Pages Navigation Menu

Breaking News

यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों को निकालने के लिए ऑपरेशन गंगा

कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक मौत को रोकने में 96.6 फीसदी तक कारगर

हरियाणा: 10 साल पुराने डीजल, पेट्रोल वाहनों पर प्रतिबंध नहीं

सच बात—देश की बात

मोदी मंत्रिमंडल : 43 मंत्रियों की शपथ, 36 नए चेहरे, 12 का इस्तीफा

modi new cabinetप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मंत्रीपरिषद में बुधवार को विस्तार और फेरबदल किया गया। इसमें 36 नए चेहरों को शामिल किया गया है जबकि सात वर्तमान राज्यमंत्रियों को पदोन्नत कर मंत्रिमंडल में शामिल किया गया। आठ नए चेहरों को भी कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति भवन के दरबार हॉल में आयोजित एक समारोह में मंत्रिपरिषद में शामिल किए गए सभी 43 सदस्यों को पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई। इन सभी मंत्रियों के विभागों का बटवारा भी कर दिया गया है। प्रधानमंत्री मोदी के अलावा उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, लोकसभा के अध्यक्ष ओम बिरला, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, प्रमुख रक्षा अध्यक्ष जनरल विपिन रावत सहित कई अन्य गणमान्य व्यक्ति इस अवसर पर मौजूद थे। प्रधानमंत्री के रूप में मई 2019 में 57 मंत्रियों के साथ अपना दूसरा कार्यकाल आरंभ करने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने पहली बार केंद्रीय मंत्रिपरिषद में फेरबदल व विस्तार किया है। नियम के मुताबिक केंद्रीय मंत्रिपरिषद में अधिक से अधिक 81 सदस्‍य हो सकते हैं। मंत्रिमंडल विस्‍तार में उत्तर प्रदेश को बड़ा हिस्सा मिला है। केंद्र सरकार ने इस विस्‍तार में शिक्षित और युवा सदस्यों को तरजीह दी है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद मिनिस्ट्री ऑफ पर्सनल, पब्लिक ग्रीवांस एंड पेंशन, एटॉमिक एनर्जी, डिपार्टमेंट ऑफ स्पेस, पॉलिसी इश्यू मंत्रालयों की निगरानी करेंगे…

36 नए मंत्रियों में से उत्तर प्रदेश से सबसे ज्यादा 7, गुजरात से 3

उत्तर प्रदेश से 7 मंत्री: अनुप्रिया पटेल, पंकज चौधरी, भानुप्रताप सिंह वर्मा, सत्यपाल सिंह बघेल, कौशल किशोर, बीएल वर्मा और अजय कुमार

गुजरात से 3 मंत्री: दर्शना विक्रम जरदोश, देवसिंह चौहान और महेंद्र भाई मुंजापारा

कर्नाटक से 4 मंत्री: राजीव चंद्रशेखर, शोभा करंदलाजे, ए नारायण स्वामी और भगवंत खुबा

महाराष्ट्र से 4 मंत्री: नारायण राणे, कपिल पाटिल, भगवत कृष्ण राव कराड़ और भारती प्रवीण पवार

पश्चिम बंगाल से 4 मंत्री: सुभाष सरकार, शांतनु ठाकुर, जॉन बारला और निशीथ प्रामाणिक

बिहार से 2 मंत्री: पशुपति कुमार पारस और आरसीपी सिंह

मध्यप्रदेश से 2 मंत्री: ज्योतिरादित्य सिंधिया और वीरेंद्र कुमार

ओडिशा से 2 मंत्री: अश्विनी वैष्णव और विश्वेश्वर टुडू

असम से 1 मंत्री: सर्बानंद सोनोवाल

राजस्थान से 1 मंत्री: भूपेंद्र यादव

दिल्ली से 1 मंत्री: मीनाक्षी लेखी

झारखंड से 1 मंत्री: अन्नपूर्णा देवी

उत्तराखंड से 1 मंत्री: अजय भट्ट

मणिपुर से 1 मंत्री: राजकुमार रंजन सिंह

त्रिपुरा से 1 मंत्री: प्रतिमा भौमिक

तमिलनाडु से 1 मंत्री: एल मुरुगन

नोट: ये 36 नए मंत्री हैं। इनके अलावा 7 राज्यमंत्री प्रमोट हुए हैं, जो 6 राज्य- अरुणाचल प्रदेश, बिहार, यूपी, गुजरात, तेलंगाना और हिमाचल प्रदेश से हैं।

 11 महिलाएं, 7 नए मंत्री 7 राज्यों से
मोदी टीम में अब सबसे ज्यादा महिलाएं हैं। उत्तर प्रदेश से अनुप्रिया पटेल, कर्नाटक से शोभा करंदलाजे, गुजरात से दर्शना विक्रम जरदोश, दिल्ली से मीनाक्षी लेखी, झारखंड से अन्नपूर्णा देवी, ओडिशा से प्रतिमा भौमिक, महाराष्ट्र से भारती प्रवीण पवार ने शपथ ली। कैबिनेट में पहले से ही 4 महिला मंत्री हैं। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी, खाद्य मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति और आदिवासी मामलों की राज्य मंत्री रेणुका देवी हैं। नए और पुराने को मिलाकर मंत्रिमंडल में 11 महिलाएं हो गई हैं।

77 मंत्रियों का जातिगत गणित

  • 8 राज्यों से 12 दलित मंत्री
  • 8 राज्यों से 8 आदिवासी मंत्री
  • 15 राज्यों से 27 OBC के मंत्री
  • 5 राज्यों से 5 अल्पसंख्यक मंत्री

कैबिनेट की औसत उम्र 3 साल घटी: विस्तार से पहले मोदी कैबिनेट की औसत उम्र 61 साल थी, जो अब घटकर 58 हो गई है।

युवा टैलेंट: 14 मंत्री 50 साल से कम उम्र के हैं। इनमें से 6 को कैबिनेट का दर्जा दिया गया है।

युवा टैलेंट: 14 मंत्री 50 साल से कम उम्र के हैं। इनमें से 6 को कैबिनेट का दर्जा दिया गया है।

अनुभव: 46 मंत्री ऐसे हैं जो पहले केंद्र में मंत्री पद की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं। 23 मंत्री कम से कम तीन बार सदस्य रहकर कम से कम 10 साल तक संसदीय कामकाज का अनुभव रखते हैं।

राज्यों में सरकार चलाने का अनुभव

  • 4 पूर्व मुख्यमंत्री।
  • 18 ऐसे मंत्री जो राज्यों में मंत्री पद संभाल चुके हैं।
  • 39 पूर्व विधायक हैं जो राज्य में विधायी कामकाज देख चुके हैं।

प्रोफेशनल्स की सरकार

  • 68 मंत्री ग्रैजुएट
  • 13 मंत्री वकील
  • 7 पूर्व ब्यूरोक्रेट
  • 7 मंत्रियों के पास डॉक्टरेट की डिग्री
  • 6 मंत्री डॉक्टर
  • 5 इंजीनियर
  • 3 मंत्री मैनेजमेंट में पोस्ट ग्रैजुएट
  • 12 मंत्रियों का इस्तीफा हुआ
  • 1. कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद- बिहार
    2. सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर- महाराष्ट्र
    3. सामाजिक न्याय मंत्री थावर चंद गहलोत- मध्य प्रदेश
    4. शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक- उत्तराखंड
    5. स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन- दिल्ली
    6. कैमिकल फर्टिलाइजर मिनिस्टर सदानंद गौड़ा- कर्नाटक
    7. श्रम और रोजगार राज्य मंत्री संतोष कुमार गंगवार- उत्तर प्रदेश
    8. पर्यावरण और वन राज्य मंत्री बाबुल सुप्रियो- बंगाल
    9. केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री संजय धोत्रे- महाराष्ट्र
    10. जल शक्ति और सामाजिक न्याय राज्य मंत्री रत्तन लाल कटारिया- हरियाणा
    11. पशुपालन राज्य मंत्री प्रताप चंद सारंगी- ओडिशा
    12. महिला एवं बाल कल्याण राज्य मंत्री देबोश्री चौधरी- बंगाल

बड़ी जिम्‍मेदारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नई कैबिनेट में एक नया मंत्रालय मिनिस्ट्री ऑफ को-ऑपरेशन बनाया है। इस मंत्रालय के जरिए सरकार अपने ‘सहकार से समृद्धि’ के विजन को अमलीजामा पहनाएगी। सूत्रों की मानें तो यह मंत्रालय देश में सहकारी आंदोलन को मजबूत करने के लिए अलग से प्रशासनिक ढांचा उपलब्ध कराएगा। प्रधानमंत्री मोदी ने इस नए मंत्रालय की जिम्‍मेदारी गृह मंत्री अमित शाह को सौंपी है। शाह को यह अतिरिक्‍त जिम्‍मेदारी सौंपी गई है.कोरोना महामारी के संकट के बीच स्वास्थ्य मंत्रालय की जिम्‍मेदारी अब मनसुख मंडाविया संभालेंगे। इससे पहले डॉ. हर्षवर्धन इस मंत्रालय की जिम्‍मेदारी संभाल रहे थे। मांडविया को स्वास्थ्य के साथ रसायन और उर्वरक मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है।

1- राजनाथ सिंह : रक्षा मंत्रालय

2- अमित शाह : गृह मंत्रालय, को-ऑपरेशन मिनस्ट्री

3- नितिन गडकरी : सड़क, परिवहन एवं हाईवे मंत्रालय

4- निर्मला सीतारमण: वित्‍त मंत्रालय, कॉरपोरेट अफेयर्स

5- मनसुख मंडाविया – स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री

6- नरेंद्र सिंह तोमर- कृषि मंत्रालय

7- एस जयशंकर- विदेश मंत्रालय

8- अर्जुन मुंडा- जनजातीय मामले

9- स्मृति ईरानी – महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, स्‍वच्‍छ भारत मिशन

10- पीयूष गोयल – उपभोक्ता, कपड़ा एवं वाणिज्य मंत्रालय

11- धर्मेंद्र प्रधान – शिक्षा एवं कौशल विकास मंत्रालय

12- प्रह्लाद जोशी – संसदीय कार्य मंत्रालय, कोल एंड माइंस भी

13- हरदीप सिंह पुरी – पेट्रोलियम मंत्रालय

14- ज्योतिरादित्य सिंधिया: नागरिक उड्डयन मंत्रालय

15- धर्मेंद्र प्रधान को शिक्षा और कौशल विकास मंत्रालय का जिम्मा मिला

16- पशुपति पारस : खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय

17- किरन रिजिजू : संस्कृति मंत्रालय

18- सर्बानंद सोनोवाल: आयुष मंत्रालय, उत्तर-पूर्व के मामले भी

20- पुरुषोत्तम रूपाला: डेयरी और फिशरीज मंत्रालय

21- अनुराग ठाकुर: खेल और युवक कल्याण मंत्रालय

22- गिरिराज सिंह: ग्रामीण विकास मंत्रालय

23- भूपेंद्र यादव: श्रम मंत्रालय

25- नारायण राणे – सूक्ष्‍म, लघु एवं मध्‍यम उद्योग

26- सर्बानंद सोनोवाल- पोत, शिपिंग और जलमार्ग, आयुष

27- मुख्तार अब्बास नकवी- अल्‍पसंख्‍यक कार्य मंत्रालय

28- गजेंद्र सिंह शेखावत – जलशक्ति मंत्रालय

29- अश्विनी वैष्णव – रेल मंत्री के साथ आईटी और संचार मंत्री होंगे।

राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार

1- राव इंद्रजीत सिंह, योजना, कॉरपोरेट

2- डॉ. जितेंद्र सिंह विज्ञान एंड तकनीकी, पृथ्‍वी विज्ञान

राज्‍य मंत्री के तौर पर इन्‍हें मिली यह जिम्‍मेदारी

1- श्रीपद येसो नायक – पोत, शिपिंग एवं टूरिज्म

2- फग्गन सिंह कुलस्ते – स्टील, ग्रामीण विकास

3- प्रह्लाद सिंह पटेल – जल शक्ति, फूड प्रोसेसिंग

4- अश्विनी कुमार चौबे- उपभोक्‍ता, पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन

5- अर्जुन मेघवाल – संसदीय मामले, संस्‍कृति

6- वीके सिंह – सड़क परिवहन एंड हाईवे, नागरिक विमानन

7- कृष्ण पाल- ऊर्जा, भारी उद्योग

8- दानवे रावसाहब दादाराव- रेलवे, कोल एंड माइंस

9- रामदास अठावले – सामाजिक न्‍याय

10- साध्वी निरंजन ज्योति- उपभोक्‍ता मामले, ग्रामीण विकास

11- संजीव बालियान- मत्‍स्‍य, एनिमल हस्बैंड्री, डेयरी

12- पंकज चौधरी- वित्‍त

13- अनुप्रिया पटेल- वाणिज्‍य एवं उद्योग

14- एसपी सिंह बघेल – लॉ एंड जस्टिस

15- राजीव चंद्रशेखर- स्किल डेवलपमेंट, सूचना तकनीक

16- शोभा करंदलजे- कृषि एवं किसान कल्‍याण

17- भानु प्रताप वर्मा- लघु, मध्‍यम

18- दर्शना जरदोश- कपड़ा, रेलवे

19- वी मुरलीधरन- विदेश, संसदीय कार्य

20- मीनाक्षी लेखी- विदेश, संस्‍कृति

21- सोम प्रकाश- वाणिज्‍य एवं उद्योग

22- रेणुका सिंह- जनजातीय मामले

हरदीप पुरी को कई मंत्रालय 

स्वास्थ्य, रसायन और उर्वरक मंत्रालय को जोड़ा जाएगा। शहरी विकास, आवास मंत्रालय को पेट्रोलियम के साथ जोड़ा जाएगा, हरदीप सिंह पुरी को ये मंत्रालय मिला।

 

 

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »