Pages Navigation Menu

Breaking News

नड्डा ने किया नई टीम का ऐलान,युवाओं और महिलाओं को मौका

कांग्रेस में बड़ा फेरबदल ,पद से हटाए गए गुलाम नबी

  पाकिस्तान में शिया- सुन्नी टकराव…शिया काफिर हैं लगे नारे

सिर्फ दो उपाय, बच सकती है कोरोना से दो लाख लोगों की जान

coronavirus_1_5710711_835x547-mनई दिल्ली बड़े पैमाने पर मास्क का इस्तेमाल और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना भारत में एक दिसंबर तक कोविड-19 संबंधी दो लाख से अधिक मौतों को कम करने में मददगार सबित हो सकता है। एक मॉडल बेस्ड स्टडी में यह बात सामने आई है। स्टडी में यह भी सामने आया है कि यह बीमारी देश में एक प्रमुख सार्वजनिक स्वास्थ्य खतरा बनी रहेगी।अमेरिका स्थित वॉशिंगटन विश्वविद्यालय के इंस्टीट्यूट फॉर हेल्थ मेट्रिक्स ऐंड इवैल्यूएशन (आईएचएमई) की एक स्टडी में बताया गया कि भारत में कोविड-19 संबंधी मौतों की संख्या में आगे कमी लाने का एक अवसर है। इसके मुताबिक, लोगों को लगातार मास्क का उपयोग करने के साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों और स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी कोविड-19 रोकथाम संबंधी दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन करने की आवश्यकता है।

भारत में अभी नहीं खत्म होगा कोरोना: IHME
आईएचएमई के निदेशक क्रिस्टोफर मुरे ने एक बयान में कहा, ‘भारत की महामारी खत्म होने से अभी बहुत दूर है क्योंकि जनसंख्या का एक बड़ा हिस्सा अभी भी अतिसंवेदनशील है।’ मुरे ने कहा, ‘वास्तव में, हमारा मॉडल आधारित अध्ययन दिखाता है कि संभावित परिणामों की एक विस्तृत श्रृंखला है, जोकि उन कदमों पर निर्भर करता है जो सरकारें और लोग आज, कल और निकट भविष्य में उठाते हैं। वायरस के प्रसार की रोकथाम के लिए मास्क पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना बेहद महत्वपूर्ण है।’
…तो दिसंबर तक हो जाएंगी इतनी मौतें
आईएचएमई के शोधकर्ताओं ने दिल्ली सहित कुछ शहरी क्षेत्रों का उदाहरण देते हुए बताया कि कोरोना के रोकथाम के उपायों में इन्टेन्सिव कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग, बड़े स्तर पर हो रही टेस्टिंग, मास्क-पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग ने कोरोना के प्रसार को कम करने में मदद की है। उनकी मॉडलिंग स्टडी में पाया गया कि, सबसे बेहतर स्थिति में भारत 1 दिसंबर तक कोरोना से करीब 291,145 हो सकती हैं, जो अगस्त के आखिर में 60,000 तक थीं। हालांकि स्टडी के मुताबिक, लॉकडाउन के प्रतिबंधों में ढील और मास्क का गलत उपयोग या उपयोग नहीं किया गया तो भारत में सबसे खराब हालत दिसंबर तक हो सकती है। दिसंबर तक 492,380 कोविड-19 मौतें हो सकती हैं।

भारतीय प्रफेसर भी सहमत
इस अध्ययन के निष्कर्षों पर प्रतिक्रिया देते हुए हरियाणा के अशोका विश्वविद्यालय में भौतिकी एवं जीव विज्ञान विभाग के प्रफेसर गौतम मेनन ने कहा कि यह निश्चित तौर पर सच है कि मास्क पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखना बीमारी को बढ़ने से रोकने में काफी महत्वपूर्ण होगा।

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *