Pages Navigation Menu

Breaking News

 अपने CM को शुक्रिया कहना कि मैं जिंदा लौट पाया; प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

 

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

देश में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर

सच बात—देश की बात

बंगाल में ममता,असम में बीजेपी, तमिलनाडु में डीएमके तो केरल में लेफ्ट की जीत

election leadपांचों राज्यों में वोटों की गिनती के बाद तस्वीर पूरी तरफ साफ हो गई है। पश्चिम बंगाल में बीजेपी को हराकर टीएमसी ने जीत की हैट्रिक लगाई है। तो असम में बीजेपी की दोबारा वापसी हो गई है। वहीं केरल में लेफ्ट ने तो इतिहास ही रच दिया। करीब 40 साल बाद केरल में कोई राजनीतिक दल सत्ता में वापसी करने में सफल रहा है। पी विजयन के नेतृत्व में एलडीएफ ने जबरदस्त वापसी की है। पुडुचेरी में एनडीए गठबंधन जीत रहा है। तो तमिलनाडु में डीएमके ने जीत का परचम लहराया है।

दरअसल 4 राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश चुनावी नतीजों का आना जारी है और कहीं खुशी कहीं गम का माहौल है। एक तरफ बंगाल में सबसे कठिन लड़ाई लड़ रही ममता के हिस्से जीत आई तो तमिलनाडु में सत्ता की हैट्रिक लगाने की उम्मीद कर रही। एआईएडीएमके के हिस्से हार। चुनाव नतीजों के अभी तक तक के रुझान तो यही assembly-electionsकहानी बयां कर रहे हैं । ममता के लिए बंगाल की जंग कितनी मुश्किल थी वो उनके चुनावी भाषणों और कार्यक्रमों से लगाया जा सकता है। तो वहीं बीजेपी ने भी बंगाल में अपने हर सियासी सूरमा को उतार रखा था, लेकिन अंत में बंगाल में दीदी सत्ता में तीसरी बार वापसी करने में सफल दिख रही है। लेकिन तमिलनाडु में ऐसा नहीं हो पाया, जयललिता के निधन के बाद के पहले चुनाव में एआईएडीएमके को वैसे नतीजे नहीं मिले जिसकी उसे उम्मीद थी और इसी के साथ डीएमके के नेता स्टालिन तमिलनाडु में सत्ता हासिल करते दिख रहे हैं ।

बंगाल में बीजेपी हार के बाद थोड़ी निराश जरूर होगी, लेकिन असम में बीजेपी ने सत्ता में वापसी करने में सफलता हासिल की। मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल और मंत्री हिमंता बिस्वा सरमा के नेतृत्व में बीजेपी एक बार फिर सरकार बनती दिख रही है। वहीं केरल में लेफ्ट ने तो इतिहास ही रच दिया। करीब 40 साल बाद केरल में कोई राजनीतिक दल सत्ता में वापसी करने में सफल रहा है। पी विजयन के नेतृत्व में लेफ्ट फ्रंट केरल में जबरदस्त वापसी करती दिख रही है। वहीं केंद्रशासित प्रदेश पुडुचेरी में भी सत्ता परिवर्तन होता दिख रहा है। कुल मिलाकर अगर पूरे नतीजों के देखा जाए तो जहां पूर्व में जनता सत्ता के साथ दिखी तो वहीं दक्षिण में एक तरफ बदलाव की बयार दिखी तो दूसरी तरफ इतिहास बना ।

पीएम मोदी ने ममता को जीत की दी बधाई, ट्वीट कर लिखा- बंगाल के लोगों की सेवा करते रहेंगे

mamata-fbबंगाल में टीएमसी की जीत पर पूरा विपक्ष खुश नजर आया है। टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी को जीत के लिए बधाई देने वालों का तांता लगा रहा। खुद प्रधानमंत्री मोदी ने जीत के लिए ममता बनर्जी को बधाई दी है, उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है कि ममता दीदी को पश्चिम बंगाल में जीत के लिए बधाई। केंद्र लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए और कोरोना महामारी को दूर करने के लिए पश्चिम बंगाल सरकार को हर संभव समर्थन देगा।

विपक्ष के नेता भी दीदी को जीत पर बधाई दे रहे हैं, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट में लिखा है कि ममता दीदी को ऐतिहासिक जीत की बधाई। पश्चिम बंगाल की जनता को भी बधाई । उधर, उत्तर प्रदेश के पूर्व मु्ख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ममता को बधाई दी। उन्होंने लिखा कि प. बंगाल में बीजेपी की नफरत की राजनीति को हराने वाली जागरुक जनता, जुझारू ममता बनर्जी और टीएमसी के समर्पित नेताओं और कार्यकर्ताओं को हार्दिक बधाई।

अखिलेश के साथ ही बीएसपी प्रमुख मायावती ने भी टीएमसी की जीत पर बधाई दी है, उन्होंने लिखा कि पश्चिम बंगाल में टीएमसी द्वारा फिर से बेहतर प्रदर्शन के लिए पार्टी नेताओं और ममता बनर्जी को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं ।

आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने भी टीएमसी की जीत पर ममता को मुबारकबाद दी, उन्होंने ट्वीट में लिखा कि सभी बाधाओं के खिलाफ ऐतिहासिक जीत पर ममता बनर्जी जी आपको हार्दिक बधाई. मैं आपके अच्छे स्वास्थ्य की कामना करता हूं ।

शिवसेना सांसद संजय राउत ने भी टीएमसी को जीत की बधाई दी। वहीं, NCP अध्यक्ष शरद पवार ने तो बधाई देने के साथ ही बड़ा संदेश दिया। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा ममता बनर्जी आपको शानदार जीत पर बधाई. लोगों के कल्याण के लिए और मिलजुल कर वैश्विक महामारी से निपटने की दिशा में काम जारी रखेंगे।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »