतिशत की

सच बात—देश की बात

बंगाल की बेटी vs भूमिपुत्र, पोस्टर वॉर

beti bengalकोलकाता: पश्चिम बंगाल में होने वाले आगामी विधान सभा चुनाव (West Bengal Assembly Election) में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (TMC) और भारतीय जनता पार्टी (BJP) आमने-सामने हैं. दोनों पार्टियों के बीच पोस्टर वॉर शुरू हो गया है. ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) द्वारा बीजेपी नेताओं को बाहरी बताए जाने के बाद भाजपा ने नंदीग्राम में बाहरी और स्थानीय का मुद्दा उठाया है.

बीजेपी Vs टीएमसी पोस्टर वॉर

बंगाल में चुनाव प्रचार के लिए तृणमूल कांग्रेस (TMC) का स्लोगन है- ‘बांग्ला निजेर मेकेई चाई’ यानी ‘बंगाल अपनी बेटी चाहता है’. वहीं अब बीजेपी नंदीग्राम (Nandigram) में हमलावर हो गई है और ममता बनर्जी के दौरे से पहले कई पोस्टर लगाए हैं, जिनपर लिखा है- ‘नंदीग्राम-मिदनापुर भूमिपुत्र के चाई, बोहिरगोटो के नॉय’ यानी ‘नंदीग्राम-मिदनापुर भूमिपुत्र को चाहता है, बाहरी को नहीं.’

बीजेपी नेताओं को ममता बनर्जी बता रही हैं बाहरी

बता दें कि पश्चिम बंगाल विधान सभा चुनाव में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) लगातार भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर निशाना साध रही हैं और चुनाव प्रचार कर रहे बीजेपी नेताओं को बाहरी बता रही है. इसके साथ टीएमसी सुप्रीमो का कहना है कि बीजेपी नेता बंगाल की संस्कृति, भाषा और परंपराओं को नहीं समझते हैं.

ममता को बताया बाहरी

नंदीग्राम के भाजपा कार्यकर्ताओं का कहना है, ‘ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) एक बाहरी हैं, क्योंकि उन्होंने 2015 के बाद से निर्वाचन क्षेत्र का दौरा नहीं किया है, जब उन्होंने 2016 के विधान सभा चुनावों के लिए नंदीग्राम से उम्मीदवार के रूप में शुवेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari) के नाम की घोषणा की थी. वह कोलकाता में रहती हैं, इसलिए केवल शुवेंदु अधिकारी को ही भूमिपुत्र कहा जा सकता है.

नंदीग्राम में बीजेपी-टीएमसी पोस्टर वॉर

पश्चिम बंगाल में विधान सभा चुनाव से पहले ममता बनर्जी 6 साल बाद नंदीग्राम आने वाली हैं और इसके बाद पूरे क्षेत्र में टीएमसी ने ‘बांग्ला निजेर मेकेई चाई’ के पोस्टर लगा दिए हैं. वहीं दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी (BJP)  ने भी पोस्टर वॉर शुरू कर दिया है और शुवेंदु अधिकारी को ही भूमिपुत्र को रूप में प्रचार कर रही है.

नंदीग्राम में ममता बनर्जी Vs शुवेंदु अधिकारी

बता दें कि टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने अपनी पारंपरिक सीट भवानीपुर को छोड़कर नंदीग्राम से चुनाव लड़ने का ऐलान किया है. वहीं भारतीय जनता पार्टी ने टीएमसी छोड़कर आए शुवेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari) को नंदीग्राम से चुनावी मैदान में उतारा है.

पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में होगी वोटिंग

बता दें कि पश्चिम बंगाल (West Bengal) की 294 विधान सभा सीटों के लिए 8 चरणों में वोटिंग होगी. राज्य में 27 मार्च, एक अप्रैल, 6 अप्रैल, 10 अप्रैल, 17 अप्रैल, 22 अप्रैल, 26 अप्रैल और 29 अप्रैल को मतदान होंगे, जबकि चुनाव परिणाम 2 मई को आएंगे. पहले और दूसरे चरण में 30-30 सीटों, तीसरे चरण में 31 सीटों, चौथे चरण में 44 सीटों, पांचवें चरण में 45 सीटों, छठे चरण में 43 सीटों, सातवें चरण में 36 सीटों और आठवें चरण में 35 सीटों पर मतदान करवाया जाएगा.

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »